नवाजुद्दीन सिद्दीकी को नफरत है कंफर्ट जोन वाले किरदार से

2019-01-24T11:05:15Z

नवाजुद्दीन सिद्दीकी जल्द ही बाल ठाकरे के रोल में दिखेंगे।

नवाजुद्दीन सिद्दिकी जल्द ही बाल ठाकरे के रोल में दिखेंगे।
Nawazuddin Siddiqui Talk About his Roles in Bollywood Films
नवाजुद्दीन सिद्दिकी को नफरत है कंफर्ट जोन वाले किरदार से
मुंबई (ब्यूरो): नवाजुद्दीन ने अब तक ऑन-स्क्रीन जितने भी कैरेक्टर्स प्ले किए हैं, उन्हें हमेशा ही अप्लॉड किया गया है. उनकी एक्टिंग कुछ इस तरह की है कि मैक्सिमम कैरेक्टर्स में फिट हो जाती है. रोल को रियलिस्टिक बनाने के लिए वह पूरी तरह से रम जाते हैं. 
जल्द ही वह अपनी एक और फिल्म से लोगों के दिलो दिमाग पर छाने के लिए तैयार हैं जिसमें वह बाला साहेब ठाकरे का रोल प्ले करते नजर आएंगे. 
नहीं चाहिए ऐसे रोल जिनमें कुछ नया न होंअपनी एक्टिंग क्राइटेरिया के बारे में बात करते हुए नवाज कहते हैं कि वो ऐसे रोल्स चूज ही नहीं करते जो उन्हें एक परफॉर्मर के तौर पर चैलेंज न करते हों. रोल्स के सिलेक्शन को डिफाइन करते हुए उन्होंने कहा, 'मुझे चैलेंजिंगरोल्स पसंद हैं. हर फिल्म के साथ मैं कुछ नया ट्राई करना चाहता हूं. मुझे नफरत है उन रोल्स से जो मेरे कंफर्ट जोन में आते हों. मैं एक वर्सेटाइल एक्टर बनना चाहता हूं. अब मैं सिर्फ उन ही रोल्स को खुद के लिए चुनता हूं जो नए, डिफरेंट और चैलेंजिंग हों. मेरा मानना है कि हमें एक ही जिंदगी मिली है तो क्यों न नई चीजों के साथ एक्सपेरिमेंट किया जाए और मैं यही करना चाहता हूं.'
खास था बाल ठाकरे का रोलनवाज जल्द ही बाल ठाकरे के रोल में दिखेंगे। उनका कहना है कि इस आइकॉनिक पॉलिटिकल फिगर का रोल प्ले करना उनके लिए काफी टफ था. इसके बारे में उन्होंने कहा, 'बालासाहेब जी एक आइकॉनिक फिगर थे. मैं ऑनर्ड फील कर रहा हूं कि मुझे उनकी लाइफ पर बेस्ड फिल्म करने का मौका मिला है. वह एक कार्टूनिस्ट थे, राइटर थे और साथ ही एक पॉलिटिकल फिगर भी. उनकी जर्नी से मुझे भी बहुत इंस्पिरेशन मिली है. उनका रोल ऑन-स्क्रीन प्ले करते वक्त मेरे माइंड में बस एक ही चीज थी कि मैं अपने एक्शंस से इस रोल को पूरी तरह से जस्टिफाईकर सकूं.'
नो कंफर्ट जोननवाज से जब टिपिकल हिंदी फिल्म में टिपिकल हीरो वाले रोल्स के बारे में पूछा गया तो उन्होंने शाहरुख खान कीतरह बाहें फैलाते हुए कहा, 'ये सब तो कंफर्ट जोन में आता है, मैं इन्हें नहीं करना चाहूंगा मैं अपनी हर फिल्मके साथ खुद को आगे की तरफ पुश करना चाहता हूं.'

मुंबई (ब्यूरो): नवाजुद्दीन ने अब तक ऑन-स्क्रीन जितने भी कैरेक्टर्स प्ले किए हैं, उन्हें हमेशा ही अप्लॉड किया गया है। उनकी एक्टिंग कुछ इस तरह की है कि मैक्सिमम कैरेक्टर्स में फिट हो जाती है। रोल को रियलिस्टिक बनाने के लिए वह पूरी तरह से रम जाते हैं। जल्द ही वह अपनी एक और फिल्म से लोगों के दिलो दिमाग पर छाने के लिए तैयार हैं जिसमें वह बाला साहेब ठाकरे का रोल प्ले करते नजर आएंगे। 

नहीं चाहिए ऐसे रोल जिनमें कुछ नया न हों

अपनी एक्टिंग क्राइटेरिया के बारे में बात करते हुए नवाजुद्दीन सिद्दीकी कहते हैं कि वो ऐसे रोल्स चूज ही नहीं करते जो उन्हें एक परफॉर्मर के तौर पर चैलेंज न करते हों। रोल्स के सिलेक्शन को डिफाइन करते हुए उन्होंने कहा, 'मुझे चैलेंजिंग रोल्स पसंद हैं। हर फिल्म के साथ मैं कुछ नया ट्राई करना चाहता हूं। मुझे नफरत है उन रोल्स से जो मेरे कंफर्ट जोन में आते हों। मैं एक वर्सेटाइल एक्टर बनना चाहता हूं। अब मैं सिर्फ उन ही रोल्स को खुद के लिए चुनता हूं जो नए, डिफरेंट और चैलेंजिंग हों। मेरा मानना है कि हमें एक ही जिंदगी मिली है तो क्यों न नई चीजों के साथ एक्सपेरिमेंट किया जाए और मैं यही करना चाहता हूं।'

खास था बाल ठाकरे का रोल

नवाज जल्द ही बाल ठाकरे के रोल में दिखेंगे। उनका कहना है कि इस आइकॉनिक पॉलिटिकल फिगर का रोल प्ले करना उनके लिए काफी टफ था। इसके बारे में उन्होंने कहा, 'बालासाहेब जी एक आइकॉनिक फिगर थे. मैं ऑनर्ड फील कर रहा हूं कि मुझे उनकी लाइफ पर बेस्ड फिल्म करने का मौका मिला है। वह एक कार्टूनिस्ट थे, राइटर थे और साथ ही एक पॉलिटिकल फिगर भी। उनकी जर्नी से मुझे भी बहुत इंस्पिरेशन मिली है। उनका रोल ऑन-स्क्रीन प्ले करते वक्त मेरे माइंड में बस एक ही चीज थी कि मैं अपने एक्शंस से इस रोल को पूरी तरह से जस्टिफाई कर सकूं।'

नो कंफर्ट जोन

नवाज से जब टिपिकल हिंदी फिल्म में टिपिकल हीरो वाले रोल्स के बारे में पूछा गया तो उन्होंने शाहरुख खान की तरह बाहें फैलाते हुए कहा, 'ये सब तो कंफर्ट जोन में आता है, मैं इन्हें नहीं करना चाहूंगा मैं अपनी हर फिल्म के साथ खुद को आगे की तरफ पुश करना चाहता हूं।'

नवाजुद्दीन सिद्दीकी से आथिया शेट्टी सीख रहीं ये चीज, साथ दिखेंगी इस फिल्म में

Manikarnika vs Thackeray: बॉक्स ऑफिस पर दिखेगा किसका कमाल, कंगना व नवाजुद्दीन की पिछली फिल्म का रहा ये हाल


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.