कई लोगों से चल रही थी टशन

2018-10-18T06:01:01Z

नीरज वाल्मिकी हत्याकांड में पुलिस को नहीं मिला हत्याराें का कोई सुराग

तफ्तीश में जुटी पुलिस बना रही नए पुराने दुश्मनों की लिस्ट

सीसीटीवी फुटेज में दिख रहे शूटरों की कराई जा रही है पहचान

ALLAHABAD: कैंट स्थित आकाशवाणी के सामने दुर्गा पूजा पंडाल में नीरज वाल्मिकी की हत्या के बाद पुलिस ने परिवार वालों की तहरीर पर अज्ञात बदमाशों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया है। मामले में पुलिस ने कई संदिग्धों को उठाकर देर रात तक पूछताछ की। इसके साथ ही पुलिस नीरज के नए व पुराने दुश्मनों की लिस्ट बना रही है। इसके साथ ही सीसीटीवी फुटेज में दिख रहे शूटरों के पहचान की कोशिश भी की जा रही है।

हॉस्टल में भी थी घुसपैठ

2005 में अपराध जगत में कदम रखने वाला नीजर वाल्मिकी का इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के कई हास्टलों में उठना बैठना था। इसके अलावा उसने पूर्वाचल में घुसपैठ बना रखी थी। पूर्वाचल के कई अपराधियों से उसका सम्पर्क था। यही नहीं पूर्व में एक हमले मारे गए विधायक के जानने वालों के साथ भी नीरज काफी उठना बैठना था। विधायक के कुछ लोग हाल फिलहाल नीरज से मिलने भी आए थे।

प्रापर्टी का चल रहा था विवाद

सूत्रों की मानें तो जेल से छूटने के बाद नीरज वाल्मिकी रंगदारी वसूलने में जुटा था। कई बड़ी प्रापर्टी पर भी उसकी नजर थी। इसे लेकर उसका कई लोगों से विवाद भी चल रहा था। एक पूर्व विधायक का नाम भी दुश्मनों की लिस्ट में शामिल है। नीरज ने पूर्व विधायक के बेटे का कई बार पीछा भी किया था। इसके बाद पूर्व विधायक के बेटे की तरफ से एक ठेकेदार व नीरज के बीच भी विवाद हुआ था।

खोलना चाह रहा था कॉलेज

छोटा राजन गैंग का शार्प शूटर नीरज वाल्मिकी ने पिछले कुछ सालों में ठीक ठाक सम्पत्ति अर्जित कर ली थी। वह जमीन के काम में भी लगा हुआ था। नीरज ने यमुनापार क्षेत्र में कई जगहों पर कॉलेज खोलने के लिए प्रापर्टी भी देख रखी थी। इस बात की जिक्र उसने कई दोस्तों से भी की थी। कुछ प्रापर्टी पर उसकी नजर भी थी। इसे वह किसी बहाने से हथियाना चाह रहा था।

जारी की गई शूटरों की फोटो

हत्याकांड के बाद एसएसपी नितिन तिवारी ने घटना को अंजाम देने वाले शूटरों की फोटो जारी की। इसमें एक शख्स जो पहले नीरज के पास गया और फिर वह हाथ मिलाकर नीरज से बात करते दिख रहा था। उसने रेड टोपी और काली शर्ट व जींस पहन रखी थी। दूसरा शख्स जिसके सर पर बाल कुछ कम हैं। दूसरे शख्स द्वारा भी नीरज पर हमला करते हुए देखा गया। बता दें कि इस वारदात को अंजाम देने चार शूटर पूजा पंडाल में आए थे। क्राइम ब्रांच व पुलिस शूटरों की पहचान के लिए मुखबिरों का सहारा ले रही है।

25 लाख रुपये और नौकरी की मांग

हिस्ट्रीशीटर नीरज वाल्मीकि की हत्या के विरोध में बुधवार को जमकर हंगामा हुआ। परिजनों और मोहल्ले के लोगों ने रात में सर्किट हाउस चौराहे पर जाम लगा दिया। बड़ी संख्या में महिलाओं ने चौराहे पर मानव श्रृंखला बनाकर विरोध जताया। इसके बाद शव को दुर्गा पूजा पंडाल में रख हंगामा शुरू किया। परिजन 25 लाख रुपये मुआवजा और पत्‍‌नी को नौकरी की मांग कर रहे हैं। अफसरों के समझाने पर भी वह नहीं माने, देर रात तक शव रख धरना चलता रहा। महिलाएं सड़क पर बैठ गई। एसपी सिटी बृजेश श्रीवास्तव और सीओ श्रीश चंद्र ने पहुंच भीड़ को शांत कराया। इसके बाद परिजनों ने पूजा पंडाल के अंदर शव रख हंगामा शुरू किया। बाद में काफी समझाने बुझाने के बाद वह माने और लाश को अंतिम संस्कार के लिए ले गए।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.