Netaji Subhash Chandra Bose Jayanti 2021 : राष्ट्रपति ने नेताजी को उनकी 125 वीं जयंती पर श्रद्धांजलि दी, कोलकाता के नेताजी भवन जाएंगे PM मोदी

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को नेताजी सुभाष चंद्र बोस को उनकी 125 वीं जयंती पर श्रद्धांजलि दी। इसके साथ ही पीएम मोदी शनिवार को एल्गिन रोड स्थित कोलकाता के नेताजी भवन जाने वाले हैं।

Updated Date: Sat, 23 Jan 2021 11:09 AM (IST)

नई दिल्ली (एएनआई)। राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने कहा कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस को श्रद्धांजलि के रूप में राष्ट्र ने उनकी 125 वीं जयंती समारोह मनाया है। इस दिन को पराक्रम दिवस ​​के रूप में मनाने के लिए देश उनके असीम साहस और वीरता का सम्मान करने के लिए तैयार है। नेताजी ने अपने अनगिनत अनुयायियों के बीच राष्ट्रवाद की प्रेरणा दी। नेताजी हमारे सबसे प्रिय राष्ट्रीय नायकों में से एक हैं जिन्होंने भारत के स्वतंत्रता संग्राम में असाधारण योगदान दिया। नेताजी की देशभक्ति और बलिदान हमेशा हमें प्रेरित करेगा। स्वतंत्रता की भावना को मजबूत करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

Tributes to Netaji Subhas Chandra Bose as the nation commences his 125th birth anniversary celebrations. It is befitting to celebrate this day as “Parakram Diwas” to honour his boundless courage & valour. Netaji instilled the fervour of nationalism among his countless followers

— President of India (@rashtrapatibhvn) January 23, 2021


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया नेता जी को याद
वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि देश की स्वतंत्रता के लिए राष्ट्र हमेशा बोस के बलिदान को याद रखेगा , पराक्रमदिवस। महान स्वतंत्रता सेनानी और भारत माता के सच्चे सपूत, नेताजी सुभाष चंद्र बोस को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि। देश हमेशा देश की स्वतंत्रता के लिए उनके बलिदान और समर्पण को याद रखेगा। राष्ट्र के प्रति नेताजी की अदम्य भावना और निस्वार्थ सेवा को सम्मान देने और याद रखने के लिए, भारत सरकार ने देश के लोगों, विशेषकर युवाओं को प्रेरित करने के लिए हर साल 23 जनवरी को उनके जन्मदिन को 'पराक्रम दिवस' के रूप में मनाने का फैसला किया है।
कोलकाता में समारोह की अध्यक्षता करेंगे करेंगे पीएम
पीएम मोदी शनिवार को एल्गिन रोड स्थित कोलकाता के नेताजी भवन जाने वाले हैं। प्रधानमंत्री कोलकाता में विक्टोरिया मेमोरियल में 'पराक्रम दिवस' समारोह के उद्घाटन समारोह की अध्यक्षता करेंगे। 23 जनवरी, 1897 को ओडिशा के कटक में वकील जानकीनाथ बोस के घर जन्मे, नेताजी ने स्वतंत्रता आंदोलन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। उन्हें आजाद हिंद फौज की स्थापना के लिए भी जाना जाता है।

Subhash Chandra Bose Jayanti 2021: सुभाष चंद्र बोस की जयंती क्यों और कैसे हैं मनाते, जानें नेताजी के जीवन से जुड़ी ये खास बातें

Posted By: Shweta Mishra
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.