फरार चल रहे बिहार के बाहुबली विधायक अनंत सिंह ने दिल्ली की एक अदालत में किया आत्मसमपर्ण

2019-08-23T19:19:28Z

बिहार के मोकामा से निर्दलीय विधायक अनंत सिंह ने दिल्ली की एक अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया है। इससे पहले विधायक ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर किया था और उसमें कहा था कि वह बिहार पुलिस के सामने नहीं बल्कि सिर्फ अदालत के सामने आत्मसमर्पण करेंगे।

नई दिल्ली (एएनआई)। बिहार के मोकामा से बिहार के मोकामा से निर्दलीय विधायक अनंत सिंह ने शुक्रवार दिल्ली की एक अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया है। सिंह साकेत कोर्ट में मेट्रोपॉलिटन मैजिस्ट्रेट हरुन प्रताप की कोर्टरूम में पेश हुए थे। सिंह पिछले कुछ दिनों से फरार चल रहे थे, उनके खिलाफ न्यू अमेंडेड अनलॉफुल एक्टिविटी (रोकथाम) (यूएपीए) अधिनियम के तहत एक एफआईआर दर्ज किया गया था। इस मामले में उनके आवास पर छापेमारी हुई, जिसमें एक एके -47 और 26 राउंड गोला बारूद बरामद किया गया।इससे पहले, विधायक ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर किया था, जिसमें कहा था कि वह बिहार पुलिस के सामने नहीं बल्कि सिर्फ अदालत के सामने अपना आत्मसमर्पण करेंगे।

Delhi's Saket court has directed Delhi Police to collect all information & case detail against Bihar MLA Anant Singh. Police has been given 30 minutes time. Delhi Police is now questioning Anant Singh. The MLA has today moved a surrender application in the Saket Court https://t.co/aOOMwvNdvz

— ANI (@ANI) August 23, 2019

न्यायपालिका पर है भरोसा
सिंह ने वीडियो में कहा, 'मैं पुलिस के सामने आत्मसमर्पण नहीं करूंगा। मैं अदालत के सामने आत्मसमर्पण करूंगा। मुझे न्यायपालिका पर भरोसा है।' बता दें कि इससे पहले बिहार के कोर्ट में अनंत सिंह के सरेंडर की अफवाह गुरुवार को ही सामने आयी थी, जिसके बाद अनंत सिंह ने बिहार के किसी कोर्ट को छोड़कर दिल्ली के साकेत कोर्ट को चुना और शुक्रवार की दोपहर बाद अचानक कोर्ट पहुंचे और सरेंडर कर दिया। अनंत सिंह को न्यायिक प्रक्रिया पूरी होने के बाद दिल्ली से हवाई जहाज से पटना लाया जाएगा। विधायक अनंत सिंह के कानूनी सलाहकारों ने भी उन्हें जल्द सरेंडर करने की सलाह दी थी, जिसके बाद उन्होंने सरेंडर किया है।
निर्णय लेने में वह सक्षम नहीं
मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट (एमएम) हरुन प्रताप ने शुक्रवार को अनंत सिंह के मामले को मुख्य मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट (सीएमएम) या ड्यूटी एमएम अदालत के पास भेज दिया है। उन्होंने यह केस मुख्य मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट के पास इसलिए रेफर किया है क्योंकि ट्रांजिट रिमांड पर सिंह को बिहार ले जाने का निर्णय लेने में वह सक्षम नहीं हैं। साकेत कोर्ट में कार्यवाही के दौरान, प्रताप ने पुलिस को अनंत सिंह के खिलाफ मामले में सभी जानकारी एकत्र करने का निर्देश दिया था। सिंह को हिरासत में लेने के बाद दिल्ली पुलिस ने उनसे पूछताछ शुरू कर दी है।

 


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.