गंगा लगी पांव पसारने किनारे वाले तलाश रहे सुरक्षित ठिकाने

2019-07-15T11:00:13Z

-तेजी से बढ़ रहा गंगा का जलस्तर डूबने लगीं घाटों की सीढि़यां

-घाटों पर सजने वाली दुकानें हटीं

बारिश शुरू होने के साथ ही गंगा में पानी बढ़ाने लगा है। हर घंटे पांच सेंटीमीटर की रफ्तार से नदी का जलस्तर बढ़ रहा है। घाटों की सीढि़यां पानी में समाने लगी हैं। जल बढ़ाव की रफ्तार यही रही तो कुछ ही दिनों में घाटों का सम्पर्क टूट जाएगा। वहीं नाविकों के साथ घाट किनारे रहने और दुकान सजाने वालों का तनाव बढ़ने लगा है। वो सुरक्षित ठिकाने तलाशने लगे हैं।

नाविक भी अपनी नावों को सुरक्षित बांधने लगे हैं। गंगा में लगे जेट्टी को हटा लिया गया है।

तेजी से बढ़ रहा पानी

बीते 50 घंटों में गंगा के जलस्तर में 02.50 मीटर बढ़ाव दर्ज किया गया है। केंद्रीय जल आयोग के आंकड़ों के मुताबिक शनिवार की सुबह बनारस में गंगा का जलस्तर 61.12 मीटर था। जबकि शुक्रवार की सुबह आठ बजे तक जलस्तर 59.66 मीटर था। इस हिसाब से 24 घटों में काशी में गंगा के जलस्तर में 01.46 मीटर की वृद्धि हुई थी। शनिवार की रात 8 बजे तक जलस्तर 72 सेमी। और भी बढ़ गया। घाटों की सीढि़यां और मंदिर आदि डूबने लगे हैं।

घाट किराने सतर्क हुए लोग

गंगा में तेजी से हो रहे बढ़ाव से घाटों किनारे सतर्कता बरती जा रही है। जेटी को हटाने के साथ नावों को मजबूत रस्सियों से बांधा जा रहा है। नाविकों की मानें तो पानी के बहाव में बड़ी नावों का दबाव छोटी नावों पर होता है। उनके टूटने या उनकी रस्सियों के टूटने से बहने का खतरा रहता है। इसलिए उनको मजबूत रस्सियों में बांधा जाने लगा है।

हटी चौकी, समेटे दुकान

बढ़ते जल स्तर के कारण घाट से जीविका चलाने वाले परेशान होने लगे है। अहिल्याबाई घाट से दशाश्वमेध घाट के बीच बैठने वाले पुरोहितों ने अपनी-अपनी चौकियां हटा हटाकर घाट के ऊपरी हिस्से में सुरक्षित कर लिया है। वहीं घाटों पर दुकान लगाने वाले दुकानदारों ने भी दुकानें हटा ली हैं।

आरती स्थल पर भी पड़ा प्रभाव

जलस्तर की रफ्तार को देखते हुए गंगोत्री सेवा समिति और गंगा सेवा निधि की ओर से गंगा आरती स्थल पर की गई छतरी नुमा साज-सज्जा को हटा लिया गया है। जल बढ़ाव की स्थिति यही रही तो जल्द ही आरती की जगह बदलनी पड़ेगी। वहीं गंगा के जलस्तर के बढ़ने का असर वरुणा पर भी है। वरुणा का जलस्तर करीब दो फीट बढ़ गया है, बारिश के चलते नदी में कचरा और जलकुंभी खूब तैर रही हैं।

एक नजर

61.12

मीटर गंगा का जलस्तर शनिवार को सुबह तक था

60.15

मीटर गंगा का जलस्तर शुक्रवार की शाम तक

59.24

मीटर गंगा का जलस्तर गुरुवार की रात 10 बजे


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.