टीम इंडिया के नए कोच के लिए बीसीसीआई ने रखीं ये शर्तें

2019-07-16T17:02:39Z

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड BCCI ने मेंस क्रिकेट टीम में बड़ी वैकेंसी निकाली है। इसके साथ बोर्ड ने टीम इंडिया का हेड कोच बनने के लिए कुछ शर्ते भी रखी हैं। यहां आप जान सकते हैं कि वह शर्तें क्या हैं

नई दिल्ली (पीटीआई)। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने मंगलवार को मेंस क्रिकेट टीम के हेड कोच और अन्य सहयोगी स्टाफ के लिए आवेदन मांगा है। बीसीसीआई के शर्तों के मुताबिक, भारतीय टीम का हेड कोच वही व्यक्ति बन सकता है, जिसके पास कम से कम दो साल का अंतरराष्ट्रीय अनुभव हो और उसकी उम्र 60 साल से कम होनी चाहिए। बता दें कि हेड कोच, बैटिंग कोच, बॉलिंग कोच, फील्डिंग कोच, फिजियोथेरेपिस्ट, स्ट्रेंथ और कंडीशनिंग कोच की नियुक्ति 5 सितंबर, 2019 से 24 नवंबर, 2021 तक होगी, जबकि एडमिनिस्ट्रेशन मैनेजर की नियुक्ति सिर्फ एक साल की अवधि के लिए होगी। बीसीसीआई 30 जुलाई को शाम 5 बजे तक सभी योग्य उम्मीदवारों का आवेदन स्वीकार करेगा।
सिर्फ तीन मानदंडों को पूरा कर बन सकते हैं कोच

गौरतलब है कि जुलाई 2017 में रवि शास्त्री को हेड कोच के रूप में नियुक्त किए जाने से पहले बीसीसीआई ने नौ मानदंडों पर ध्यान दिया था, जिसमें फोकस और स्पष्टता की कमी थी। हालांकि, इस बार बैटिंग, बॉलिंग, फील्डिंग विभाग और मुख्य कोच सहित सभी कोचिंग भूमिकाओं के लिए केवल तीन ही मानदंड सेट किया गया है।
कोच बनने के लिए यह अनिवार्य
1. हेड कोच वही बन सकता है, जिसके पास एक एसोसिएट सदस्य / ए टीम / आईपीएल साइड के साथ कम से काम दो या तीन साल तक टेस्ट खेलने वाले देश का कोच होने का अनुभव हो।
2. हेड कोच के लिए आवेदक वही हो सकता है, जिसने 30 टेस्ट या 50 एकदिवसीय मैच खेला है।
3. बैटिंग, बॉलिंग और फील्डिंग कोच वही बन सकता है, जिसके पास कम से कम 10 टेस्ट या 25 एकदिवसीय मैच खेलने का अनुभव हो और साथ ही उसकी उम्र 60 साल से कम हो।
ICC World Cup 2019 : जानें सेमीफाइनल में किससे भिड़ेगी टीम इंडिया

45 दिनों के लिए बढ़ाया गया मौजूदा कोच का कॉन्ट्रैक्ट

फिलहाल क्रिकेट टीम के कोचिंग स्टाफ में हेड कोच रवि शास्त्री, बॉलिंग कोच भरत अरुण, बैटिंग कोच संजय बांगर और फील्डिंग कोच आर श्रीधर हैं। इस वक्त इन सभी का कॉन्ट्रैक्ट 45 दिनों के लिए बढ़ा दिया गया है। इसके अलावा 2017 में टीम मैनेजर के रूप में नियुक्त किये गए तमिलनाडु के पूर्व कप्तान सुनील सुब्रमण्यन का कॉन्ट्रैक्ट भी एक्सटेंड कर दिया गया है। बता दें कि ट्रेनर शंकर बसु और फिजियोथेरेपिस्ट पैट्रिक फरहार्ट को छोड़कर बाकी सभी लोग अपने पद के लिए फिर से आवेदन दे सकते हैं। शंकर और पैट्रिक ने वर्ल्डकप में हार के बाद टीम को अलविदा कह दिया है।



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.