लोगों की मनमानी ने एक रुपए के छोटे सिक्के को चलन से कर दिया बाहर

2019-06-18T09:47:42Z

किसी भी करेंसी या सिक्के को चलन में लाने या फिर उसे चलन से बाहर करने का अधिकार केवल आरबीआई को है लेकिन यहां आरबीआई के आदेश के बगैर ही एक रुपए के छोटे सिक्के को चलन से पूरी तरह से बाहर कर दिया गया है

balaji.kesharwani@inext.co.in
PRAYAGRAJ: किसी भी करेंसी या सिक्के को चलन में लाने या फिर उसे चलन से बाहर करने का अधिकार केवल आरबीआई को है. लेकिन यहां आरबीआई के आदेश के बगैर ही एक रुपए के छोटे सिक्के को चलन से पूरी तरह से बाहर कर दिया गया है. ऐसे तमाम लोग हैं, जिनके पास हजारों की तादाद में एक रुपए का छोटा सिक्का है. लेकिन आज हालत यह है कि यह सिक्का इनके लिए बेकार है. वजह, इस सिक्के को न तो कोई दुकानदार ले रहा है, न पेट्रोल पंप न मॉल. यहां तक कि बैंक वाले भी इस छोटे सिक्के को जमा करने से साफ मना कर देते हैं. सोमवार को दैनिक जागरण-आई नेक्स्ट के रियलिटी चेक में जो सामने आया उसके मुताबिक तो छोटा सिक्का इनके लिए 'खोटा' ही हो चुका है.

स्पॉट-1
कहां: विवेकानंद चौराहा स्थित एक मॉल
कब: दोपहर 1.10 बजे

दैनिक जागरण-आई नेक्स्ट रिपोर्टर कस्टमर बनकर विवेकानंद चौराहा स्थित एक मॉल में पहुंचा. रिपोर्टर ने एक हैंकी का पैकेट उठाया. इस पर एमआरपी 109 रुपए प्रिंट थी. रिपोर्टर कैश काउंटर पर पेमेंट करने पहुंचा. वहां 10-10 रुपए के 6 नोट और 50 एक रुपए का छोटा सिक्का दिया. एक रुपए का छोटा सिक्का देखते ही कैशियर ने कहा, ये सिक्का यहां नहीं चलता है. रिपोर्टर ने पूछा आखिर क्यों नहीं चलता है? इस पर कैशियर ने कहा, बस नहीं चलता तो नहीं चलता. कोई कस्टमर इसे नहीं लेता है, तो फिर मैं लेकर क्या करूंगा. रिपोर्टर हैंकी का पैकेट वापस रख कर चला आया.

स्पॉट: 2
कहां: एसबीआई ब्रांच, राजापुर
कब: 2.10

किराना व्यापारी राजापुर निवासी प्रमिल केसरवानी के साथ रिपोर्टर राजापुर स्थित एसबीआई बैंक की ब्रांच पर पहुंचा. किराना व्यापारी ने अपने अकाउंट में 500 रुपए का सिक्का जमा करने के लिए फार्म मांगा. इस पर कैशियर ने कहा कि सिक्का जमा नहीं होगा. इस संबंध में आरबीआई का कोई आदेश आने के बारे में पूछा गया तो कैशियर ने कहा आदेश हम नहीं जानते. जब हमसे कोई सिक्का नहीं ले रहा है तो हम कैसे ले लें? हमारी दो आलमारी सिक्कों से भरी पड़ी है. मैनेजर कहते हैं सिक्का निकालो, लोग नहीं लेते हैं. हम क्या करें?

स्पॉट-3
कहां: म्योहाल चौराहा पेट्रोल पंप
कब: दोपहर 2.30 बजे

रिपोर्टर म्योहाल चौराहा स्थित पेट्रोल टंकी पर पहुंचा. यहां 130 रुपए का पेट्रोल भरने के लिए कहा. पेट्रोल पंप कर्मचारी ने पेट्रोल भर दिया. रिपोर्टर ने 100 रुपए का नोट और 30 रुपए का सिक्का पेट्रोल पंप कर्मचारी को दिया. सिक्का देखने के बाद वह बोला, अरे भाई साहब सिक्का कहां से ले आए. थोड़ा प्रेशर बनाने के बाद बड़ी मुश्किल से सिक्का लेने को राजी हुआ.

स्पॉट 4
कहां: गोविंदपुर, किराना की दुकान
कब: दोपहर 3.30 बजे

रिपोर्टर गोविंदपुर स्थित एक किराना की दुकान पर पहुंचा. यहां उसने 25 रुपए वाला सर्फ का एक पैकेट मांगा. दुकानदार ने सर्फ का पैकेट काउंटर पर रख दिया. रिपोर्टर ने जब एक रुपए के 25 सिक्के निकाल कर काउंटर पर रखे तो उसने लेने से मना कर दिया. बोला हमारे पास भी 1500 रुपए का सिक्का है. कोई नहीं लेता है, क्या करें?

वर्जन
एक रुपए से दस रुपए तक के सिक्के बाजार में चलन में हैं. यदि कोई व्यक्ति कोई भी इन सिक्कों को लेने से इनकार करता है, वह आरबीआई के नियमों की अवहेलना करता है.
-सुमित अग्रवाल सीए

सिक्के या नोट को चलन से बाहर करने का अधिकार केवल आरबीआई को है. आरबीआई ने एक रुपए के छोटे सिक्के चलन से बाहर करने के कोई निर्देश जारी नहीं किए हैं.
- रोहित सहगल सीए

अगर मुद्रा आरबीआई द्वारा जारी है और चलन में है तो कोई इसे लेने से इंकार नहीं कर सकता. कोई व्यक्ति, बैंक अधिकारी या कर्मचारी उसे लेने से मना करता है तो, उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई जा सकती है. आरोपी शख्स के खिलाफ भारतीय मुद्रा अधिनियम व आईपीसी के तहत कार्रवाई होगी. इस बारे में रिजर्व बैंक में भी शिकायत की जा सकती है.
-शैलेंद्र द्विवेदी एडवोकेट हाईकोर्ट


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.