अब आंख की पुतली के मिलान से भी होगा राशन वितरण

2019-06-03T09:45:38Z

अब आंख की पुतली से मिलान कर आपको राशन मुहैया कराया जाएगा

अंगूठे के अलावा आंख की पुतली से मिलान कर भी दिया जाएगा राशन

अंगूठे की मिलान न होने की कंप्लेन पर अपलोड किया गया है सॉफ्टवेयर

- 895 ई-पॉज मशीनों से किया जा रहा वितरण

agra@inext.co.in
AGRA: अब अगर ई-पॉज मशीन से आपका अंगूठा मैच नहीं कर रहा है तो आपको परेशान होने की जरुरत नहीं है. अब आंख की पुतली से मिलान कर आपको राशन मुहैया कराया जाएगा. इसके लिए 895 ई-पॉज मशीनों में ऑख की पुतली से मिलान करने वाला सॉफ्टवेयर अपलोड कराया गया है. बता दें कि मौजूद समय में शहर-देहात में ई-पॉज मशीनों से राशन का वितरण किया जा रहा है. इस नई सुविधा से अंगूठे का मिलान न होने पर जो राशन उपभोक्ता बिना राशन के वंचित रह जाते थे, अब उनको लाभ मिल सकेगा.

कंप्लेन मिलने पर लिया गया फैसला
जिला पूर्ति अधिकारी उमेश चन्द मिश्रा के अनुसार कई इलाकों से बुजुर्ग लोगों के अंगूठा मिलान न होने की कंप्लेन प्राप्त हो रही थी, इसी को देखते हुए ये सॉफ्टवेयर अपलोड कराया गया था. बता दें कि शहर में 477 ई-पॉज मशीनों में अभी ये सॉफ्टवेयर अपलोड नहीं कराया जा सका है.

राशन वितरण में बड़े पैमाने पर हुआ था गड़बड़ घोटाला
जिले में राशन वितरण में बड़े पैमाने पर गड़बड़ घोटाला हुआ था. उस दौरान 53 राशन कोटेदारों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया था. इसमें 15 आधार कार्ड ऐसे लिंक हुए थे, जिनका कोई अता-पता नहीं था. इस दौरान सभी की राशन कोटे की दुकानों के लाइसेंस निरस्त कर दिए गए थे. इसके बाद शहर में भी 25 राशन विकेताओं पर गड़बड़ी में कार्रवाई की गई थी.

कालाबाजारी को रोकने को नहीं हुआ सोशल ऑडिट
जिले में राशन की कालाबाजारी को रोकने के लिए वर्ष में छ: महीने के अन्तराल में सोशल ऑडिट कराया जाना था, लेकिन अभी तक जिले में सोशल ऑडिट का काम पूरा नहीं हो सका है. इस बारे में जिला पूर्ति अधिकारी भी सोशल ऑडिट होने से इंकार करते हैं. बता दें कि ऑडिट सर्वे में 12 बिन्दु निर्धारित किए गए थे. इन 12 बिन्दुओं पर सर्वे कर रिपोर्ट शासन को भेजनी थी. इन 12 बिन्दुओं में राशन कार्ड धारक के बयान, आवंटित राशन का ब्यौरा, वितरण की तारीख, पर्यवेक्षणीय अधिकारी की उपस्थिति, क्षेत्रीय अधिकारी द्वारा राशन कोटेदार और गोदाम का भौतिक सत्यापन कितनी बार किया गया, निरीक्षण रिपोर्ट की स्पष्ट आख्या रिपोर्ट, निरीक्षण रिपोर्ट के दौरान कोई गड़बड़ी मिली, तो क्या कार्रवाई की गयी. इन 12 बिन्दुओं के भौतिक सत्यापन की जिम्मेदारी के लिए सीडीओ को नामित किया गया था.

सोशल ऑडिट सर्वे के लिए इनको किया गया था नामित
जिले में सोशल ऑडिट सर्वे के लिए एडीओ पंचायत,सचिव, बीडीओ, जिला पूर्ति विभाग के अधिकायिों को शामिल किया गया था. पूरे कार्यक्रम को अमलीजामा पहनाने के लिए डीएम की अध्यक्षता में रोस्टर तैयार कर एक कमेटी का गठन कर कार्रवाई की जानी थी. इस दौरान विभागीय अधिकारियों को जिले के सभी राशन कोटेदारों के नाम और गोदामों का विवरण दर्ज कराना था.

जिले में दुकानों की स्थिति

477 नगर क्षेत्र में कुल राशन की दुकान

895 देहात क्षेत्र में कुल राशन की दुकान

1372 कुल राशन की दुकान

राशन की कालाबाजारी को रोकने के लिए सोशल ऑडिट किया जाना था, लेकिन आचार संहिता लागू होने के बाद यह नहीं हो सका. जल्द ही इसको कराया जाएगा. इस बारे में शासन से भी रिपोर्ट मांगी जा रही है. वहीं 895 ई पॉज मशीनों में आंख की पुतली के मिलान का सॉफ्टवेयर अपलोड किया गया है.

उमेश चंद मिश्रा जिला पूर्ति अधिकारी आगरा


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.