स्मिता पाटिल पुण्यतिथि टीवी एंकर से बनीं एक्टर महज 31 की उम्र में इस वजह से चल बसीं

2018-12-13T08:35:23Z

बाॅलीवुड की टैलेंटेड एक्ट्रेस स्मिता पाटिल की आज पुण्यतिथि है। इस मौके पर उन्हें याद करते हुए देखते हैं उनकी कुछ दुर्लभ तस्वीरें और जानते हैं उनके निजी जीवन से जुड़ी कुछ अहम बातें

कानपुर। स्मिता पाटिल बाॅलीवुड की जानी मानी अभिनेत्रियों में से एक रही हैं जिन्होंने 'निशांत', 'भूमिका' और 'मंथन' जैसी बड़ी फिल्मों में अभिनय कर लोगों के दिलों में अपनी जगह बनाई। स्मिता का जन्म 17 अक्टूबर, 1955 को हुआ था जिन्होंने सिर्फ हिंदी ही नहीं मराठी सिनेमा में भी नाम कमाया।
यहां सीखा अभिनय का हुनर

स्मिता बाॅलीवुड की बेहतरीन अभिनेत्रियों में गिनी जाती थीं। मालूम हो कि स्मिता का जन्म पुणे के राजनीतिक घराने में शिवाजी राव गिरधर के घर हुआ था। स्मिता की मां सोशल वर्कर रही हैं। स्मिता की पढा़ई की बात की जाए तो उन्होंने पुणे के किसी स्कूल से अपनी पढ़ाई पूरी कर फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टिट्यूट आॅफ इंडिया से ग्रेजुएशन पूरा किया जहां उन्होंने अभिनय की शिक्षा प्राप्त की।
टीवी एंकर से बनीं एक्टर
स्मिता पाटिल ने फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टिट्यूट आॅफ इंडिया से अभिनय की पढा़ई पूरी कर 70 के दशक में मुंबई दूरदर्शन टीवी चैनल में बतौर न्यूज एंकर काम भी किया। वहां वो टीवी पर न्यूज पढ़ती थीं। हालांकि बाद में उन्हें लगा वो एक्टिंग बढ़िया कर सकती हैं तो उन्होंने फिल्मों में ही जगह बनाने की ठान ली।
ऐसे हुई राज बब्बर से शादी
स्मिता पाटिल ने फिल्मों में अपना करियर बनाने के बाद एक्टर से राजनेता बने राज बब्बर संग शादी कर ली। अब इनके बेटे प्रतीक बब्बर भी फिल्मों में अभिनय करते दिखाई देते ही रहते हैं। मालूम हो स्मिता पाटिल और राज बब्बर कितनी ही फिल्मों में साथ अभिनय कर चुके हैं। वो फिल्में हैं 'वारिस', 'आकर्षण', 'आवाम', 'मिर्च मसाला', 'इंसानियत के दुश्मन' और 'दहेज'।
इतनी फिल्मों में कर चुकी काम
स्मिता पाटिल ने बहुत कम समय के लिए फिल्मों में अभिनय किया। उन्होंने करीब एक दशक तक ही अभिनेत्री बन स्टारडम के मजे लिए। वहीं इनकी फिल्मों की बात की जाए तो इन्होंने इस कम समय में सिर्फ 80 मूवीज में ही अपने बेहतरीन अभिनय की झलक दिखाई। हालांकि प्रतीक के जन्म के बाद किसी बर्थ काॅम्प्लिकेशन की वजह से डिलीवरी के हफ्ते भर में इनका निधन हो गया। इनकी मौत सिर्फ 31 की उम्र में साल 1986 में हुई थी।

संजीव कुमार पुण्य तिथि : परिवार को मिला था ये श्रॉप, निधन के बाद रिलीज हुईं उनकी ये 10 फिल्में खास

कनाडा के इस शहर में राजकपूर के नाम है एक सड़क, जानें शोमैन कभी चीन क्यों नहीं गए



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.