16 मार्च का वो दिन जिसके बाद सचिन कभी नहीं लगा पाए शतक

2019-03-16T10:00:23Z

क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर के लिए 16 मार्च का दिन कभी नहीं भूलने वाला है। साल 2012 में इसी दिन सचिन के बल्ले से आखिरी शतक निकला था। हालांकि उसके बाद वह एक साल और क्रिकेट खेलते रहे मगर किसी भी इंटरनेशनल मैच में सेंचुरी नहीं लगा पाए।

कानपुर। भारतीय क्रिकेट टीम के महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर के नाम ढेरों रिकाॅर्ड दर्ज हैं। वह दुनिया के इकलौते बल्लेबाज हैं जिनके नाम 100 इंटरनेशनल शतक दर्ज हैं। हालांकि सचिन ने जब 100वां शतक लगाया तो उसके बाद मानों उनके बल्ले की चमक खो गई। इसके बाद वह एक साल और क्रिकेट खेले मगर कभी शतक नहीं लगा पाए। इस बात को आज 7 साल हो गए। क्रिकइन्फो पर उपलब्ध जानकारी के मुताबिक, 2012 में टीम इंडिया एशिया कप खेलने बांग्लादेश गई थी। 16 मार्च को टीम इंडिया का सामना बांग्लादेश से था।

2012 में वनड से लिया संन्यास

भारत ने इस मैच में पहले खेलते हुए निर्धारित ओवर में पांच विकेट के नुकसान पर 289 रन बनाए। भारत की तरफ से सबसे ज्यादा 114 रन सचिन तेंदुलकर ने बनाए। यह सचिन का वनडे क्रिकेट में 49वां और इंटरनेशनल क्रिकेट का 100वां शतक था। हालांकि तेंदुलकर इस पारी को यादगार नहीं बना पाए क्योंकि बांग्लादेश ने भारत को 5 विकेट से हरा दिया था। बता दें इस एशिया कप के बाद सचिन ने वनडे क्रिकेट को अलविदा कह दिया था।
एक साल और खेला टेस्ट
2012 में वनडे क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद सचिन तेंदुलकर का टेस्ट क्रिकेट सफर जारी रहा था। सचिन अगले एक साल तक टेस्ट क्रिकेट खेलते रहे मगर फिर कभी शतक नहीं लगा पाए। इस बीच उन्होंने 18 पारियां खेली जिसमें उन्होंने सिर्फ तीन अर्धशतक लगाए। हालांकि वेस्टइंडीज के खिलाफ आखिरी टेस्ट की आखिरी पारी में सचिन ने 74 रन बनाए थे।
सचिन तेंदुलकर का इंटरनेशनल रिकाॅर्ड -

आंकड़ेवनडेटेस्टटी-20मैच4632001रन184261592110शतक49510अर्धशतक96680

कौन सा शाॅट खेलकर सचिन ने वनडे में छुआ था 200 का आंकड़ा, पता है आपको ?


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.