US Mass Shooting ओरनाल्‍डो शूटर के पिता चाहते थे पाकिस्‍तान को हथियार न दे US

2016-06-13T11:58:06Z

अमेरिका के ओरलांडो शहर में शनिवार रात 'गे नाइट क्‍लब' में हुई अंधाधुंध फायरिंग ने पूरे अमेरिका को सकते में ला दिया है। हमलावर उमर मतीन को सुरक्षाकर्मियों ने मार गिराया गया है। लेकिन इसकी जांचपड़ताल करने पर कई सच उजागर हुए। बताते हैं कि उमर मतीन के पिता सिद्दीकी मतीन की अमेरिकी राजनीति में काफी पकड़ थी और उन्‍होंने अमेरिका को कई बार सचेत भी किया। आइए जानें पूरा सच


यह है वो शूटर
शनिवार की रात को अमेरिका के फ्लोरिडा स्थित गे नाइट क्लब में एक बंदूकधारी हमलावर ने अचानक से फायरिंग कर सनसनी मचा दी। इस फायरिंग में करीब 50 लोगों की मौत हो गई और कई लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। इस हमलावर का नाम उमर मतीन था जिसको पुलिस ने मार गिराया। कोई इसे सनकी कहता है तो कोई जेहादी।
कौन है सिद्दीकी मतीन
ओरलांडो शहर में गे कपल्स को गोलियों से भूनने वाले शूटर उमर मतीन के पिता सिद्दीकी मतीन काफी ताकतवर शख्सियत हैं। सिद्दीकी मतीन अफगानिस्तान में रहते हैं और वह एक शो Durand Jirga होस्ट करते हैं। सिद्दीकी का बेटा उमर उनके साथ नहीं रहना चाहता था। इसलिए वह अमेरिका आ गया और यहीं पर काम करने लगा। पिता का कहना है कि वो अपने बेटे की करतूत से शर्मिंदा है। उनको नहीं पता था कि उनका बेटा ऐसा कोई कदम उठाएगा। उन्होंने ये भी कहा कि इस घटना का इस्लाम धर्म से कुछ लेना-देना नहीं है। उन्होंने अपने बेटे के इस कदम के लिए माफी भी मांगी।
अफगानिस्तान राष्ट्रपति के दावेदार
शूटर उमर के पिता सिद्दीकी मतीन अफगानिस्तान राष्ट्रपति की दावेदारी भी कर चुके हैं। हालांकि वह जीत तो नहीं सके लेकिन उन्होंने अपने फेसबुक पेज पर अफगानिस्तान राष्ट्रपति की तरह खुद का दिखाने के लिए कई तस्वीरें पोस्ट की थीं।
अमेरिकी राजनीति में अच्छी पकड़
सिद्दीकी मतीन भले ही अमेरिका में न रहते हो, लेकिन अमेरिकी राजनेताओं से उनके अच्छे संबंध थे। वह अमेरिकी सीनेट और विदेश मंत्रालय में भी जा चुके हैं। इससे साफ अंदाजा लगाया जा सकता है कि वह अमेरिकी राजनीति को भलीभांति समझते और जानते थे।
पाकिस्तान को मत दो हथियार
एक अफगानी होने के नाते सिद्दीकी मतीन ने अमेरिका से पाकिस्तान को हथियार न देने की काफी अपील की थी। सिद्दीकी का कहना था कि, अमेरिका उनके पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान को हथियार सप्लाई करता है और पाकिस्तान उनी हथियारों के बलबूते अफगानिस्तान में कहर बरपाते हैं।
तालिबान को समर्थन
सिद्दीकी मतीन हमेशा से ही तालिबानी समर्थक रहे हैं। इसकी वजह साफ है क्योंकि तालिबान हमेशा से ही पाकिस्तान की नाक में दम रखे है और अफगानिस्तानी नागरिक होने के नाते सिद्दीकी पड़ोसी देश पाकिस्तान की हरकतों से काफी खफा थे।

Interesting News inextlive from Interesting News Desk

 


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.