तीन माह से तीन हजार के अटके हैं पासपोर्ट

2018-11-25T06:00:18Z

-अगस्त से अक्टूबर तक में फंसे

-कर्मचारियों की कमी के कारण नहीं हो पा रही प्रिंटिंग

Bareilly: हफ्ता भर में पासपोर्ट की राह जोह रहे 3675 आवेदक पसोपेश में हैं। तीन माह से उन्हें पासपोर्ट नहीं मिल सका है, इसके चलते उनकी विदेश यात्रा पर संकट के बादल छाये हुए हैं। कइयों की यात्रा तो टल चुकी है। या फिर उन्हें पासपोर्ट न मिलने का खामियाजा भुगतना पड़ चुका है। देरी बस इस बात की है कि पासपोर्ट की बुक अफसर रोजाना प्रिंट नहीं करा पा रहे हैं। इसके लिए कर्मचारियों की कमी का रोना रो रहे हैं।

प्रतिदिन 700 हो रहे हैं आवेदन

बरेली पासपोर्ट कार्यालय के अंतर्गत 13 जपनद आते हैं। पासपोर्ट के लिए प्रतिदिन 650से 700 के आसपास आवेदन आ रहे हैं। सभी को मिलाकर प्रतिमाह 15 हजार से अधिक का आवेदन पासपोर्ट के लिए आता है। कर्मचारियों की कमी के कारण आवेदनों की पड़ताल तो प्रभावित हो ही रही है। पासपोर्ट के प्रिंटिंग में भी समस्याएं आने लगी हैं, जिसके चलते लोगों के पासपोर्ट निर्धारित समय पर नहीं पहुंच पा रहे हैं।

इस कारण से फंसा है पासपोर्ट

पासपोर्ट अधिकारी ने बताया कि लोगों के पासपोर्ट न बनने का मुख्य कारण आवेदन अधिक आना है। पिछले तीन माह में छुट्टी अधिक हुई जिस कारण से जो पहले के आवेदन थे वह रुक गए और करेंट वाले सभी बनने लगे, जो पासपोर्ट फंसे हुए हैं उनकों कर्मचारियों से अधिक समय तक काम कराकर पूरा करने प्रयास हो रहा है।

इस माह में इतने रुके हैं

अगस्त में 1123

सितम्बर में 1219

अक्टूबर में 1234

एक माह है पासपोर्ट मिलने का नियम-

पासपोर्ट आवेदन के बाद से एक माह है। तत्काल में एक सप्ताह के भीतर पासपोर्ट बनाने का नियम है। 21 दिनों के भीतर पुलिस को वेरीफिकेशन करने का प्रावधान है।

आवेदकों में युवाओं की संख्या अधिक-

पासपोर्ट में आवेदन करने के लिए 21 से 30 वर्ष वालों की संख्या अधिक है। पासपोर्ट विभाग की मानें तो जितने आवेदन प्रतिदिन हो रहे हैं उसमें से 20फीसदी आवेदन युवतियों और महिलाओं के भी आ रहे हैं।

45 कर्मचारियों के भरोसे 13 जनपद-

पासपोर्ट के लिए आवेदन तो प्रतिदिन सात सौ के आसपास आ रह हैं। लेकिन इस सभी के पासपोर्ट बनाने के लिए महज 45 कर्मचारी ही है। पासपोर्ट अधिकारी ने बताया कि अन्य स्थानों पर इसकी शाखा खुल जाने के चलते मुख्य आफिस में मात्र तीस कर्मचारी ही कम कर रहे हैं।

प्रिंटर की कमी के कारण भी हो रहा लेट

पासपोर्ट लटकने का मुख्य कारण कर्मचारियों की कमी के साथ प्रिंटर का अभाव भी है। पूरे कार्यालय में महज दो प्रिंटर ही लगे हुए हैं। सूत्रों की माने तो प्रिंटर खराब होने से भी पासपोर्ट लटक जाते हैं।

वर्जन

कर्मचारियों की संख्या कम होने के कारण ऐसा हुआ है। जल्द ही पासपोर्ट की प्रिंटिंग कराकर भेजने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी।

मो.नसीम, पासपोर्ट अधिकारी


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.