पाक अधिकृत कश्मीर में महंगाई से जनता नाराज लोग बोले पीएम इमरान ने हमारी जिंदगी की बद से बदतर

2019-07-16T13:44:13Z

पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर पीओके में लोग महंगाई दर में लगातार वृद्धि और सरकार द्वारा लागू किये गए भारी टैक्सों के कारण मुश्किलों का सामना कर रहे हैं। इस मुद्दे को लेकर वहां के लोग सरकार से काफी नाराज दिख रहे हैं।

मुजफ्फराबाद, पीओके (एएनआई)। पाक अधिकृत कश्मीर में लोग महंगाई दर में लगातार हो रही वृद्धि और पाक सरकार द्वारा लागू किये गए भारी टैक्सों के कारण मुश्किलों का सामना कर रहे हैं। पाकिस्तानी सरकार द्वारा लागू किये गए अनुचित करों और जरुरत से अधिक महगाई दरों को लेकर लोग काफी नाराज हैं। इस क्षेत्र के स्थानीय लोगों ने प्रशासन और प्रधानमंत्री इमरान खान को अपनी इस दुर्दशा के लिए जिम्मेदार ठहराया है। उनका आरोप है कि पाकिस्तान सरकार ने वास्तव में उनके क्षेत्र के कल्याण के लिए कुछ नहीं किया है।
इमरान को पाकिस्तान को बदलना पड़ा भारी

मुजफ्फराबाद में रिक्शा चलाने वाले मुमन मुनेर ने पीओके में मौजूदा वित्तीय संकट पर मीडिया से बात करते हुए कहा, 'इमरान खान ने पाकिस्तान को बदलने के बहाने लोगों की जिंदगी बद से बदतर कर दी है। भारी कर लगाए गए हैं। अब, एक व्यक्ति हर दिन 500 रुपये कैसे कमाएगा, अपने जीवन यापन का प्रबंधन कैसे करेगा? गरीब लोग कैसे जी पाएंगे? अमीर सरकारी अधिकारी इसे सहन कर सकते हैं लेकिन हम नहीं। हम अपनी रोज की कमाई पर निर्भर हैं। हम सिर्फ इतना कहना चाहते हैं कि अगर पाकिस्तान हमारे लिए  अच्छा काम करना चाहता है तो उसे वास्तव में कुछ करना चाहिए और आम लोगों का शोषण बंद करना चाहिए।'
सब कुछ हो गया है महंगा
बता दें कि फ्यूल, भोजन और परिवहन लागत में तेज वृद्धि ने इस इलाके के लोगों के घरेलू बजट को बुरी तरह प्रभावित किया है। इस तरह से लोगों की कमाई पर भी बुरा असर पड़ा है। इसके अलावा पीओके में झुमका बेचने वाले एक व्यक्ति मोहम्मद सलमान ने कहा, 'सब कुछ महंगा हो गया है। इससे पहले, मैं 500 रुपये हर महीने बचाता था लेकिन अब  मेरी मासिक बचत सिर्फ 300 रुपये ही हो पाती है। इमरान खान ने सब कुछ महंगा कर दिया है। कमरे का किराया महंगा है। खाना महंगा हो गया है। यहां रहने का कोई मतलब नहीं है।'
रवींद्रनाथ टैगोर की बात को बताया खलील जिबरान का कोट, पीएम इमरान सोशल मीडिया पर हुए ट्रोल
आसमान छू रही चीनी की कीमत
इस इलाके में रहने वाले एक अन्य स्थानीय व्यक्ति ने कहा, 'महंगाई वहां पहुंच गई है जहां एक आम आदमी का जीवित रहना असंभव है। आप महंगाई का इस बात से अंदाजा लगा सकते हैं कि पेट्रोल की कीमत 90 रुपये से बढ़कर 160 रुपये पहुंच गई है, आटे का एक पैकेट हमें पहले 900 रुपये का पड़ता था, लेकिन अब वह 1,100 रुपये में मिलता है।चीनी की कीमत 60 रुपये प्रति किलो से 120 रुपये प्रति किलो हो गई है।'



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.