वाराणसी : मोबाइल बना जरिया, गली-गली लग रहा सट्टा

Updated Date: Sat, 30 Mar 2019 11:25 AM (IST)

-ऐप के जरिए आईपीएल में हर रोज लग रहा करोड़ों का दांव

-हर उम्र और हर वर्ग के लोगों के लिए बना कमाई का बड़ा जरिए

varanasi@inext.co.in

VARANASI : आईपीएल (इंडियन प्रीमियम लीग) ट्वेंटी-20 क्रिकेट का नशा सिर चढ़कर बोल रहा है. हर उम्र के लोग इसे देखने को बेताब रहते हैं. लेकिन इनमें सभी क्रिकेट प्रेमी नहीं तमाम ऐसे होते हैं जिन्होंने इस खेल को कमाई का जरिया बना लिया है. हर बार की तरह आईपीएल के इस सीजन में जमकर सट्टा लग रहा है. हर रोज बनारस से करोड़ों का व्यारा-न्यारा हो जा रहा है. गली-मोहल्ले में लोग आपसी तालमेल पर सट्टा लग रहा तो वहीं पेशेवर भी नए-नए तरीके इजाद कर काली कमाई के खेल में रमे हुए है. पुलिस इस पर लगाम लगाने की कोशिश में लगी है लेकिन सट्टेबाजी की जड़ें इतनी गहरी हैं कि उसे रोक पाना आसान नहीं है.

 

ऐप लगा रहा सट्टा

सट्टेबाजी के पुरानी तरीकों से रुपये तो लग रही रहे लेकिन इस खेल खिलाड़ी नए-नए तरीके ईजाद कर रहे हैं. इन दिनों मोबाइल ऐप के जरिए खेल पर रुपये लगाने का चलन खूब है. का यूं तो शहर भर में जाल फैला हुआ है लेकिन फिर भी कुछ ऐसे एरिया है जहां तेजी से लाइन (डब्बा) चल रहा है. डब्बा का मतलब कि सट्टेबाज एक ऐसा मोबाइल ऐप इस्तेमाल कर रहे हैं जिस पर टीमों के 'भाव' की पूरी डिटेल होती है इसे 'डब्बा' कहते हैं. इसके जरिए आप घर बैठे ही रुपये लगा सकते है. हालांकि खेलने वाले को एक मुश्त रकम देनी पड़ती है. यदि उसने पांच हजार दिया है तो दस हजार प्वाइंट मिलते हैं. इनका इस्तेमाल रुपयों की जगह होता है. इस ऐप में टॉस जीत-हार, सेशन दर सेशन, चौका-छक्का, प्लेयर के कैच छोड़ने-पकड़ने तक पर भी सट्टा लग रहा है.

 

लाइव क्रिकेट जैसा गेम

मोबाइल में लाइन ऐप खेलने वाले पुलिस की नजर में नहीं आ पाते हैं. हूबहू क्रिकेट गेम जैसा ऐप होने से साइबर एक्सपर्ट भी इसे पकड़ नहीं पा रहे है. यही कारण है कि इस समय महिलाएं और युवतियां भी मोबाइल में यही गेम सट्टेबाजी के तौर पर खेल रही है.


स्टूडेंट्स सट्टेबाजी में लीन

-एजुकेशन हब माने जाने वाले दुर्गाकुंड, कबीरनगर, साकेत नगर, समेत आसपास के इलाके में इंजीनियरिंग, मेडिकल की तैयारी करने वाले स्टूडेंट्स सट्टा लगा रहे हैं

-चौक, रेमश कटरा, बांसफाटक में साड़ी की गद्दी पर इन दिनों सट्टेबाजी की गूंज है

-दालमंडी, बेनिया, नई सड़क जैसे मार्केट में व्यापारी आईपीएल पर जमकर रुपये लगा रहे हैं

-सुंदरपुर, डीएलडब्ल्यू, मंडुवाडीह, महमूरगंज इलाके की पॉश कालोनियों में रहने वाले भी सट्टेबाजी से अछूते नहीं हैं

-गंगा घाटों पर मौजूद होटल, लॉज पेइंग गेस्ट हाउस में सट्टेबाजों की भीड़ लगती है खेल के दौरान

 

इनको मिल रहा भाव

आईपीएल के इस सीजन में नंबर एक पर चेन्नई सुपरकिंग, कोलकाता नाइट राइडर्स और मुंबई इंडियन पर अधिक भाव लग रहा है.

Posted By: Vivek Srivastava
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.