अभी जिंदा है फर्टिलाइजर की आस

2015-08-17T07:01:19Z

- मानबेला में चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम ने दिया था आश्वासन

GORAKHPUR: लाखों हाथों को रोजगार और किसानों को आंखों की चमक देने वाले फर्टिलाइजर की आस अब भी बरकरार है। देश के 69वीं जश्ने आजादी के मौके पर जहां स्टार्ट इंडिया का नारा बुलंद हुआ, वहीं एक बार फिर फर्टिलाइजर की धुंधली पड़ रही तस्वीर पर लगी धूल उड़ती नजर आने लगी। गोरखपुर फर्टिलाइजर कारखाने को चालू कराने की बात पीएम नरेंद्र मोदी ने लालकिले से ज्यों ही दोहराई, गोरखपुराइट्स में खुशी की लहर दौड़ पड़ी। उन्हें उम्मीद है कि जल्द ही सिटी के हजारों बेरोजगारों को जहां काम मिलेगा, वहीं एक बार फिर देश के किसानों के खेत भी हरे-भरे नजर आएंगे।

नेताओं का अहम मुद्दा रहा है फर्टिलाइजर

1990 में गोरखपुर फर्टिलाइजर में एक छोटी सी घटना हुई और यह कारखाना बंद हो गया। इसके बाद देश या प्रदेश में जितने भी चुनाव हुए, उसमें यह अहम मुद्दा बना रहा। जो भी नेता गोरखपुर में जन सभा को संबोधित करने आता, उसकी जुबां पर दूसरे मुद्दों के साथ ही फर्टिलाइजर का नाम जरूर जुड़ा रहा। देश के 6 प्रधानमंत्री भी इसे शुरू कराने का वादा कर चुके हैं और अब इसमें सातवें पीएम नरेंद्र मोदी का नाम भी जुड़ चुका है। सबसे पहले 1990 के बाद हुए चुनाव में वीपी सिंह ने वादा किया था कि फर्टिलाइजर चालू होगा। उसके बाद चंद्रशेखर, नरसिम्हा राव, एचडी देवगौड़ा और अटल बिहारी बाजपेयी के बाद मनमोहन सिंह ने भी गोरखपुर की जनता से इसे शुरू कराने का वादा किया था, लेकिन सभी वादे अब तक वादों ही तक सिमटे हुए हैं।

भाजपा की सरकार पूर्वाचल का लगातार विकास कर रही है। पूर्वाचल में अभी तक भाजपा की सरकार ने तीन बड़ी योजनाएं शुरू की हैं। गोरखपुर फर्टिलाइजर चालू हो जाने से पूर्वाचल से पलायन रूक जाएगा।

योगी आदित्यनाथ, सदर सांसद

Posted By: Inextlive

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.