कांवड़ यात्रा में रहेगी फरार क्रिमिनल्स पर नजर

2019-07-03T11:51:09Z

कावड़ मेले में अपराधियों की धरपकड़ और लॉ एंड ऑर्डर बनाने के लिए पांच राज्यों की पुलिस तैनात रहेगी पुलिस मुख्यालय में हुई उत्तराखंड उत्तरप्रदेश हरियाणा हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के पुलिस अधिकारियों ने इस पर मंथन किया है

- कांवड़ यात्रा वाले पांच राज्यों के पुलिस अधिकारियों की बैठक में लॉ एंड ऑर्डर पर हुआ मंथन

- विभिन्न राज्यों के फरार अपराधियों की लिस्ट भी साझा की

dehradun@inext.co.in
DEHRADUN : कावड़ मेले में अपराधियों की धरपकड़ और लॉ एंड ऑर्डर बनाने के लिए पांच राज्यों की पुलिस तैनात रहेगी. पुलिस मुख्यालय में हुई उत्तराखंड, उत्तरप्रदेश, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के पुलिस अधिकारियों ने इस पर मंथन किया है. इस दौरान अधिकारियों ने विभिन्न राज्यों से फरार चल रहे ईनामी, वांछित अपराधियों की लिस्ट भी साझा की. वजह है कि पुलिस की नजर से बचने के लिए अपराधी इस तरह के आयोजन में शामिल होते हैं. इस मौके पर आईटीबीपी, एसएसबी, रेलवे सुरक्षा के अधिकारी भी मौजूद रहे

ड्रोन कैमरे से रहेगी नजर

हर साल कांवडि़यों की संख्या बढ़ती जा रही है. वर्ष 2011 में 1.5 करोड़ कांवडि़ये आए थे, जबकि 2019 में 3 करोड़ कांवडि़यों ने इस यात्रा में हिस्सा लिया. पुलिस मुख्यालय की ओर से इस बार ड्रोन कैमरे से कांवडि़यों पर नजर रखी जाएगी. इसकी मॉनिटरिंग पुलिस मुख्यालय से भी की जाएगी. कैमरे पर नजर रखने के लिए स्पेशल टीम गठित की जाएगी.

व्हाट्सएप ग्रुप बनेंगे

अपराधियों की हर पल की सूचना साझा करने के लिए व्हाट्सएप ग्रुप बनाए जाएंगे. सोशल मीडिया पर फेक न्यूज प्रसारित करने वालों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी. ग्रुप से थाना चौकी के प्रभारी जुड़े होंगे. जिससे संदिग्ध व्यक्तियों की सूचना अधिकारियों की मिल सके. समय - समय पर थाना इंचार्ज मैसेज के जरिए अधिकारियों को जानकारी देंगे.

सुरक्षा से होकर गुजरेगा जत्था

कांवडि़यों को पुलिस सुरक्षा से होकर गुजरना होगा. सड़क पर लगे बैरियर पर पुलिस टीम तैनात की जाएगी. उद्गम स्थान जाने वाले कांवडि़यों के डीजे साउंड, लाठी-डंडे, नुकीले भाले पर प्रतिबंध लगाया जाएगा. हड़दंग करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. परेशान कावडि़यों की पुलिस मदद करेगी.

मानव तस्करी पर रहेगी नजर

प्रदेश से लगी सीमाओं पर पुलिस और अ‌र्द्धसैनिक बल तैनात किए जाएंगे. जत्थे के साथ आने वाले वाहन का नंबर, उनके लीडर का नाम और उनके साथ आने वाले लोगों का रिकॉर्ड दर्ज किया जाएगा. इसके अलावा नशे के खिलाफ अभियान चलाने के साथ ही ड्रग की सप्लाई करते हुए यदि कोई पकड़ा जाता है, तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी.

इन बिन्दुओं पर भी विचार

- जुगाड़ वाहन, ट्रेन के छत पर यात्रा, मादक पदार्थ का सेवन करने वाले कांवडि़यों को जागरूक किया जाएगा.

- अन्तर्राज्यीय चेक पोस्ट चिडि़यापुर, नारसन, लखनौता, काली नदी, गोवर्धन चेक पोस्ट पर पुलिस बल तैनात किया जाएगा.

- नेपाल और चीन सीमाओं पर तैनात एजेंसियों से आपसी तालमेल के जरिए सूचना आदान-प्रदान की जाएगी.

- जाली नोट यूज करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी

- तिब्बत, नेपाल से होने वाली तस्करी को रोका जाएगा.

------

कांवड़ मेले को लेकर बैठक की गई है. फरार चल रहे ईनामी, कुख्यात अपराधियों पर सख्त नजर रखी जाएगी. हुड़दंगी कांवडि़यों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी.

अनिल रतूड़ी, डीजीपी


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.