'सूद' ने डाली दरार यार ने 'मूल' देकर मरवा दिया

2019-07-21T11:00:59Z

पांच लाख रुपये व उसका ब्याज न देने पर सूदखोर दोस्त ने दी थी सुपारी

मुठभेड़ के बाद सुपारी किलर ऋषभ व सूदखोर शनि गिरफ्तार

PRAYAGRAJ: सूबेदारगंज रेलवे क्वार्टर के बाहर शुक्रवार की सुबह रेलवेकर्मी प्रकाश उर्फ कुन्दन लाल (56) की हत्या सूदखोर ने ठेका देकर कराई थी। सुपारी देने वाले शातिर के अवैध सम्बंध मृतक की पत्‍‌नी से थे। शनिवार भोर धूमनगंज के धुस्सा जंगल में हुई मुठभेड़ के बाद पकड़े गए दो अपराधियों के कुबूलनामे के बाद पुलिस ने यह खुलासा किया है। पुलिस की गोली से घायल ऋषभ उर्फ सांडा कनौजिया को एसआरएन हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। सुपारी देने वाले सूदखोर को पुलिस ने जेल भेज दिया है।

मृतक की पत्‍‌नी से सूदखोर के थे सम्बंध

24 घंटे के अंदर सनसनीखेज वारदात का एसपी सिटी बृजेश श्रीवास्तव ने शनिवार को खुलासा किया। बताया कि मृतक प्रकाश रेलवे में सफाईकर्मी था। उसे सूबेदारगंज रेलवे कॉलोनी में कमरा एलॉट था। प्रकाश और मीट व्यवसायी शनि हेला निवासी राजरूपपुर के बीच गहरी दोस्ती थी। शनि ब्याज पर पैसे चलाने का धंधा करता था। दोस्ती के चलते शनि का प्रकाश के घर बराबर आना जाना था। इसी दौरान वह प्रकाश की पत्‍‌नी अनुराधा के करीब आ गया।

दो साल में दो बेटियाें की शादी

प्रकाश ने दो साल के भीतर बेटी मनीषा (30), बबिता (25) की शादी तय कर दी। बेटी की शादी में उसे पैसों की जरूरत पड़ी तो शनी से पांच लाख रुपये उधार लिये। इसके एवज में वह शनि, प्रकाश से 15000 रुपए ब्याज के रूप में वसूलता था। प्रकाश कर्ज में डूबा तो शनि और मनमानी करने लगा। सूद की रकम न मिलने पर ब्याज पर ब्याज जोड़ने लगा। इसे लेकर प्रकाश व शनि के बीच करीब एक माह पूर्व विवाद हो गया था। इसके बाद शनि को यकीन हो चुका था कि प्रकाश अब उसका पैसा नहीं देगा। इस पर शनि ने प्रकाश के कत्ल की सुपाई 80 हजार रुपए में ऋषभ उर्फ सांडा कनौजिया पुत्र रामबाबू कनौजिया निवासी पॉवर हाउस राजरूपपुर को दे दिया। घटना के बाद पुलिस मृतक की पत्‍‌नी से पूछताछ की तो पैसों का विवाद सामने आ गया।

इस तरह हो गई मुठभेड़

सुपारी लेने के बाद ऋषभ ने जाल बिछाया और शुक्रवार सुबह आवास के बाहर अखबार पढ़ते वक्त उसे गोली मार दी। प्रकाश को पीछे से गोली मारने के बाद ऋषभ अकेले उसी रास्ते से भाग निकला। सनसनीखेज वारदात के खुलासे में जुटी पुलिस ने मुखबिरों का जाल बिछा दिया। शनिवार भोर पुलिस को खबर मिली कि दो शातिर घुस्सा जंगल की ओर बाइक से जा रहे हैं। धूमनगंज इंस्पेक्टर विजय कुमार व क्राइम ब्रांच की टीम ने घेराबंदी की। इस पर दोनों ओर से गोलियां चलीं। जवाबी फायरिंग में एक गोली ऋषभ के पैर में लगी तो वह गिर गया। उसे सुपारी देने वाले सूदखोर शनि हेला को गिरफ्तार कर पुलिस ने जेल भेज दिया गया। इनके कब्जे से एक तमंचा, तीन कारतूस के खोखे व दो जिंदा कारतूस, एक मोबाइल व 1520 रुपये नकद बरामद हुए हैं।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.