700 में पुलिस ने ही रखवाया था कैदी वैन में बम

2019-03-01T06:00:50Z

PATNA : एक साल पहले कैदी वैन में बम ब्लास्ट कर दो कुख्यात बदमाशों ने भागने का प्रयास किया था। हालांकि, इसमें वो लोग सफल नहीं हो पाए थे। इस मामले में एक नया खुलासा हुआ है। कैदी वैन में जो बम रखे गए थे वो पुलिसकर्मियों ने ही रखवाए थे। वो भी महज 700 रुपए के लिए। इसमें एक पुलिसकर्मी को 500 तो वहीं दूसरे को 200 रुपए मिला था। ये सौदा पटना सिटी व्यवहार न्यायालय परिसर में पिछले वर्ष 15 मई को हुआ था। इस बात का खुलासा पुलिस के हत्थे चढ़े अपराधी विक्की कुमार ने अपराध स्वीकारोक्ति बयान में किया है। पेशी के लिए वैन में आने वाले तीन कैदियों ने बेउर जेल लौटने के क्रम में बम विस्फोट कर वैन से फरार होने की योजना बनाई थी। इस घटना की प्राथमिकी बेउर थाना में दर्ज हुई थी। विजिलेंस के विशेष न्यायाधीश मधुकर कुमार ने गुरुवार को विक्की कुमार का नियमित जमानत आवेदन खारिज कर दिया।

कुछ इस तरह रची गई थी साजिश

-कनीय विशेष लोक अभियोजक ने बताया कि जब कैदी वैन बेउर के लिए रवाना हुई तब मोटरसाइकिल पर सवार कैदियों के साथी वैन के पीछे-पीछे चल रहे थे।

-सिपारा पुल के पास कैदी वैन के अन्दर 3 बम फटे।

-बम कमजोर होने के कारण वैन का दरवाजा नहीं टूटा।

-बम फटने के बाद वैन को रोक दिया गया था।

-तब तीनों कैदी के साथी लोग मोटरसाइकिल से उतर कर वैन के गेट को तोड़ने की कोशिश करने लगे।

-ड्राइवर वैन को ले भागने में सफल रहा।

4 बार जमानत आवेदन खारिज होने के बाद बनाया था बम फोड़ भागने का प्लान

-विशेष लोक अभियोजक ने खुलासा करते हुए अदालत को बताया कि सोनू कुमार, सिकंदर यादव और असलम उर्फ कलकला लंबे समय से जेल में बंद थे।

-पटना हाईकोर्ट ने 4 बार सोनू कुमार का नियमित जमानत आवेदन खारिज कर दिया था।

-इस कारण सोनू, सिकंदर और असलम ने मिलकर जेल से निकलने की योजना बनाई।

-इसी योजना के तहत सोनू ने बाहर रहे अपने साथी विक्की कुमार, विक्की तांती, गोलू ठठेरा, अमित, अमरजीत एवं अन्य साथियों को 50 हजार रुपए बम खरीदने के लिये उपलब्ध कराया।

-योजना थी कि तीनों की अदालत में पेशी होने के बाद जब कैदी वैन सुनसान स्थान पर पहुंचेगी तब वैन के गेट को बमों से उड़ा दिया जाएगा और तीनों फरार हो जाएंगे।

-15 मई 2018 को तीनों की पेशी पटना सिटी व्यवहार न्यायालय में हुई।

-शाम में सभी कैदी को बेउर जेल ले जाने के लिये कैदी वैन में बैठाया जाने लगा।

-इसी बीच विक्की कुमार ने सोनू को बमों से भरा झोला को दे दिया।

-सोनू ने ऐनुल को 500 रुपए और विद्यासागर को 200 रुपये देते हुए कहा कि इसमें सामान है जाने दीजिए।

Posted By: Inextlive

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.