सोलर पैनल लगे होते तो अंधेरे में नहीं करना पड़ता इलाज

2019-07-01T06:00:14Z

जमशेदपुर: स्टील सिटी और कोल्हान के सबसे बड़े अस्पताल महात्मा गांधी मेमोरियल अस्पताल में प्रशासनिक अव्यवस्था के चलते दो माह 10 बार से ज्यादा बिजली कट चुकी है, जिसके चलते मेडिकल स्टॉफ मोबाइल और टार्च की रोशनी में इलाज किया जा रहा है। मंगलवार को एएनएम वार्ड का ट्रांसफार्मर फूंकने से गायनी वार्ड में जच्चा और बच्चा साढ़े तीन घंटे तक गर्मी में तड़पते रहे। वहीं, वार्ड में मोबाइल और टार्च की रोशनी में मरीजों का इलाज किया गया। एमजीएम के डिप्टी सुपरिंटेंडेंट डॉ। नकुल चौधरी अस्पताल में लोड अधिक होने के चलते केबल कट जाती है, जिसके लिए अस्पताल प्रशासन ने टेंडर कर लिया है। केबल लगाने के लिए नाप आदि हो चुकी है, जल्द ही मरीजों को इससे निजात मिल जाएगी।

क्या थी योजना

बताते चलें कि 2016 में जिला प्रशासन द्वारा अस्पताल की छत पर पैनल लगाकर मरीजों को सुविधा देने का खाका तैयार किया गया था। लेकिन योजना जमीन पर न उतर पाने के चलते लाइट जाने पर मरीज टार्च की रोशनी से काम चला रहे हैं। लाइट जाने से अस्पताल के इमरजेंसी, एक्सरे और अल्ट्रासाउंड सहित अन्य वार्ड अंधेरे में डूब जाते हैं। इस संबंध में एमजीएम के डिप्टी सुपरिंटेंडेंट डॉ। नकुल चौधरी ने बताया कि अस्पताल में पैनल लगाने के प्रस्ताव की जानकारी तो नहीं है, अस्पताल में बिजली कटने का मुख्य कारण खराब केबल है।

अक्सर गुल हो जाती है बिजली

एमजीएम में दो माह में बिजली गुल होने की यह 10वीं घटना है। मंगलवार को साढ़े तीन घंटे बिजली कटने से मरीज परेशान हो गए। 18 जून को दोपहर तीन बजे अचानक तीन जगह केबल ब‌र्स्ट हुई बिजली अगले दिन बहाल हो सकी। बिजली गुल से कई विभाग के मरीज पूरी रात अंधेरे में रहे। बिजली गुल होने से सर्जरी, हड्डी, ईएनटी और नेत्र विभाग में ऑपरेशन नहीं हो सके। बुधवार को दोपहर एक बजे तक कई विभागों में बिजली बहाल हो सकी। वहीं गुरुवार को पूरे अस्पताल की बिजली पूर्ण रूप से शुरू हो सकी।

दो जेनरेटर में एक खराब

एमजीएम अस्पताल में प्रशासनिक भवन, इमरजेंसी, ब्लड बैंक, अल्ट्रासाउंड, एक्सरे आदि के लिए जेनरेटर की व्यवस्था है, लेकिन अस्पताल में अनियमितता के चलते और एक जेनरेटर खराब होने से अस्पताल को सप्लाई नहीं मिल पा रही है। आये दिन बिजली गुल होने से मरीज आजिज आ चुके हैं। मरीजों का कहना है कि इलाज के लिए रहना ही पड़ता है, एक तो अस्पताल में बेड मुश्किल से मिलता है वहीं आये दिन बिजली कटने से बहुत परेशानी होती है।

वर्जन

अस्पताल में केबल ब‌र्स्ट होने के चलते बिजली की समस्या हो रही है। अस्पताल के कई विभागों में अधिक लोड के चलते केबल ब‌र्स्ट हो जा रही है। नया टेंडर कर लिया गया है, जिसकी नाप का कार्य हो गया है। जल्द ही नया केबल लगने से बिजली की समस्या दूर हो जाएगी।

-डॉ। नकुल प्रसाद चौधरी, डिप्टी सुपरिंटेंडेंट, एमजीएम अस्पताल


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.