पावर प्रोडक्शन पर आफत अंधेरे में राज्य

2019-01-14T06:00:01Z

RANCHI: रांची में बिजली की लगातार लोड शेडिंग जारी है। कई महीने से टीवीएनएल एक यूनिट से उत्पादन ठप है। इसके बाद अब इनलैंड पावर से भी बिजली उत्पादन बंद हो गया है। कम बिजली उत्पादन होने के कारण शहर में लोड शेडिंग जारी है। सरकार के लाख दावों के बावजूद प्रदेश में बिजली आपूर्ति व्यवस्था चरमराई हुई है। पूरे राज्य में बिजली की आंखमिचौली जारी है।

आज भी कटेगी बिजली

राजधानी में बिजली की स्थिति पिछले कई दिनों से खराब होती जा रही है। हर दिन मेंटेनेंस के नाम पर किसी न किसी इलाके की बिजली काटी जा रही है। हर दिन अलग-अलग इलाके में सुबह के 10 बजे से शाम के 5 बजे तक बिजली कट रही है। हालांकि, बिजली विभाग का दावा है कि शहर में आरएपीडीआरपी का काम चल रहा है इसलिए कुछ इलाकों में बिजली काटना मजबूरी है। बिजली को लेकर पहले ही विभाग द्वारा सूचना दी जा रही है।

अभी झेलना होगा पावर कट

शहर के लोगों को तत्काल बिजली कटौती से राहत मिलने वाली नहीं है। आरएपीडीआरपी का काम फरवरी महीने तक चलेगा। पूरे दो महीने तक शहर के अलग-अलग इलाकों में बिजली की लोडशेडिंग चलती रहेगी। विभाग के इंजीनियरों का कहना है कि आरएपीडीआरपी के तहत काम करना जरूरी है। बिना शटडाउन दिए काम नहीं किया जा सकता है। इसलिए मजबूरी में लाइन काटनी पड़ती है। फरवरी तक इस योजना का काम पूरी तरह से खत्म नहीं होता है तो बिजली कटती रहेगी।

हर जिले में पावर कट का सिलसिला जारी

राजधानी सहित सभी जिलों में दो से तीन घंटे बिजली की आपूर्ति बाधित रही। राज्य का अपना उत्पादन सिर्फ 210 मेगावाट ही रहा। टीवीएनएल की एक यूनिट से उत्पादन पिछले कई माह से ठप है। कोयले की कमी के कारण टीवीएनएल की एक यूनिट से उत्पादन नहीं हो पा रहा है। टीवीएनएल की दोनों यूनिट चलाने के लिए हर दिन 7000 टन कोयले की जरूरत है। वहीं रविवार को इनलैंड पावर से भी उत्पादन ठप रहा। पानी की कमी के कारण सिकिदिरी हाइडल से भी बिजली का उत्पादन नहीं हो पा रहा है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.