Pragyan Ojha retires: भारतीय क्रिकेटर प्रज्ञान ओझा ने लिया संन्यास, 2013 में खेला था आखिरी मैच

2020-02-21T12:30:54Z

Pragyan Ojha retires भारतीय स्पिनर प्रज्ञान ओझा ने शुक्रवार को इंटरनेशनल और फर्स्ट क्लॉस क्रिकेट को अलविदा कह दिया है। प्रज्ञान ने भारत के लिए आखिरी टी-20 मैच 10 साल पहले खेला था। तो आखिरी बार 2013 में टेस्ट खेलते नजर आए।

कानपुर। Pragyan Ojha retires भारतीय स्पिनर प्रज्ञान ओझा ने शुक्रवार को अंतरराष्ट्रीय और प्रथम श्रेणी क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की। प्रज्ञान ने क्रिकेट के सभी फॉर्मेट मिलाकर भारतीय टीम के लिए करीब 50 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले। बाएं हाथ के इस स्पिनर ने आखिरी बार 2013 में वानखेड़े स्टेडियम में भारत के लिए टेस्ट मैच खेला था, बता दें वो मैच सचिन तेंदुलकर का भी आखिरी इंटरनेशनल मैच था। ओझा ने अपने रिटायरमेंट की खबर ट्विटर पर दी। 33 वर्षीय इस खिलाड़ी ने एक इमोशनल नोट लिखकर सभी को धन्यवाद देते हुए क्रिकेट को अलविदा कहा।

2008 में किया था डेब्यू

ओझा ने 2008 में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया, जब उन्हें पहली बार बांग्लादेश में त्रिकोणीय श्रृंखला और पाकिस्तान में एशिया कप के लिए बुलाया गया था। अगले वर्ष में, उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ भी अपना टेस्ट डेब्यू किया और रविचंद्रन अश्विन के साथ एक अच्छी साझेदारी की। ओझा भारत के बाएं हाथ के स्पिनर के रूप में सबसे आगे थे, लेकिन वह जल्द ही रवींद्र जडेजा के उभरने के बाद पसंदीदा स्पिनर्स की लिस्ट में नीचे गिरते गए। इधर जडेजा और अश्विन की जोड़ी टेस्ट में कमाल करने लगी, इसी के साथ ओझा के लिए टीम इंडिया के दरवाजे हमेशा के लिए बंद हो गए।

It&यs time I move on to the next phase of my life. The love and support of each and every individual will always remain with me and motivate me all the time 🙏🏼 pic.twitter.com/WoK0WfnCR7

— Pragyan Ojha (@pragyanojha) February 21, 2020

दो साल से नहीं खेले थे रणजी

हैदराबाद के साथ घरेलू सर्किट में अपने करियर की शुरुआत करने के बाद, ओझा ने बंगाल और बिहार के लिए भी खेला। 2018 में, उन्होंने रणजी ट्रॉफी में अपना आखिरी गेम खेला जो बिहार के लिए आया था। उन्होंने अपने फैसले की घोषणा करने के लिए ट्विटर का सहारा लिया। एक पत्र की तस्वीर पोस्ट करते हुए जिसमें उन्होंने अपने क्रिकेट करियर के बारे में बात की थी, ओझा ने लिखा, "यह मेरे जीवन के अगले चरण में आगे बढऩे का समय है। प्रत्येक व्यक्ति का प्यार और समर्थन हमेशा मेरे साथ रहेगा और मुझे हर समय प्रेरित करेगा "।

ऐसा रहा है करियर

स्लो लेफ्ट आर्म स्पिनर रहे प्रज्ञान ओझा ने भारत के लिए 24 टेस्ट खेले जिसमें उन्होंने 113 विकेट चटकाए। पांच बार तो उन्होंने चार विकेट लेने का कारनामा किया वहीं सात बार पांच विकेट भी हासिल किए। हालांकि एक बार टेस्ट में उन्होंने दोनो पारियों में मिलाकर 10 विकेट भी चटकाए। वहीं वनडे की बात करें तो इस गेंदबाज ने 18 मैच खेलकर 21 विकेट निकाले, वहीं टी-20 इंटरनेशनल में ओझा ने सिर्फ 6 मैच खेले जिसमें 10 विकेट अपने नाम किए।

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.