प्रयागराज कुंभ 2019 15 करोड़ से अधिक लोगों ने लगार्इ डुबकी तस्वीरों में देखें अंतिम शाही स्नान पर साधुआें का अजबगजब रूप

2019-02-11T12:21:25Z

प्रयागराज कुंभ में बसंत पंचमी पर अंतिम व तीसरा शाही स्नान पूरा हुआ। इस दाैरान 1 5 करोड़ से अधिक लोगों ने संगम में डुबकी लगार्इ। लोगों में एक अजब उत्साह व जोश था। इस दाैरान यहां पर कुंभ में माैजूद साधुआें के अजबअजब रूप भी देखने को मिलें

कानपुर। प्रयागराज कुंभ में गंगा, यमुना और पौराणिक सरस्वती के संगम पर तीसरा व अंतिम शाही स्नान पूरा हुआ। इस दाैरान करीब डेढ़ करोड़ से अधिक लोगों ने यहां स्नान किया।
शाही स्नान के लिए यहां पर एक दिन पहले से ही लोगों का हुजूम जुटना शुरू हो गया था। बसंत पंचमी के दिन यहां सुबह तड़के से ही लोग संगम में डुबकी लगाने लगे थे।  
इसके अलावा शाही स्नान के अवसर पर सभी अखाड़ों के साधुआें ने भी संगम में डुबकी लगार्इ। इस दाैरान कुंभ में नागा साधुओं ने भी सभी का ध्यान अपनी ओर खींचा।
अखाड़ों का शाही जुलूस अपनी भव्यता बिखरेता हुआ दिखाई दिया। मेला के अंतिम शाही स्नान पर्व क्या नागा संन्यासी, क्या संत-महात्मा क्या उनके अनुयायी। हर कोई बासंतिक रंग में रंगा हुआ था।
हाथों में गेंदे का फूल और संत-महात्माओं के पूरे शरीर को सुशोभित करती फूलों की माला के बीच जब एक-एक कर अखाड़ों ने शाही स्नान के लिए जुलूस निकाला तो हर-हर महादेव, बोल बम-बोल बम, जय सियाराम और जय-जय श्रीराम के गगनभेदी उद्घोष हो रहा था।
संन्यासी परंपरा के अखाड़ों के बाद वैरागी परंपरा के अन्तर्गत आने वाले अखिल भारतीय श्रीपंच निर्मोही अनि अखाड़ा, दिगम्बर अनि व निर्वाणी अनि अखाड़ा का एक के पीछे क्रम के अनुसार जुलूस शाही स्नान के लिए निकला।
वहीं शाही स्नान के समापन के बाद हजारों की संख्या में श्री तेहराभाई त्यागी खालसा अखाड़ों में वैरागियों ने अपराह्न 1 बजे से धूनि रमाना आरंभ कर दिया।
करीब दो घंटे तक चले इस अनुष्ठान में बैरागी अपने चारों ओर उपलों की आग जलाता है, और मुख्य गुरुस्वरूप अग्निकुंड से आग को लेकर अपने आसपास छोटे-छोटे अग्नि पिंड प्रज्वलित करता है।
हर अग्नि पिंड में रखी जाने वाली अग्नि को चिमटे में दबाकर वैरागी अपने ऊपर से घुमाता और फिर पिंड में रखता हैं। इसके साथ ही साधक पैरों पर कपड़ा डालकर गुरुमंत्र का उच्चारण करता है।
प्रयागराज में करीब 3200 हेक्टेयर क्षेत्रफल में फैले मेला क्षेत्र में हर ओर से सिर्फ श्रद्धालु ही श्रद्धालु नजर आ रहे थे। कुंभ में अंतिम शाही स्नान पर हेलीकाॅप्टर से पुष्प वर्षा हुर्इ।
एजेंसी इनपुट सहित।

प्रयागराज कुंभ 2019 : जानें क्यों हार्इकोर्ट ने लगार्इ गोल्डन बाबा के शाही स्नान करने पर रोक

कुंभ मेला 2019: प्रयागराज में कार पार्किंग की पूरी जानकारी, मेला स्थल के नजदीक यहां खड़ी कर सकते हैं गाड़ी


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.