पुलवामा हमले पर पाक पीएम का बयान दोषियों पर करेंगे कार्रवाई लेकिन हुआ हमला तो देंगे जवाब

2019-02-19T15:31:57Z

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा है कि पुलवामा आतंकी हमले को अंजाम देने वाले दोषियों पर वह कार्रवाई करेंगे लेकिन अगर भारत की तरफ से हमला हुआ तो वह भी पीछे नहीं हटेंगे।

इस्लामाबाद (पीटीआई)। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने मंगलवार को कहा है कि वह जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले को अंजाम देने वाले दोषियों के खिलाफ सबूत मिलने पर कड़ी कार्रवाई करेंगे लेकिन अगर भारत ने बदले के रूप हमला करने का सोचा तो वह भी पीछे नहीं हटेंगे। पीएम इमरान खान ने एक वीडियो मैसेज के जरिये भारत के आरोपों पर सफाई दी। खान ने कहा कि उन्हें पाकिस्तान में शांति चाहिए। उन्होंने कहा कि वह समझते हैं कि यह भारत का चुनावी वर्ष है और पाकिस्तान को दोषी ठहराने की बात से जनता उन्हें वोट देगी लेकिन उन्होंने उम्मीद जताई कि दोनों देशों के बीच बेहतर समझ बनेगी और भारत बातचीत के लिए तैयार हो जायेगा।

भारत पेश करे सबूत हम करेंगे कार्रवाई

उन्होंने कहा कि भारत कश्मीर में होने वाली घटना के लिए हर बार पाकिस्तान को जिम्मेदार ठहराता है। खान ने वीडियो मैसेज में कहा, 'अफगान मुद्दे की तरह कश्मीर मुद्दे को भी बातचीत के जरिए हल किया जा सकता है। अगर आपके पास कोई भी ऐसा सबूत है, जिसमें साफ होता है कि इस हमले में पाकिस्तानी नागरिक का हाथ है तो मैं आपको गारंटी देता हूं कि हम कार्रवाई करेंगे, इसलिए नहीं कि हम दबाव में हैं, बल्कि इसलिए कि वे पाकिस्तान के दुश्मन के रूप में काम कर रहे हैं। मैं भारतीय मीडिया पर यह सुन और देख रहा हूं कि वहां के राजनेता पाकिस्तान से बदला लेने की बात कर रहे हैं। अगर भारत पाकिस्तान पर हमला करेगा, तो हम भी चुप नहीं बैठेंगे। युद्ध शुरू करना हमारे हाथ में है, यह आसान है लेकिन उसे समाप्त करना हमारे हाथ में नहीं होता, क्या होगा किसी को नहीं पता होता है।'

भारत के साथ हर मुद्दों पर बातचीत के लिए तैयार

इसके साथ खान ने कहा कि पाकिस्तान आतंकवाद पर भी भारत के साथ बातचीत के लिए तैयार है। उन्होंने कहा, 'मैं यह स्पष्ट रूप से कह रहा हूं कि यह एक नया पाकिस्तान है और यहां एक नई मानसिकता है। भारत, पाकिस्तान के साथ बातचीत में आतंकवाद के मुद्दे को भी शामिल करने की बात करता है। आतंकवाद इस क्षेत्र के लिए एक बड़ा मुद्दा है और हम इसे खत्म करना चाहते हैं। अगर आतंक फैलाने के लिए कोई पाकिस्तान की मिट्टी का उपयोग कर रहा है तो यह हमारे साथ दुश्मनी है। यह हमारे हितों के खिलाफ है।
व्यस्त होने के चलते नहीं दे पाए जवाब
उन्होंने कहा कि वह भारत के आरोपों का जवाब नहीं दे पाए क्योंकि वह सऊदी क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान की यात्रा को लेकर काफी व्यस्त थे। पीएम इमरान ने कहा, 'भारत ने पाकिस्तान पर बिना किसी सबूत के यह आरोप लगाया है लेकिन उसे यह समझना चाहिए कि इस हमले से हमें क्या फायदा होगा। हम पिछले 15 सालों से आतंकवाद के खिलाफ लड़ रहे हैं। पाकिस्तान को ऐसी घटनाओं से कैसे फायदा होगा?' इसके बाद कश्मीरियों को लेकर उन्होंने कहा कि कश्मीरियों को अब मौत का डर नहीं है। इसका एक कारण होना चाहिए। क्या इस पर भारत में चर्चा नहीं होनी चाहिए? इसके बाद इमरान ने भारत से सवाल करते हुए कहा कि क्या भारत, सेना के माध्यम से मुद्दे को हल करना चाहता है तो मैं बता दूं कि यह सफल उपाय नहीं है।

पुलवामा टेरर अटैक : जम्मू-कश्मीर में इन 5 अलगाववादी नेताओं की सुरक्षा छिनी

पुलवामा टेरर अटैक : शहीद पंकज त्रिपाठी के घर पहुंचे सीएम योगी बोले, आतंकियों की उलटी गिनती शुरू


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.