स्टूडेंट्स के फ्यूचर पर आंदोलन का पहरा

2019-11-08T06:01:13Z

- डिग्री कॉलेजेज की एग्जाम फीस तीन गुना बढ़ाने पर विरोध, स्टूडेंट्स ने ठप कराए इंटरनल एग्जाम

- दून के चारों डिग्री कॉलेजेज में स्टूडेंट्स मंडे से कर रहे रोज तालाबंदी

- आंदोलन के चलते 5 हजार से ज्यादा स्टूडेंट्स के फ्यूचर पर सवाल

देहरादून,

गढ़वाल सेंट्रल यूनिवर्सिटी द्वारा एग्जाम फीस तीन गुना बढ़ाये जाने के विरोध में स्टूडेंट्स ने डीएवी, डीबीएस, एसजीआरआर और एमकेपी कॉलेजों में तालाबंदी कर इंटरनल एग्जाम ठप करा दिए। ऐसे में इन चारों डिग्री कॉलेजेज के 5 हजार से ज्यादा स्टूडेंट्स का भविष्य दांव पर लग गया है।

कॉलेज बंद कराया, यूनिवर्सिटी ऑफिस पर ताला

गढ़वाल सेंट्रल यूनिवर्सिटी द्वारा एग्जाम फीस 750 से बढ़ाकर 2150 रुपए करने को लेकर दून में संबंधित कॉलेजों के स्टूडेंट्स ने आंदोलन तेज कर दिया है। छात्र संघर्ष समिति के बैनर तले थर्सडे को स्टूडेंट्स ने पहले कॉलेज बंद कराए इसके बाद बिंदाल पुल स्थित यूनिवर्सिटी के ऑफिस पर ताला जड़ दिया साथ ही इंटरनल एग्जाम न होने देने की चेतावनी दी है। इन दिनों डिग्री कॉलेजेज के इंटरनल एग्जाम हो रहे हैं, लेकिन बीते मंडे से स्टूडेंट्स कॉलेज में रोज तालाबंदी कर रहे हैं, इसके चलते इंटरनल एग्जाम ठप हो गए हैं। एसजीआरआर पीजी कॉलेज के प्रिंसिपल बीए बौड़ाई ने बताया कि स्टूडेंट लीडर्स इंटरनल एग्जाम नहीं होने दे रहे हैं। इसको लेकर स्टूडेंट् लीडर्स से लिखित में मांगा गया है कि वे इंटरनल एग्जाम नहीं कराने देंगे, ताकि यूनिवर्सिटी को यह सूचना दी जा सके। बताया कि सेमेस्टर सिस्टम होने के कारण इंटरनल के मा‌र्क्स यूनिवर्सिटी को भेजने होते हैं। ऐसे में इंटरनल कराने जरूरी हैं। दिसंबर में एक्सटर्नल एग्जाम होने हैं। ऐसे में स्टूडेंट्स का भविष्य दांव पर है।

-------------

जब तक यूनिवर्सिटी बढ़ाई हुई फीस वापस नहीं लेगी। आंदोलन जारी रहेगा, इंटरनल एग्जाम नहीं होने दिए जाएंगे।

निखिल शर्मा, अध्यक्ष, छात्र संघर्ष समिति

-------------

स्टूडेंट लीडर्स इंटरनल एग्जाम नहीं करवाने दे रहे। हमने उनसे लिखित में मांग पत्र मांगा है, ताकि यूनिवर्सिटी को सूचना दी जा सके।

बीए बौड़ाई, प्रिंसिपल, एसजीआरआर कॉलेज

----------------

दांव पर डॉक्टर बनने का सपना

निजी आयुष कॉलेजों के स्टूडेंट्स भी बीते 37 दिनों से अपने बैक एग्जाम और इयरली एग्जाम को दांव पर लगा कर परेड ग्राउंड में धरना दे रहे हैं। 16 निजी आयुष कॉलेजों के स्टूडेंट्स इस प्रोटेस्ट में शामिल हैं। इधर निजी आयुष कॉलेजों की मनमानी के खिलाफ एनएसयूआई ने प्रदेशभर में निजी आयुष कॉलेजों में जाकर तालाबंदी शुरू कर दी है। वेडनसडे को दून स्थित उत्तरांचल आयुर्वेदिक कॉलेज में तालाबंदी की गई, थर्सडे को हरिद्वार स्थित पतंजलि यूनिवर्सिटी के फेस वन से फेस टू तक विरोध मार्च किया। एनएसयूआई स्टूडेंट्स ने राज्य सरकार, आयुष मंत्री व बाबा रामदेव के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष मोहन भंडारी ने कहा कि जिस प्रकार से राज्य सरकार स्टूडेंट्स को नजरंदाज कर रही है। बताया कि एनएसयूआई 9 नवंबर को राज्य स्थापना दिवस पर पूरे प्रदेश में सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करेगी।

Posted By: Inextlive

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.