सजा के कागजात दौड़ में आगे रिवार्ड की फाइल फांक रही धूल

2019-01-17T06:00:29Z

RANCHI : रांची जिला पुलिस बल में पुलिसकर्मियों की सजा, निलंबन अथवा कार्रवाई करने वाली फाइल तो सरपट दौड़ती है, लेकिन उनके रिवार्ड देने से जुड़ी फाइल यूं ही धूल फांकती रहती है। पुलिसकर्मियों का कहना है कि रिटायरमेंट संबंधी पुस्तिका, कार्यभार लेने व देने की पुस्तिका समेत अन्य गतिविधियां शिथिल पड़ी हुई है। लेकिन, कारवाई करने वाली फाइल को निपटाने की प्रक्रिया तेज रफ्तार से चल रही है। ऐसे में उनका मनोबल टूट रहा है।

सेवा पुस्तिका अपडेट नहीं

नवंबर, 2018 से लेकर दिसंबर 2018 तक रिटायर होनेवाले पुलिसकर्मियों की संख्या लगभग 150 के करीब है। कई पुलिसकर्मी रिटायर भी हो चुके हैं। कई रिटायर के कगार पर हैं। ऐसे में उनके पुलिस होने के सत्यापन से लेकर उनकी सेवा पुस्तिका को दुरूस्त करने का काम किया जाना चाहिए। इधर, पेंशन विभाग का का कहना है कि रिटायर कर्मियों की सेवा पुस्तिका अभी उनके पास नहीं आई है, इस वजह से पेंशन आदि एलॉट करने में उनलोगों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।

रिटायर करने वाली की लिस्ट नहीं बनी

वहीं, किसी पुलिसकर्मी को सेवा पुस्तिका में अपनी बेटी, बेटा या पति का नाम चढ़ाना है। यह काम भी अब तक पेडिंग है। न तो पुलिस लाइन से रिटायरकर्मियों की सूची बनाई गई है और न ही उनका अपडेट लिया गया है।

लटक सकती पेंशन वाली फाइल

इधर, रिटायरमेंट पर जानेवाले पुलिसकर्मियों की फेहरिस्त जारी है। कई पुलिसकर्मियों को यह कहकर दौड़ाया जा रहा है कि उपायुक्त कार्यालय में बैठनेवाली महिला अधिकारी लंबी छुटटी पर बाहर चली गई है। बगैर उनके सिग्नेचर के पेंशन संबंधी फाइल पर दस्तखत नहीं हो सकते हैं।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.