वर्ल्ड कप के चक्कर में दिल्ली से लंदन/मुंबई का हवाई किराया दोगुना

2019-06-10T11:14:52Z

रेलवे कॉलोनी में रहने वाले जीएम ऑफिस में कार्यरत एक अफसर का बेटे लंदन में रहते हैं उन्हें गर्मी की छुट्टियां परिवार के साथ बिताने के लिए गोरखपुर आना है मगर व‌र्ल्ड कप की खुमारी ने उन्हें थोड़ा परेशान कर दिया है

-इंग्लैंड आने-जाने वालों के लिए मुसीबत बना टिकट

-कई गुना बढ़ गए हैं रेट, प्लानिंग हुई फेल

-25 हजार रुपए में मिलने वाला टिकट एक लाख के पास पहुंचा

 

केस - 1

gorakhpur@inext.co.in
GORAKHPUR :
रेलवे कॉलोनी में रहने वाले जीएम ऑफिस में कार्यरत एक अफसर का बेटे लंदन में रहते हैं. उन्हें गर्मी की छुट्टियां परिवार के साथ बिताने के लिए गोरखपुर आना है, मगर व‌र्ल्ड कप की खुमारी ने उन्हें थोड़ा परेशान कर दिया है. इसकी वजह से टिकट की डायनमिक प्राइसिंग चार गुना तक बढ़ गई है, लेकिन छुट्टियों में आना है, सो वह उन्होंने एक्स्ट्रा पैसे भी खर्च कर दिए हैं.

 

केस - 2

जफर कॉलोनी में रहने वाले मोहम्मद एजाज के बेटे दुबई में रहते हैं. वह खास मैच देखने के लिए लंदन गए हैं, अब उन्हें वहां से छुट्टियां मनाने के लिए गोरखपुर आना है. ऐसे में वहां से गोरखपुर का टिकट जो 2500 पाउंड में मिलता था, अब करीब 10 से 12 हजार पाउंड में मिल रहा है. शहर आना है, इसलिए उन्होंने भी बुकिंग करा ली है.

यह दो केस तो महज एग्जामपल भर हैं. ऐसे दर्जनों एग्जामपल हैं, जिन्हें या तो लंदन से गोरखपुर आना है या फिर खास व‌र्ल्ड कप के लिए वहां जाना है. उन्होंने मजबूरी में बढ़े हुए रेट में टिकट कराया है. ऐसा न करने की कंडीशन में उन्हें व‌र्ल्ड कप खत्म होने का इंतजार करना पड़ता. वहीं, दूसरी ओर एक तरफ जहां लोग घर लौटने के लिए बेताब और परेशान हैं, तो वहीं दूसरी ओर व‌र्ल्ड कप का लाइव मजा लेने वालों की भी कमी नहीं हैं. गोरखपुर शहर से अब तक करीब एक दर्जन से ज्यादा लोगों ने खास व‌र्ल्ड कप देखने के लिए इंग्लैंड का टिकट करवा लिया है. वह जमकर मस्ती के लिए तैयार हैं और इसके लिए वह पैसों को इंपॉर्टेस नहीं दे रहे हैं.

एक हफ्ते में 13 टिकट

टीम इंडिया का सपोर्ट करने के लिए गोरखपुर से इंग्लैंड जाने वालों की कमी नहीं है. यूं तो दर्जनों लोग इस आस में हैं कि इंग्लैंड जाकर मैच देखा जाए, लेकिन पिछले हफ्ते में ही 13 लोगों ने इंग्लैंड के लिए अपना टिकट करवा लिया है. वहीं रोजाना एक-दो क्वेरी टूर एंड ट्रैवेल ऑपरेटर्स के पास आ रही है, जिसमें काफी लोग कंफर्म टिकट करवा ले रहे हैं. इनमें सबसे ज्यादा तादाद खास मैच देखने वालों की है. वहीं कुछ लोग सिर्फ आउटिंग के इरादे से भी टिकट करवा रहे हैं.

दो महीना पहले 20 हजार का फायदा

दिल्ली हो या मुंबई लंदन जाने के लिए अगर एडवांस बुकिंग करानी है, तो इसमें आपको 20 हजार रुपए तक का फायदा मिल सकता है. वह भी तब तक बुकिंग 45 दिन पहले कराई गई हो, वरना लोगों को पूरे पैसे अदा करने पड़ रहे हैं या फिर हायस्ट फेयर के आसपास तक पहुंच जा रहा है. इतना ही नहीं वहां पहुंच जाएंगे इसकी भी कोई गारंटी नहीं है. ऐसा इसलिए कि लंदन का वीजा मिलने में भी करीब 20 दिन का वक्त लग जा रहा है, जोकि आम दिनों में एक हफ्ते में मिल जा रहा था.

आम दिनों में इकोनॉमी क्लास

दिल्ली-लंदन-दिल्ली 40 हजार से 45 हजार

बॉम्बे-लंदन-बॉम्बे 50 से 70 में रिटर्न इकोनॉमी

इन दिनों इकोनॉमी क्लास

दिल्ली-लंदन-दिल्ली 70 हजार से एक लाख

बॉम्बे-लंदन-बॉम्बे 80 से सवा लाख

 

बॉक्स -

थ्री स्टार फुल, अब फोर और फाइव

एक तरफ जहां टिकट ने इंग्लैंड की राह दुश्वार कर रखी है, तो वहीं दूसरी ओर वहां रहने का ठिकाना ढूंढने के लिए भी लोगों को पसीना बहाना पड़ रहा है. ट्रैवेल एजेंट्स की मानें तो एक नाइट स्टे ब्रेक फास्ट के साथ बुक कराने के लिए लोगों के 15000 रुपए खर्च हो रहे हैं. वहीं, पहले इसके लिए लोगों को महज 4 हजार खर्च करने पड़ते थे. इतना ही नहीं अब थ्री स्टार होटल की बुकिंग में नो वैकेंसी शो कर रहा है, वहीं फोर स्टार और फाइव स्टार होटल का ही लोगों के पास ऑप्शन बचा है, जिसके लिए उन्हें एक्स्ट्रा पैसे खर्च करने पड़ेंगे.

 

वर्जन

इंग्लैंड के टिकट के चार्ज चार गुना तक बढ़ गए हैं. वहीं थ्री स्टार होटल में भी बुकिंग मुश्किल हो गई है और सभी व‌र्ल्डकप तक फुल हैं. फोर स्टार और फाइव स्टार में वैकेंसी हैं, इनमें किराया काफी ज्यादा है.

- अहमद माज, डायरेक्टर, रॉयल टूर एंड ट्रैवेल्स

 

इंग्लैंड के रिटर्न टिकट के लिए लोगों को अब 40 की जगह एक लाख रुपए तक देने पड़ रहे हैं. व‌र्ल्ड कप की वजह से वीजा भी आम दिनों के मुकाबले थोड़ा देर में मिल रहा है. रोज लोग क्वेरी के लिए पहुंच रहे हैं.

-मुकेश अग्रवाल, डायरेक्टर, एसओटीसी

Posted By: Syed Saim Rauf

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.