जीएम ऑफिस रोड पर लूट कर भागे डेढ़ लाख

2018-12-15T06:00:29Z

-झोले में रुपए रखकर नमाज पढ़ने जा रहे थे सहायक लेखाधिकारी

-अगल-बगल आरपीएफ जवान, दुस्साहस दिखाकर कर डाली वारदात

द्दह्रक्त्रन्य॥क्कक्त्र:

रेलवे जीएम रोड पर बदमाशों ने लेखा सहायक से डेढ़ लाख रुपए लूट लिए। घटना शुक्रवार दोपहर करीब पौने एक बजे हुई। कर्मचारी की सूचना पर पहुंचे एसपी सिटी, सीओ कैंट और इंस्पेक्टर ने रेलवे कॉलोनी बैंक का सीसीटीवी फुटेज देखकर बदमाशों का सुराग लगाने का प्रयास किया। रेलवे कर्मचारी ने पुलिस को बताया कि रुपए निकालकर नमाज पढ़ने के लिए पैदल पेट्रोल पंप की तरफ जा रहे थे। तभी बाइक सवार बदमाशों ने वारदात की। घटनास्थल से चंद कदमों की दूरी पर आरपीएफ के दो जवानों की ड््यूटी रहती है। जबकि, बगल में ही आईजी आरपीएफ का ऑफिस है। वहां सुरक्षा के लिए जवान मुस्तैद रहते हैं।

भूमि खरीदने के लिए निकाले थे रुपए

गोरखनाथ, दिग्विजय नगर मोहल्ला निवासी आरिफ सुल्तान एनई रेलवे के प्रधान वित्त सलाहकार व मुख्य लेखाधिकारी कार्यालय के आडिट आबजेक्शन सेक्शन में लेखा सहायक हैं। उनको भूमि खरीदने के लिए उनको रुपए की जरूरत थी। इसलिए उन्होंने अपनी पीएफ से रुपए का आवेदन किया था। शुक्रवार दोपहर करीब साढ़े 12 बजे चेक के जरिए उन्होंने एसबीआई रेलवे कॉलोनी ब्रांच से नकदी निकाली। बैंक में ही पैसा गिनकर उन्होंने एक छोटे झोले में रखकर बाएं हाथ में पकड़ लिया। नमाज पढ़ने के लिए पेट्रोल पंप की ओर जाने लगे। जीएम ऑफिस गेट से 20 कदम पहले बाइक सवार दो युवक उनके बगल से गुजरे। बाइक पर पीछे बैठे युवक ने आरिफ सुल्तान के हाथ से झोला छीन लिया।

चिल्लाने पर नहीं मिली मदद, जवान भी नहीं हुए एक्टिव

बदमाशों ने रुपए छीने तो आरिफ शोर मचाने लगे। आरोप है कि चंद कदमों की दूरी पर स्थित प्रशासन थाना पर मौजूद आरपीएफ जवानों ने उनकी मदद नहीं की। वह चिल्लाते हुए मोहद्दीपुर पुलिस चौकी पर पहुंच गए। थोड़ी देर में लोगों की भीड़ जमा हो गई। सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने बैंक का सीसीटीवी कैमरा खंगालकर बदमाशों का सुराग लगाने का प्रयास किया। पुलिस का मानना है कि रेकी कर बदमाशों ने वारदात की है।

आरपीएफ ने भेजा प्रपोजल, पेडिंग पड़ी कार्रवाई

रेलवे कर्मचारी से लूट के अलावा पहले भी कई घटनाएं जीएम आफिस रोड पर हो चुकी हैं। हर बार जांच के लिए पुलिस सीसीटीवी कैमरों की तलाश करती है। बैंक के सिवा उसे कहीं सीसीटीवी कैमरे नहीं मिलते। पूर्व में वारदातों को देखते हुए जीएफ ऑफिस परिसर की सुरक्षा का प्लान आरपीएफ के आईजी राजाराम ने बनाया था। उन्होंने जीएम ऑफिस के सभी इंट्रेस प्वाइंट्स, जीएम आफिस सहित अन्य प्रमुख जगहों के लिए उम्दा किस्म के 10 सीसीटीवी कैमरों की डिमांड की थी। लेकिन यह प्रपोजल आईजी ऑफिस से निकलकर रेल प्रशासन के दफ्तरों में घूम रहा है।

जीएम आफिस की सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए सीसीटीवी कैमरे लगाने का प्रपोजल तैयार करके भेज दिया गया है। करीब 10 लाख रुपए के बजट से सीसीटीवी सर्विलांस का इंतजाम प्रस्तावित है। इस मामले में प्रक्रिया चल रही है। प्रशासन थाना में इसका कंट्रोल रूम बनाकर पूरे कैंपस की निगरानी की जाएगी।

राजाराम, आईजी आरपीएफ

घटना की जांच पड़ताल की जा रही है। बैंक से रेकी करके बदमाशों ने वारदात को अंजाम दिया। बदमाशों का स्केच बनवाया जाएगा। मोहद्दीपुर सहित अन्य जगहों पर लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज देखी जा रही है। जीएम आफिस रोड पर सीसीटीवी कैमरे लगाने के लिए रेलवे प्रशासन से बात की जाएगी।

विनय कुमार सिंह, एसपी सिटी


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.