राजस्थान पंडाल हादसे को लेकर कथावाचक का वीडियो वायरल सीएम ने दिए जांच के आदेश

2019-06-24T13:13:23Z

राजस्थान में रविवार को रामकथा के दौरान आए तूफान से एक बड़ा हादसा हो गया। यहां पंडाल गिरने से 13 से अधिक लोगों की मौत हो गई और 25 से अधिक लोग घायल हो गए। राजस्थान सीएम ने दुख जताते हुए जांच के आदेश दिए हैं। वहीं इस घटना से जुड़ा एक वीडियो भी वायरल हो रहा है।

जयपुर (आईएएनएस)। राजस्थान के बाड़मेर जिले में रविवार को रामकथा के दौरान दाेपहर साढ़े तीन बजे आए तूफान व तेज बारिश से एक बड़ा दर्दनाक हादसा हो गया है। यहां पंडाल गिर जाने से करीब 14 लोगों की मौत हो गई और 25 से अधिक लोग घायल हुए। हादसे के बाद घायलों को तुरंत अस्पताल पहुंचाया गया। प्रत्यक्षदर्शयों का कहना है कि बारिश में तार टूटने व बिजली का खंभा गिरने से भगदड़ मची।इससे कई लोग करंट की चपेट में आकर मर गए।
सीएम अशोक गहलोत ने गहरा दुख जताया

न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक इस हादसे पर सीएम अशोक गहलोत ने गहरा दुख जताया है। उन्होंने मृतकों के परिजनों को पांच-पांच लाख रुपये और घायलों को दो-दो लाख रुपये की आर्थिक मदद का ऐलान किया है। उनका कहना है कि जांच के आदेश दिए गए हैं। जांच रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई होगी। हम भविष्य में इसी तरह की घटनाओं को रोकने के लिए व्यवस्था और सुरक्षा के बारे में एक एडवाइजरी जारी करने के बारे में भी सोच रहे हैं।
पाकिस्तानी टिड्डे भारत में कर रहे घुसपैठ, चिंतित भारत-पाक वैज्ञानिक कर रहे हाईलेवल मीटिंग
मायावती से बगावत करने वालों की नहीं कमी, इन बागियों ने सताया तो अब माया ने अपनो को अपनाया
वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा

इस हादसे को लेकर एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है कि इसमें कथावाचक मुरलीधर को लोगों से यह कहते सुना जा रहा है कि पंडाल को खाली कर दें, क्योंकि यह गिर रहा है।राजस्थान में हुए हादसे को लेकर पीएम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी दुख जताया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा राजस्थान के बाड़मेर में पंडाल का गिरना दुर्भाग्यपूर्ण है। मेरी संवेदनाएं पीड़ित परिवारों के साथ हैं। मैं घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं।



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.