मेरठ शहर के मिलेनियल्स ने राजनीतिक मुद्दों पर की जमकर चर्चा चर्चा में गरमाया आतंकवाद का मुद्दा

2019-02-18T11:03:35Z

MEERUT@inext.co.in
MEERUT : राम मंदिर बाद में बनाना पहले आतंकवाद का सफाया करना जरुरी है। अरे भाई दोनों ही काम जरुरी हैं तुम क्या बात कर रहे हो। कुछ इसी तरह की बातों से शुरू हुआ रविवार को दैनिक जागरण आई नेक्स्ट मिलेनियल्स करेंगे राजनी-टी की बात कार्यक्रम। साकेत गोल मार्केट में आयोजित इस कार्यक्रम में युवाओं ने मौजूदा सरकार के पक्ष और विपक्ष में अपनी-अपनी राय रखी। मिलेनियल्स की राजनीतिक चर्चा के बीच आतंकवाद का मुद्दा उठा तो जम्मू-कश्मीर में पत्थरबाजों पर भी युवाओं ने अपने स्वर कड़े किए।


जरुरी है आतंकवाद पर लगाम

चर्चा में अशोक कुमार ने कहा कि राम मंदिर बनना बेहद जरुरी है। सरकार कहती तो है बस करती नहीं। रमन शर्मा बोले भाई क्या बात कर रहे हो राम मंदिर से पहले आतंकवाद पर लगाम लगाना जरुरी है। हमारे इतने भाई शहीद हो रहे हैं, ये बड़ा मुद्दा है। इतने में वहां मौजूद अभय बोला अरे भईया मैं तो आप दोनों की बात से सहमत हूं राम मंदिर भी जरुरी है और आतंकवाद पर लगाम लगना भी। सत्यम बोला अभय आप ऐसी बातें न करें, जो देश की रक्षा करते है पहले उनकी सुरक्षा का इंतजाम पहले जरुरी है। यही सरकार के सामने बड़ी चुनौती है, जिसमें कितनी सफलता मिलती है ये सरकार के हाथ में है।

 

पत्थरबाजों पर लगे लगाम

आतंकवाद पर गरमाती चर्चा के बीच ही जम्मू-कश्मीर के पत्थरबाजों पर भी लगाम कसने की बात ने जोर पकड़ा। इसी बीच अंकित बोला मेरे हिसाब से धारा 370 हटाना जरुरी है। ऐसा होने से वहां अन्य जगह के लोगों की आबादी बढ़ेगी और पत्थरबाजों का सपोर्ट घटेगा। इससे जम्मू-कश्मीर के लोगों को आमदनी और कारोबार में भी मदद मिलेगी। पत्थरबाजी बेरोजगारों को पैसों का लालच देकर कराते हैं लेकिन जब रोजगार होगा तो युवा पत्थरबाज बनने की राह से बचेगा। अंकित की बात को काटते हुए अजय बोले भाई तुम भी मुर्खो वाली बात मत करो अगर ऐसा हो जाएगा तो कोई भी वहां आसानी से घर बना लेगा, इससे तो असुरक्षा बढ़ेगी सुरक्षा नहीं।

 

इन बिंदुओं पर हुई चर्चा

रोजगार के अवसरों को बढ़ावा देना होगा।

राम मंदिर बनाने के दावे फेल हो रहे है।

देश की सुरक्षा है जरुरी, आतंकवाद का हो सफाया।

कन्या भू्रण हत्या व महिलाओं के प्रति अत्याचारों पर लगे लगाम।

भ्रष्टाचार मुक्त सरकार चाहिए।

आर्थिक रुप से संपन्न देश व समाज की आवश्यकता है।

 

मेरा बात

मैं मौजूदा सरकार से संतुष्ट नहीं हूं, केवल बोलने व बड़े दावे करने वाली नहीं बल्कि काम करने वाली सरकार चाहिए। पुलवामा में हुए हादसे पर केवल चर्चाएं ही चल रही हैं, हर एक खून के कतरे का हिसाब लेना होगा, अन्यथा वोट करना बेकार है।

आशीष शर्मा

 

व्यापारियों के हित में काम करने वाली एवं राम मंदिर बनाने वाली सरकार चाहिए।

अशोक कुमार

 

किसानों के हित में काम करने वाली एवं रोजगार दिलाने वाली सरकार चाहिए।

रमन शर्मा

 

भ्रष्टाचारमुक्त सरकार, काबिलियत के अनुसार रोजगार देने वाली एवं रिजर्वेशन मुक्त सरकार चाहिए।

अभय सिंह भदौरिया

 

महिला के प्रति अत्याचारों पर लगाम लगाने व कन्या भू्रण हत्या बंद करने वाली सरकार चाहिए।

सत्यम सोनकर

 

जम्मू-कश्मीर में पत्थरबाजों एवं आतंकवाद का सफाया करने वाली सरकार चाहिए

अंकित

 

रोजगार दिलाने वाली सरकार चाहिए, रिजर्वेशन खत्म करने वाली सरकार चाहिए।

अजय


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.