राममय हुई शिव की नगरी

2014-04-09T07:00:01Z

-लोगों ने श्रद्धा और उल्लास से मनाया मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम का जन्मोत्सव

-हवन कुंडो से उठ रहे धुंए से माहौल हुआ भक्तिमय, देवी मंदिरों में उमड़ी भक्तों की भीड़

VARANASI: भगवान भोले की नगरी काशी का कोना-कोना रामनवमी के अवसर पर शुक्रवार को राममय हो उठा। लोगों ने पूरे आस्था और उल्लास के साथ मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम का जन्मदिन मनाया। घरों से लेकर मंदिरों तक विविध आयोजन किये गये। तुलसीघाट से इसी क्रम में मंदाकिनी शोभायात्रा का आयोजन हुआ। गंगा में बजड़ों पर भगवान श्रीराम के जन्म से राज्याभिषेक तक की झांकी देखकर श्रद्धालु निहाल हो उठे। वहीं राजेन्द्र प्रसाद घाट पर राममय रात का आयोजन हुआ। भक्तगण पूरी रात जागते हुए राम नाम के महामंत्र भजते रहे। काशी आर्य समाज की ओर से भी मर्यादा पुरुषोत्तम का जन्मोत्सव मनाया गया। शहर के हर मंदिर, मठ में राम जनम की धूम दिखायी दी। त्रिपुरा भैरवी स्थित राम रमापति बैंक के श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ी। श्री राम महोत्सव आयोजन समिति काशी की ओर पितृकुंड से भव्य शोभायात्रा निकली। शोभायात्रा में बाजे गाजे के साथ सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालु शामिल हुए। बेनीपुर साई मंदिर समिति की ओर से भी रामनवमी के अवसर पर बाबा की पालकी शोभायात्रा निकाली गयी।

नवरात्रि का हुआ समापन

नवमी के साथ ही नौ दिन तक चले शक्ति आराधना के पर्व नवरात्रि का समापन हुआ। श्रद्धाुलओं ने हवन यज्ञ कर नवरात्रि के संकल्प को पूरा किया। शहर का कोना कोना हवन कुंडों से निकल रहे धुंए से भक्तिमय हो उठा। कुछ भक्तों ने अष्टमी को ही कुंवारी कन्या पूजन की पंरपरा का निर्वाह किया तो कुछ ने नवमी के दिन परंपरा निभायी। कुंवारी कन्याओं को वस्त्र, द्रव्य समर्पित कर भोजन कराया गया। बहुत से श्रद्धालुओं ने नौ दिनों तक उपवास रखा था। वे बुधवार को व्रत का पारण कर संकल्प पूरा करेंगे।

Posted By: Inextlive

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.