सेव‍िका बबीता के साथ्‍ा एक कमरे में रहता था रामपाल बबीता के नाम लाखों की एफडी

2014-12-09T10:40:00Z

सतलोक आश्रम प्रकरण में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है रामपाल अपनी मुख्य सेविका बबीता के साथ एक कमरे में रहता था दोनों घंटों साथ बिताया करते थे जब दोनों साथ होते थे तब उनके आराम में कोई भी खलल नहीं डालता था पुलिस रिमांड के दौरान मुख्य सेविका बबीता ने यह राज खोला है इतना ही नहीं रामपाल ने बब‍िता के नाम करीब दस लाख रुपए भी जमा कराए थे

रामपाल के रूम में मिली प्रेग्नेंसी किट
हैरत की बात यह कि मुख्य सेविका बबीता उर्फ बेबी का पिता बलजीत भी रामपाल के मुख्य सहयोगियों में से एक है. इसके बावजूद बबीता और रामपाल एक साथ कमरे में घंटों बिताते थे. दोनों एक दूसरे के बेहद करीब थे और उनके बीच काफी मधुर संबंध थे. सर्च आपरेशन के दौरान रामपाल के कमरे से गर्भ जांचने की किट भी मिली थी. इसके बाद ही मुख्य सेविका बबीता उर्फ बेबी को गिरफ्तार किया गया. रिमांड के दौरान बबीता ने कबूला है कि वह इकलौती ऐसी महिला सेविका थी, जिस पर रामपाल आंख बंद कर विश्वास करता था. रामपाल आश्रम में होने वाले अनैतिक कार्यों के सबूत मिटाने का काम बबीता से करवाता था.

वस्त्र विहीन रखता था महिलाओं को

पहले भी पुलिस जांच में सामने आ चुका है कि रामपाल के ऐशगाह तक चुनिंदा महिला सेविकाओं की पहुंच थी.
सर्च आपरेशन के दौरान आश्रम में मौजूद कुछ महिलाएं नग्न अवस्था में बाहर आईं थीं. उन्होंने पुलिस को बताया था कि आश्रम में उनके साथ दुराचार हुआ था, अन्य महिलाएं भी दुराचार का शिकार हुई थीं. कई दिनों तक पहनने के लिए कपड़े तक नहीं मिले थे. ज्यादातर पीडि़त महिलाएं मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ राज्यों से आई हुई थीं.

बबीता के नाम दस लाख की एफडी

रामपाल के सतलोक आश्रम प्रकरण में गिरफ्तार बबीता उर्फ बेबी के नाम रामपाल ने दस लाख रुपये की एफडी कराई थी. पुलिस रिमांड के दौरान पूछताछ में रामपाल, बलजीत व बलजीत की बेटी बबीता ने यह राज उगला.
दरअसल, आरोपियों को आमने-सामने बिठाकर कई गई पूछताछ में कई सनसनीखेज खुलासे हुए हैं. उपरोक्त तीनों के अलावा अन्य दस आरोपियों को भी आमने-सामने बिठाकर पुलिस ने पूछताछ की. रामपाल द्वारा बबीता के नाम पर दस लाख रुपये जमा कराने की बात पुलिस के समक्ष तीनों द्वारा स्वीकार करने के बाद पुलिस अब बैंकों में पुष्टि करेगी और इस मामले की और गहराई तक जाएगी.
रामपाल के लिए बेच दी कोठी
डीएसपी बरवाला ने बताया कि बबीता ने आपरेशन रामपाल के दौरान हार्ड डिस्क छिपा दी थी. उसने सात हार्ड डिस्क पुलिस को बरामद करा दी है. सात अन्य प्रशिक्षित कमांडो ने हेलमेट, लाठी और वर्दियां बरामद कराई हैं. बलजीत व बबीता ने पुलिस रिमांड के दौरान कई राज उगले हैं. पुलिस को पूछताछ के दौरान यह भी पता चला कि कुरुक्षेत्र के पुरुषोत्तम नामक एक भक्त ने अपनी 10 एकड़ भूमि व कोठी बेचकर रामपाल के डेरा को नब्बे लाख रुपये दिए थे. इसने रामपाल के नाम पर अपनी जमीन व कोठी बेच डाली.यह खुलासा रिमांड अवधि के दौरान पुलिस के समक्ष आरोपियों ने किया.
स्पेशल पूजा से आय का स्रोत
पुलिस सतलोक आश्रम में आने वाले पैसे के स्रोतों को जानने का प्रयास कर रही है. पूछताछ में पता चला कि रामपाल कष्ट निवारण के नाम पर भी स्पेशल पूजा कराता था. हर सप्ताह यहां पंद्रह दिन बाद लगभग दो से तीन हजार भक्त स्पेशल पूजा कराते थे और प्रत्येक व्यक्ति से 9 हजार रुपये लिए जाते थे. आश्रम में रोजाना के चढ़ावे के अलावा नामदान देने के भी अलग से पैसे वसूले जाते थे.

Hindi News from World News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.