मनी का सही मैनेजमेंट आपको बना सकता है फाइनेंशियली स्टेबल

2019-01-02T16:49:16Z

पैसा सबकुछ तो नहीं लेकिन बहुत कुछ होता है। यह आपके स्टेंडर्ड ऑफ लिविंग को बढ़ाता है। आपकी लाइफ स्टाइल में बदलाव लाता है। वैसे पैसा तो बहुत से लोग कमा लेते हैं लेकिन मनी का मैनेजमेंट और उसके खर्च की प्‍लानिंग को लेकर युवा अक्सर उदासीन रहते हैं।

कानपुर। भारत में 400 मिलियन से ज्यादा मिलेनियल्स (25 से 35 साल की उम्र के लोग) रहते हैं और उनमें ज्यादातर डिजिटली एक्टिव हैं तो ऐसे में यह मैटर करता है कि अगर वे अपने फाइनेंस के सेक्टर को स्मार्टनेस के साथ मैनेज करें तो उनकी लाइफ स्मूदली चलेगी।

बड़े खर्चों को भी करें मैनेज
मनी मैनेजमेंट के लिए जरूरी होता है हम अपने रुटीन के खर्चों से अलग उन खर्चों को मैनेज करने के बारे में ध्यान दें जिनमें हमें अच्छा एमाउंट एंगेज करना पड़ता है। ऐसे में अगर बात करें तो अक्सर हेल्थ को लेकर काफी पैसा खर्च करना पड़ता है। आज की लाइफ स्टाइल में कई ऐसी बीमारियां भी हैं जो आदमी का बजट ही बिगाड़ देती हैं। ऐसे में जरूरी होता है कि अपनी इनकम के अनुसार, अपने हेल्थ के लिए मनी मैनेजमेंट का। अच्छी तरह खाने-पीने और एक्सरसाइज करने के अलावा, आपके फाइनेंशियल पोर्टफोलियो में एक हेल्थ इंश्योरेंस का होना जरूरी है। आप अपने कॉर्पोरेट हेल्थ कवर पर डिपेंड नहीं रह सकते हैं क्योंकि यह नाकाफी हो सकता है और आपकी सेविंग को खत्म कर सकता है। क्योंकि हेल्थ केयर का खर्च दिन पर दिन बढ़ता ही जा रहा है।

चुनें वाइड कवरेज वाला हेल्थ इंश्योरेंस

मार्केट में कई तरह की हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसियां मौजूद हैं। इन सभी पॉलिसियों की तुलना करें और एक ऐसी पॉलिसी चुनें जिनका कैशलेस नेटवर्क बड़ा हो, आसानी से क्लेम प्रोसेस होता हो, क्लेम सेटलमेंट रेशियो अच्छा हो और बढिया कवरेज मिलता हो। क्योंकि यदि आपका हेल्थ इंश्योरेंस जितना बढिया होना चाहिए उतना बढिया न हो तो उससे कोई फायदा होने वाला नहीं है!

घर के लिए भी प्लान है जरूरी
ठीक इसी तरह सभी का सपना अपने लिए एक घर खरीदना भी होता है। युवाओं के लिए तो यह और भी बड़ा सपना है क्योंकि अपने खूबसूरत घर को लेकर वो थोड़ा क्रेजी होते हैं। यदि आप भी एक घर खरीदना चाहते हैं तो इसे खरीदने का यही सही समय है क्योंकि वर्तमान में रियल एस्टेट इंडस्ट्री में जो ठहराव आया है उसके कारण काफी घर बिकने के लिए तैयार या खाली हैं और बिल्डर्स फिलहाल अपने इन बिना बिके घरों से छुटकारा पाने के लिए तरह-तरह के डिस्काउंट और शानदार ऑफर दे रहे हैं। यदि आपने अभी तक एक घर खरीदने के लिए डाउन पेमेंट के लिए पैसों का इंतजाम नहीं किया है तो 5 से 7 साल में इसका इंतजाम करने के लिए सिस्टमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान के माध्यम से डिसिप्लीन के साथ इन्वेस्ट करना शुरू कर दें। आप एक स्मॉल अमाउंट से शुरुआत कर सकते हैं और इनकम बढने पर अपने इन्वेस्टमेंट को बढ़ा सकते हैं।

जरूरी है इमरजेंसी फंड
एक सबसे बड़ी जरूरत होती है खुद को किसी भी टफ सिचुएशन या इमरजेंसी की कंडीशन में फाइनेंशियली स्ट्रांग बनाने की। लक्ष्य पूरा करना है तो पैसों का इंतजाम करने के लिए फंड्स तैयार करने के अलावा, आपको अचानक हेल्थ प्रॉब्लम या जॉब लॉस जैसी अनजानी परिस्थितियों से सामना होने पर अपने जरूरी खर्च के लिए एक लिक्विड फंड तैयार करके रखना चाहिए. यह फंड आपके छ: से बारह महीने के खर्च को पूरा करने लायक होना चाहिए, इस फंड को किसी लिक्विड इंस्ट्रूमेंट में रखें ताकि अचानक पैसे निकालने पर कोई एग्जिट लोड देना न पड़े।

लाइफ स्टाइल के लिए मनी मैनेजमेंट
हमारी रोजमर्रा की लाइफ स्टाइल में भी ऐसी कई चीजें आ जाती हैं जिनके लिए मनी मैनेज करना जरूरी होता है। इस केटेगरी में, ट्रेवल करने, लग्जरी कार या गैजेट खरीदने, एक शानदार शादी का इंतजाम करने, जैसी इच्छाएं शामिल हैं। इनके लिए स्मार्ट प्लानिंग की जरूरत है। आप इस तरह के लाइफ स्टाइल चॉइस के लिए अपनी अन्य लॉन्ग-टर्म इच्छाओं में रुकावट डालना नहीं चाहेंगे। आप इस तरह के चॉइस को अपने बजट में फिट करने की कोशिश करके और इन्हें फाइनेंस करने के लिए पैसों का इंतजाम करके इन इच्छाओं को पूरा कर सकते हैं। ये शॉर्ट टर्म या मिड-टर्म लक्ष्य होते हैं और आप फिक्स्ड डिपाजिट या रेकरिंग डिपोजिट में इन्वेस्ट करके इन लक्ष्यों के लिए एक फंड तैयार कर सकते हैं। रिटर्न को बढ़ाने के लिए आप छोटे और नए बैंकों में बैंक डिपोजिट करने पर विचार कर सकते हैं जो आम तौर पर ज्यादा इंटरेस्ट देते हैं। यदि आपको लगता है कि आप थोड़ा ज्यादा रिस्क ले सकते हैं तो आप लार्ज कैप म्यूच्यूअल फंड में इन्वेस्ट करने के बारे में भी सोच सकते हैं।

Adhil Shetty, CEO-Bank Bazaar के इंटरव्यू पर आधारित

सेविंग्स के लिए म्यूचुअल फंड नहीं, बल्कि आज भी FD है युवाओं की पहली पसंद

गलत चीजें इसलिए फैलती हैं क्योंकि सही चीजें बताने वाला कोई नहीं : स्वरा भास्कर



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.