एचआईएल में दिखेंगे आरयू के दो स्टूडेंट्स

2014-01-22T10:35:04Z

RANCHI कहते हैं न कि मेहनत करें तो सक्सेस मिलते देर नहीं लगती है कुछ ऐसा ही हुआ है स्टेट के दो हॉकी प्लेयर्स के साथ यंू तो झारखंड में मेन्स हॉकी का हाल बेहाल है लेकिन इन दो प्लेयर्स ने अपने मेहनत लगन के कारण अपनी जगह हॉकी इंडिया लीग के रांची राइनोज की टीम में बनाई है यही नहीं ये दोनों रांची यूनिवर्सिटी के भी स्टूडेंट्स हैं और यहां के लिए भी खेल चुके हैं

 

एचआईएल में दिखेंगे आरयू के दो स्टूडेंट्स RANCHI: कहते हैं न कि मेहनत करें तो सक्सेस मिलते देर नहीं लगती है. कुछ ऐसा ही हुआ है स्टेट के दो हॉकी प्लेयर्स के साथ. यंू तो झारखंड में मेन्स हॉकी का हाल बेहाल है, लेकिन इन दो प्लेयर्स ने अपने मेहनत लगन के कारण अपनी जगह हॉकी इंडिया लीग के रांची राइनोज की टीम में बनाई है. यही नहीं ये दोनों रांची यूनिवर्सिटी के भी स्टूडेंट्स हैं और यहां के लिए भी खेल चुके हैं.ओलंपियन का बेटा है सुमितरांची यूनिवर्सिटी के दो स्टूडेंट्स अरविंद कुजूर और सुमित टोप्पनो लास्ट सीजन की तरह इस सीजन में भी हॉकी इंडिया लीग के मैच में अपना जलवा बिखेरेंगे. ये फिलहाल रांची राइनोज टीम के मेंबर हैं. इनमें सुमित टोप्पनो ओलंपियन मनोहर टोप्पनो का बेटा है. वो इस समय संत जोसेफ कॉलेज में ग्रेजुएशन कर रहे हैं. इसके अलावा अरविंद कुजूर गोस्सनर कॉलेज से ग्रेजुएशन कर रहे हैं. इन दोनों प्लेयर्स को फस्र्ट हॉकी इंडिया लीग में ही मौका मिला था. रांची राइनोज के ऑक्शन में इन दोनों प्लेयर्स का नाम हॉकी इंडिया ने भेजा था और इनका सलेक्शन भी कर लिया गया. इसके बाद दोनों प्लेयर्स को हॉकी लीग जैसे टूर्नामेंट में खेलने का मौका भी मिला और इस टीम ने फस्र्ट एचआईएल का खिताब भी जीता.यूनिवर्सिटी की हॉकी टीम में भीअरविंद कुजूर और सुमित टोप्पनो को रांची यूनिवर्सिटी की हॉकी टीम में भी लास्ट ईयर जगह मिली थी, लेकिन ये दोनों एचआईएल में खेलने के कारण इसमें शामिल नहीं हो सके थे. जबकि इससे पहले यूनिवर्सिटी की टीम के साथ ये दोनों प्लेयर खेल चुके हैं.सीनियर नेशनल टीम मेंअरविंद कुजूर हॉकी लीग में खेलने से पहले सीनियर नेशनल टीम में झारखंड को रिप्रजेंट कर चुके हैं.वहीं इससे पहले सब जूनियर नेशनल और जूनियर नेशनल टीम में शामिल होकर अपना जलवा दिखाया था. फॉरवर्ड पोजीशन के प्लेयर अरविंद का कहना है कि हॉकी का टशन तो मेरे जेहन में बचपन से था, इसलिए स्कूल के  टाइम से ही हॉकी खेल रहा हूं. मेरा मानना है कि यही एक ऐसा गेम है, जो पूरी तरह से आपको फिट भी रखता है.

ओलंपियन का बेटा है सुमित

रांची यूनिवर्सिटी के दो स्टूडेंट्स अरविंद कुजूर और सुमित टोप्पनो लास्ट सीजन की तरह इस सीजन में भी हॉकी इंडिया लीग के मैच में अपना जलवा बिखेरेंगे. ये फिलहाल रांची राइनोज टीम के मेंबर हैं. इनमें सुमित टोप्पनो ओलंपियन मनोहर टोप्पनो का बेटा है. वो इस समय संत जोसेफ कॉलेज में ग्रेजुएशन कर रहे हैं. इसके अलावा अरविंद कुजूर गोस्सनर कॉलेज से ग्रेजुएशन कर रहे हैं. इन दोनों प्लेयर्स को फस्र्ट हॉकी इंडिया लीग में ही मौका मिला था. रांची राइनोज के ऑक्शन में इन दोनों प्लेयर्स का नाम हॉकी इंडिया ने भेजा था और इनका सलेक्शन भी कर लिया गया. इसके बाद दोनों प्लेयर्स को हॉकी लीग जैसे टूर्नामेंट में खेलने का मौका भी मिला और इस टीम ने फस्र्ट एचआईएल का खिताब भी जीता. अरविंद कुजूर और सुमित टोप्पनो को रांची यूनिवर्सिटी की हॉकी टीम में भी लास्ट ईयर जगह मिली थी, लेकिन ये दोनों एचआईएल में खेलने के कारण इसमें शामिल नहीं हो सके थे. जबकि इससे पहले यूनिवर्सिटी की टीम के साथ ये दोनों प्लेयर खेल चुके हैं.अरविंद कुजूर हॉकी लीग में खेलने से पहले सीनियर नेशनल टीम में झारखंड को रिप्रजेंट कर चुके हैं.वहीं इससे पहले सब जूनियर नेशनल और जूनियर नेशनल टीम में शामिल होकर अपना जलवा दिखाया था. फॉरवर्ड पोजीशन के प्लेयर अरविंद का कहना है कि हॉकी का टशन तो मेरे जेहन में बचपन से था, इसलिए स्कूल के  टाइम से ही हॉकी खेल रहा हूं. मेरा मानना है कि यही एक ऐसा गेम है, जो पूरी तरह से आपको फिट भी रखता है.

 


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.