अपने अस्तित्व का अनुभव करना हो हमारा उद्देश्य साध्वी भगवती सरस्वती

2019-05-14T10:49:24Z

अपनी चेतना और दिव्यता की उपस्थिति में स्वयं को अपने भीतर गहराई तक जाने की अनुमति दें। तब आप यह जान जाएंगे कि आपकी पहचान आपकी आत्मा प्यार और दिव्यता में निहित है न कि आपके ओहदे समाज में आपकी हैसियत में।

मैं बहुत दिनों से एक प्रकार की दुविधा में हूं। इसका एक कारण यह है कि मैं नहीं जानता कि मेरे जीवन का उद्देश्य क्या है। मुझे बताया गया है कि अगर मैं यह जान जाऊं, तो मेरे लिए ध्यान करना आसान हो जाएगा। क्या आप मुझे बता सकती हैं कि इसका जवाब मैं कैसे तलाश करूं?
जाने आपका अस्तित्व क्या है

अपने जीवन का उद्देश्य जानने के लिए सबसे पहले आपको यह जानना होगा कि आप कौन हैं। आपका अस्तित्व क्या है। वास्तव में पृथ्वी पर मौजूद हर दूसरी प्रजाति को यह सहज ज्ञान होता है कि उसे क्या करना है क्योंकि उन्हें यह अहसास है कि वो कौन हैं। मगर दुख की बात है कि हम इंसान इस सवाल का जवाब अपनी नौकरी, दूसरों के जीवन में अपनी भूमिका और अपने चाल-चलन के अनुसार तलाशने का प्रयास करते हैं। सच तो यह है कि हमारा यही तरीका हमें जीवन में पीछे की ओर धकेलता है इसलिए शांति के साथ बैठें और इस सवाल पर ध्यान लगाएं कि 'मैं कौन हूं।'
वास्तु टिप्स: शांत और सकारात्मक होना चाहिए बेड रुम का वातावरण, इसके लिए करें ये काम
जिसे आप 'मैं' कहते हैं, वो वास्तव में एक 'केमिकल सूप' है: सद्गुरु जग्गी वासुदेव
स्वयं को गहराई तक जाने की अनुमति दें
ध्यान करते समय यह सोचें कि आपका अस्तित्व क्या है। अपनी चेतना और दिव्यता की उपस्थिति में स्वयं को अपने भीतर, गहराई तक जाने की अनुमति दें और ऐसा नियमित रूप से करें। जब आप यह जान जाएंगे कि आपकी पहचान आपकी आत्मा, प्यार और दिव्यता में निहित है, न कि आपके ओहदे, समाज में आपकी हैसियत, आपके रिश्तों या आपके धन से तो आपके कार्यकलाप मायने नहीं रखेंगे। इससे फर्क नहीं पड़ेगा कि आप क्या कर रहे हैं। वास्तव में हमारे जीवन का उद्देश्य स्वयं के अस्तित्व से जुड़े सच का अनुभव करना होना चाहिए।



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.