वर्ल्ड कप जीत चुके इस दिग्गज खिलाड़ी पर ICC ने लगाया बैन नहीं दे रहे थे अपना मोबाइल

2019-02-27T11:55:23Z

श्रीलंका के पूर्व कप्तान आैर वर्ल्ड कप चैंपियन सनथ जयसूर्या पर आर्इसीसी ने दो साल का बैन लगा दिया। जयसूर्या को आर्इसीसी की एंटी करप्शन यूनिट की मदद न करने का दोषी पाया गया। जिसके चलते उन्हें दो साल तक क्रिकेट से दूर रहने की सजा दी गर्इ।

कानपुर। क्रिकेट मैदान पर विस्फोटक बल्लेबाजी के लिए मशहूर रहे पूर्व श्रीलंकार्इ कप्तान सनथ जयसूर्या को बड़ा झटका लगा है। मंगलवार को आर्इसीसी ने जयसूर्या को आचार संहिता उल्लंघन के लिए दो साल के लिए बैन कर दिया। इस दिग्गज बल्लेबाज पर यह प्रतिबंध 15 अक्टूबर 2018 से लागू होगा। जयसूर्या पर यह कार्रवार्इ इसलिए की गर्इ क्योंकि उन्होंने श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड में चल रहे भ्रष्टाचार की जांच कर रही आर्इसीसी की एंटी करप्शन यूनिट का साथ नहीं दिया। बाएं हाथ के बल्लेबाज रहे जयसूर्या ने दो बार आर्इसीसी के एंटी करप्शन कोड का उल्लंघन किया। श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड के सेलेक्टर पद पर रहने के दौरान जयसूर्या की भूमिका पर सवाल खड़े हुए थे।

BREAKING: Sanath Jayasuriya has been banned from all cricket for two years after admitting breaching two counts of the ICC Anti-Corruption Code.https://t.co/6VdTP6I2jL

— ICC (@ICC) 26 February 2019


नहीं दिया था अपना मोबाइल
दो साल का बैन लगने के बाद जयसूर्या ने टि्वटर पर इस पूरे मामले का जिक्र किया। वह लिखते हैं कि उन्होंने जांच के दौरान अपना मोबाइल फोन देने से मना कर दिया था। इसके ठीक एक दिन बाद एंटी करप्शन यूनिट ने उन पर बैन लगा दिया। हालांकि जयसूर्या यह भी कहते हैं कि उन्होंने अपनी तरफ से जांच में पूरा सहयोग दिया था।'

Message to my fan... pic.twitter.com/YFeCR4opEs

— Sanath Jayasuriya (@Sanath07) 26 February 2019


क्यों हो रही थी जांच
श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड में काफी सालों से भ्रष्टाचार फैला है। एेसे में आर्इसीसी की एंटी करप्शन यूनिट ने पिछले साल ही जांच शुरु कर दी थी। इस जांच का मकसद श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड में हो रहे करप्शन को जड़ से खत्म करना था साथ ही दोषियों को सजा देना है। श्रीलंकार्इ क्रिकेट बोर्ड साल 2017 में ही एसीयू के संदेह में आ गर्इ थी। जब जिंबाब्वे जैसी टीम ने श्रीलंका को उन्हीं के घर पर वनडे सीरीज में मात दी थी। उस वक्त जयसूर्या श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड के मुख्य चयनकर्ता थे। हालांकि काफी विवाद के बाद उन्होंने इस पद से इस्तीफा दे दिया था। एेसे में एसीयू जयसूर्या से जांच में सहयोग देने की बात कह रही थी।

पाकिस्तान की धरती पर इतनी बार पाक को हरा चुकी भारतीय क्रिकेट टीम
Ind vs Aus : चिन्नास्वामी में धोनी का टी-20 रिकाॅर्ड देख कंगारुआें के निकल जाएंगे पसीने

 


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.