लोकसभा चुनाव की वजह से प्रशासन अलर्ट, लालू प्रसाद के रिम्स स्थित वार्ड में सर्च ऑपरेशन

Updated Date: Sun, 17 Mar 2019 11:31 AM (IST)

लोकसभा चुनाव-2019 के पूर्व राजनीतिक सरगर्मी को देखते हुए आयोग की गाइडलाइंस के अनुसार ही जेल के अधिकारियों ने जिला पुलिस के अधिकारियों के साथ लालू प्रसाद के वार्ड में सर्च ऑपरेशन चलाया.

ranchi@inext.co.in
RANCHI: बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री सह राजद सुप्रीमो सजायाफ्ता लालू प्रसाद के रिम्स स्थित वार्ड में शनिवार को जेल प्रशासन व जिला पुलिस का छापा पड़ा. जेल आइजी वीरेंद्र भूषण के आदेश पर यह छापेमारी की गई थी. लोकसभा चुनाव-2019 के पूर्व राजनीतिक सरगर्मी को देखते हुए आयोग की गाइडलाइंस के अनुसार ही जेल के अधिकारियों ने जिला पुलिस के अधिकारियों के साथ उनके वार्ड में सर्च ऑपरेशन चलाया. शाम करीब साढ़े चार बजे से पांच बजे तक चले इस सर्च ऑपरेशन में वार्ड से कोई आपत्तिजनक वस्तु बरामद नहीं की गई है.

गतिविधियों पर नजर
छापेमारी टीम में काराधीक्षक अशोक कुमार चौधरी, जेलर चंद्रशेखर प्रसाद सुमन, डीएसपी सदर दीपक पांडेय, बरियातू थानेदार संजीव कुमार, रिम्स में लालू प्रसाद यादव की सुरक्षा में तैनात इंस्पेक्टर नारायण प्रजापति, जिला पुलिस के दस जवान व जेल के सिपाही शामिल थे. चुनाव तक पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद की गतिविधियों पर प्रशासन की पैनी नजर है, ताकि चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन सहित जेल मैनुअल की अवहेलना न होने पाए.

लालू बीमार, मिलने वालों की कतार
राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) से अलग होकर कांग्रेस में शामिल होनेवाले पूर्व केंद्रीय मंत्री तारिक अनवर तथा एनसीपी के महासचिव सह केंद्रीय प्रवक्ता डीपी त्रिपाठी दोनों ने रिम्स के पेइंग वार्ड में राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव से अलग-अलग मुलाकात कर उक्त सीट की गुहार लगाई. हालांकि, उन्होंने बिहार के पूर्व केंद्रीय मंत्री रमई राम को बैरंग लौटा दिया.

Posted By: Prabhat Gopal Jha
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.