सेंसेक्स रिकाॅर्ड ऊंचाई छूकर लौटा शेयर बाजार में लगातार पांचवें दिन बढ़त

2019-10-31T16:52:15Z

आईटी और बैंकिंग शेयरों में जबरदस्त लिवाली के कारण शेयर बाजार लगातार पांचवें दिन बढ़त के साथ बंद हुए। बृहस्पतिवार को कारोबार के दौरान 30 शेयरों वाला बीएसई सेंसेक्स सर्वकालिक 40392 अंक की रिकाॅर्ड ऊंचाई तक पहुंच गया था। बाद में यह 77 अंक की बढ़त के साथ 40129 के स्तर पर बंद हुआ।

मुंबई (पीटीआई)। 50 शेयरों वाले एनएसई निफ्टी भी 33.35 अंक उछलकर 11,877.45 अंक के स्तार पर बंद हुआ। यस बैंक में सबसे ज्यादा उछाल देखने को मिला सेंसेक्स में इन शेयर ने 24.03 फीसदी की छलांग लगाई। बैंक ने घोषणा की थी कि उसे विदेशों से 1.2 बिलियन डाॅलर के निवेश मिल रहे हैं। इस घोषणा के बाद यस बैंक के शेयरों में जैसे पंख ही लग गए। इसके अलावा एसबीआई, इनफोसिस, टाटा मोटर्स, भारती एयरटेल, एचसीएल टेक और एचडीएफसी के शेयरों में 7.69 फीसदी तक की बढ़त दर्ज की गई। वहीं टेक महिंद्रा, एक्सिस बैंक, टाटा स्टील, एमएंडएम और आईसीआईसीआई बैंक के शेयरों में 2.09 फीसदी तक की गिरावट दर्ज की गई।
सरकारी के कदम से विदेशी निवेशकों में बढ़ा भरोसा

बीएनपी परिबास में कैपिटल मार्केट स्ट्रेटजी एंड इनवेस्टमेंट प्रमुख सीनियर वाइस प्रेसिडेंट गौरव दुआ के मुताबिक, दूसरी तिमाही के बेहतर नतीजों को देखते हुए सेंसेक्स ने कारोबारी सत्र के दौरान रिकाॅर्ड स्तर तक पहुंच गया। इस बढ़त में त्यौहारी सीजन में कंज्यूमर डिमांड बढ़ने और अर्थव्यवस्था को सरकारी सहारा मिलने जैसी चीजें भी शामिल हैं। कारोबारियों का कहना था कि विदेशी फंड में बढ़ोतरी और टैक्स में छूट से इक्विटी निवेशकों में भरोसा बढ़ा है। स्टाॅक एक्सचेंज के आंकड़ों के अनुसार, बुधवार को विदेश निवेशकों ने बाजार में 7,192.42 करोड़ रुपये लगाए हैं। वहीं घरेलू संस्थागत निवेशकों ने 185.87 करोड़ रुपये के शेयर बेचे हैं।
विदेशी बाजारों में हावी रही बिकवाली
यूएस फेडरल रिजर्व के ब्याज में कटौती संबंधी घोषणा से भी बाजार में सकारात्मक असर रहा। हालांकि एशियाई बाजार हांगकांग, सियोल, टोक्यो व शंघाई लाल निशान के साथ बंद हुआ। यूरोपीय एक्सचेंज बाजार भी नकारात्मक असर से प्रभावित रहे और यहां बिकवाली हावी रही। कारोबार के दौरान भारतीय रुपया अमेरिकी डाॅलर के मुकाबले 12 पैसे कमजोर रहा। एक अमेरिकी डाॅलर की कीमत 71.02 रुपये रही। ग्लोबल ऑयल बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड वायदा 0.13 फीसदी फिसल कर 60.16 डाॅलर प्रति बैरल रहा।


Posted By: Satyendra Kumar Singh

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.