इनफोसिस के शेयरों में 10 प्रतिशत तक उछाल, बीएसई सेंसेक्स में 420 अंकों का उछाल

Updated Date: Thu, 16 Jul 2020 04:39 PM (IST)

शेयर बाजार का प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स बृहस्पतिवार को 420 अंक तक चढ़ गया। कोरोना वायरस महामारी की चिंता में वैश्विक बाजारों में बिकवाली हावी रही। इसके बावजूद इनफोसिस में जबरदस्त खरीदारी के कारण घरेलू बाजार ने बढ़त दर्ज की।


मुंबई (पीटीआई)। 30 शेयरों वाले बीएसई सेंसेक्स में दिन के कारोबार के दौरान भारी उतार-चढ़ाव का दौर जारी रहा। इसके बाद अंत में सेंसेक्स 419.87 अंक या 1.16 प्रतिशत उछल कर 36,471.68 अंक के स्तर पर बंद हुआ। इसी तरह एनएसई निफ्टी भी 121.75 अंक या 1.15 प्रतिशत चढ़कर 10,739.95 अंक के स्तर पर बंद हुआ। इनफोसिस के शेयर कारोबार के दौरान करीब 10 प्रतिशत तक उछल गए। इसके शेयरों में उछाल कंपनी के तिमाही नतीजों की घोषणा के बाद आए, जिसमें कंपनी ने कहा कि उसे उम्मीद से ज्यादा 12.4 प्रतिशत का मुनाफा हुआ है। कंपनी को शुद्ध मुनाफा 4,272 करोड़ का हुआ है। बड़े करार के बाद कंपनी के रेवेन्यू में करीब 2 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की गई।टाॅप गेनर की लिस्ट में एमएंडएम और टाॅप लूजर टेक महिंद्रा
इसके अलावा टाॅप गेनर लिस्ट में एमएंडएम, नेस्ले इंडिया, इंडसइंड बैंक, कोटक बैंक, एचसीएल टेल और एक्सिस बैंक शामिल रहे। दूसरी ओर टाॅप लूजर की सूची में टेक महिंद्रा, आईटीसी, एनटीपीसी, पावरग्रिड, टाइटन और ओएनजीसी के शेयर शामिल रहे। इन कंपनियों के शेयरों में भारी बिकवाली देखने को मिली। कारोबारियों के मुताबिक, इनफोसिस के शेयरों की अगुआई में आईटी कंपनियों के शेयरों के कारण निवेशकों में बाजार को लेकर भरोसा कायम हुआ। हालांकि कोविड-19 की चिंता में चीनी कंपनियों के शेयरों में भारी बिकवाली के कारण बाजार में भारी उतार-चढ़ाव का दौर रहा।बिकवाली के बाजार में ग्लोबल मार्केट, रुपया 3 पैसे कमजोरशंघाई में 4.50 प्रतिशत की गिरावट दर्ज किया गया। यह गिरावट कोरोना वायरस के कारण अर्थव्यवस्था में सुधार को लेकर निवेशकों में चिंता है। चीन के नेशनल ब्यूरो ऑफ स्टैटिस्टिक्स ने कहा कि 2020 की दूसरी तिमाही में देश की जीडीपी 3.2 प्रतिशत रहेगी। इसके बाद से चीनी शेयर बाजार बिकवाली के दबाव में आ गए। हांगकांग, टोक्यो और सियोल के बाजार नुकसान के साथ बंद हुए। यूरोपीय बाजारों में भी लाल निशान के साथ कारोबार शुरू हुआ। अंतरराष्ट्रीय कच्चे तेल बाजार में ब्रेंट क्रूड वायदा कीमतें 0.71 प्रतिशत फिसकर 43.48 डाॅलर प्रति बैरल रह गए। अमेरिकी डाॅलर के मुकाबले रुपया 3 पैसे फिसल कर 75.18 रुपये प्रति डाॅलर रहा।

Posted By: Satyendra Kumar Singh
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.