होली पर करेंगे ये काम तो आर्थिक हानि वास्तु दोष और अन्य समस्याओं से मिलेगी राहत

2019-03-18T12:35:11Z

यदि किसी व्यक्ति को किसी प्रकार भय है तो होली पर एक नारियल एक जोड़ा लौंग थोड़े से काले तिल व पीली सरसों को पीड़ित के ऊपर से 21 बार वारकर होली की अग्नि में डाल दें।

रंगों का त्योहार होली हर्षोल्लास से मनाया जाता है। इस दिन का ज्योतिष और वास्तु में भी महत्व होता है। ज्योतिषाचार्य पं राजीव शर्मा बता रहे हैं कि हम इस क्या करें तो आर्थिक हानि, बीमारी, वास्तु दोष समेत कई समस्याओं से छुटकारा पा सकते हैं। आइए जानते हैं कि होली पर ऐसे कौन-कौन से आसान उपाय हैं, जिन्हें हम करके अपनी परेशानियों से राहत पा सकते हैं।  

1. राज्यपक्ष से बाधा समापन के लिए: होलिका दहन से पहले उस स्थान पर सात आक की जड़ के टुकड़े लेकर जाएं और होलिका के उल्टे फेरे आरम्भ करें। प्रत्येक फेरे की समाप्ती पर आक की जड़ का एक टुकड़ा होली में फेकें। इस उपाय से राज्यपक्ष से मिलने वाली समास्या का समापन हो जाएगा। 

2. यदि बार-बार आर्थिक हानि हो रही हो तो होलिका दहन की शाम को अपने मुख्य द्वार की चैखट पर दो मुखा आटे का दीपक बनाएं, लाल गुलाल छिड़क कर उसके ऊपर दीपक जलाकर रख देना चाहिए। दीपक जलने के साथ ही मानसिक रूप से अपनी आर्थिक हानि रोकने की प्रार्थना करनी चाहिए। जब दीपक ठंडा हो जाए तो उस जलती होली पर दीपक रख आना चाहिए।

3. अधिक बीमारी की स्थिति में होली रात्रि में चार अभिमंत्रित गोमती चक्र लेकर अपने दाएं हाथ की मुट्ठी में बांधकर अपने व्यक्ति की बीमारी से मुक्ति की प्रार्थना करते हुए 11 परिक्रमा करें। एक जोड़ा लौंग, पान के दो पत्ते और थोड़ी सी मिश्री अर्पित करें। इसके बाद गोमती चक्र लाकर चाँदी के तार में पीड़ित के पलंग के चारों पायों से बांध दें।

4. यदि किसी व्यक्ति को किसी प्रकार भय है तो होली पर एक नारियल, एक जोड़ा लौंग, थोड़े से काले तिल व पीली सरसों को पीड़ित के ऊपर से 21 बार वारकर होली की अग्नि में डाल दें।

5. होलिका दहन के अगले दिन अपने इष्ट देय को गुलाल अर्पित कर अपने निवास के ईशान कोण पर पूजन करें और गुलाल अर्पित करें। ऐसा करने पर निवास के वास्तु दोषों से मुक्ति मिलती है।

6. आर्थिक लाभ के लिए होली की रात्रि में चन्द्रोदय होने के बाद छत पर जाकर चन्द्र देव का स्मरण कर शुद्ध घी के दीपक के साथ धूपबत्ती और अगरबत्ती अर्पित करे। इसके बाद कोई भी सफेद प्रसाद तथा साबूदाने की खीर अर्पित करें। अपने निवास में शान्ति के साथ स्थाई आर्थिक समृद्धि की प्रार्थना करें। बाद में बच्चों को प्रसाद बांटें, ऐसा करने पर कुछ ही दिनों में लाभ का अनुभव होगा।

7. जन्मपत्रिका में खराब ग्रहों की शान्ति के लिए उपरोक्त प्रकार से सामग्री अर्पित कर अगले दिन होली की रात लाकर सर्वार्थसिद्ध योग में शुभ जल में प्रवाहित करें। अशुभ ग्रह से मुक्ति मिलेंगी।

होली 2019: होलिका दहन के समय इन उपायों से ग्रह दोष से मिलेगी मुक्ति, राख का भी है महत्व

होली 2019: आपकी राशि का ये है लकी कलर, इन रंगों के इस्तेमाल से चमकेगी किस्मत


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.