अब सीवर नहीं होगा जाम

2016-03-24T02:10:07Z

सीवर के मेन होल होंगे चौड़े, नई तकनीक से होगी सफाई

GORAKHPUR: सिटी के पॉश एरियाज को सीवरेज जाम से होने वाले जल जमाव से छुटकारा दिलाने की तैयारी चल रही है। नगर निगम शहर के सभी सीवरेज के मेन होल को चौड़ा करने और खुले नालों में जालियां लगाएगा। इसके अलावा मैनुअल सफाई की जगह मशीनों की संख्या भी बढ़ाई जाएगी। इस नई तकनीक से जल जमाव से मुक्ति तो मिलेगी ही, नगर निगम को भी साल में चार से पांच लाख रुपए की बचत होगी।

इन एरियाज से ज्यादा शिकायत

शाहपुर, सूरजकुंड और टाउनहॉल एरिया में सीवरेज ओवरफ्लो की हर हफ्ते ही शिकायत आती है। नेताजी सुभाषचंद्र बोस नगर कॉलोनी में तो नगर निगम ने खुद ही सीवरेज प्रणाली बनाई थी। अब यहां भी सीवरेज जवाब देने लगे हैं। हर हफ्ते ही यहां कहीं न कहीं ओवरफ्लो रहता ही है।

55 किमी का सीवरेज सिस्टम

गंदा पानी निकालने के लिए सिटी में 55 किमी लंबी सीवरेज लाइन बिछाई गई है। ये लाइन गोलघर, बक्शीपुर, बेतियाहाता, धर्मशाला बाजार, शाहपुर और नेताजी सुभाषचंद्र बोस नगर कॉलोनी एरिया में बिछाई गई है। इसकी सफाई की जिम्मेदारी जलकल विभाग पर है। विभाग के एक बाबू ने बताया कि एक ही मशीन होने के कारण अधिकतर सफाई मजदूरों से करानी पड़ती है। मेन होल पतला होने से मजदूर अंदर नहीं जा पाते हैं। इस कारण एक जगह के जाम को साफ करने में पूरा दिन लग जाता है। अब मेल होल चौड़ा हो जाने से सबसे अधिक फायदा ये होगा कि एक साथ दो सफाई कर्मचारी अंदर जाकर सफाई का कार्य कर सकेंगे। नगर निगम को भी इससे एक साल में कम से कम चार से पांच लाख रुपए का फायदा होगा।

दो तरीकों से होती है सफाई

सिटी की सीवरेज लाइन की सफाई दो तरीकों से की जाती है। एक सफाई मजदूर लगाकर और दूसरी मशीन से। मजदूर बांस-फट्टी की मदद से सफाई करते हैं, जबकि मशीन लगाकर प्रेशर से सफाई की जाती है। इस समय सीवरेज प्रणाली की सफाई के लिए जलकल के पास एक मशीन है। विभाग के एक जेई ने बताया कि सीवरेज लाइन बहुत ही पतली है। इसमें अगर किसी भी जगह दो तीन प्लास्टिक फंस गई तो वह तीन लाइनों को जाम कर देती है। इसके अलावा गोलघर के कई छोटे-बड़े व्यापारियों ने अवैध कनेक्शन जोड़ रखा है। इससे उनके यहां से इतना तेज पानी का फ्लो आता है कि अक्सर सीवरेज लाइन में प्रॉब्लम आ जाती है।

सीवरेज जाम की तत्काल सफाई व्यवस्था के इंतजाम किए जाएंगे। इसके लिए मेन होल चौड़ा करने के साथ सफाई मशीनों की संख्या भी बढ़ाई जाएगी।

राजेश कुमार त्यागी, नगर आयुक्त

Posted By: Inextlive

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.