होटल में डील फिर ग्राहक को भेजती थी कमरे में

2018-12-25T06:00:37Z

RANCHI: राजधानी के डुमरदगा स्थित सैनिक कॉलोनी से पुलिस ने तीन युवकों को गिरफ्तार किया है, उन्हें जेल भेज दिया गया है। इस गिरोह की मास्टरमाइंड की तलाश में पुलिस संभावित स्थानों पर छापेमारी कर रही है। पुलिस को इनलोगों ने बताया कि होटल में पहले ग्राहकों की डीलिंग होती है। फिर, उन ग्राहकों को सैनिक कॉलोनी स्थित किराए के मकान में भेजा जाता था।

खुशबू नामक महिला है मास्टरमाइंड

सैनिक कॉलोनी में विजय सिंह के मकान पर सेक्स रैकेट का धंधा खुशबू नामक महिला चलाती है। इस गिरोह की खुशबू ही सरगना है। पूछताछ में गिरफ्तार आरोपियों ने इस बात का खुलासा किया है। गिरफ्तार तीनों ने पुलिस को बताया कि रूक्का रोड में जायसवाल नामक होटल है। उस होटल को खुशबू ही चलाती है। होटल में ही ग्राहकों को वह डील करती है। डील फाइनल होने के बाद गिरोह के सदस्य ग्राहक को अपने साथ लेकर सैनिक कॉलोनी स्थित मकान आते हैं। पूछताछ में आरोपितों ने यह भी खुलासा किया है कि खुशबू काफी अरसे से इस धंधे को चला रही है।

पहले भी जेल जा चुका है प्रवीण

यूपी निवासी प्रवीण राय और उसके भाई मोहित राय काफी अरसे से इस धंधे में जुड़े हैं। चुटिया पुलिस फरवरी 2018 में प्रवीण को जेल भेज चुकी है। जबकि उसका भाई मोहित उस समय भी फरार हो गया था। इसके अलावा 2018 में ही बरियातू थाने में दोनों भाइयों के खिलाफ मामला दर्ज है। बरियातू पुलिस भी दोनों को तलाश कर रही थी। मई 2018 में प्रवीण जेल से छूटा। इसके बाद दोबारा इसी धंधे में शामिल हो गया था।

बंगाल से लाते हैं लड़कियां

पुलिस पूछताछ में आरोपित प्रवीण ने बताया है कि वह बंगाल से लड़कियों को लाता था और लोगों के पास उसे भेजता था। इसके लिए वह लोगों से मोटी रकम की वसूली करता था। प्रवीण ने पुलिस को यह भी बताया कि वह पिछले दो वषरें से इस कारोबार में संलिप्त है।

क्या है मामला

खेलगांव ओपी प्रभारी मोहन कुमार के नेतृत्व में रविवार को टीम ने विजय सिंह के मकान पर छापेमारी की। इस दौरान टीम ने तीन लोगों को पकड़ा। वहीं अन्य लोग पुलिस को चकमा देकर भाग निकले। युवकों के पास से शक्तिवर्धक दवाएं, शराब, एक कार, एक बाइक और छह मोबाइल फोन बरामद किया है। गिरफ्तार युवकों में सदर थाना क्षेत्र के शिवशक्ति नगर निवासी प्रवीण राय, नामकुम थाना क्षेत्र के स्टेशन रोड के पास रहने वाले प्रमोद यादव व बुंडू निवासी विजय भगत उर्फ अजय भगत के नाम शामिल हैं। तीनों ने अवैध रूप से देह व्यापार में संलिप्तता स्वीकारी थी।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.