इंग्लैंड खेलने जा रही पाकिस्तान क्रिकेट टीम, अफरीदी बोले- ड्रा करा लो, वही बड़ी बात है

Updated Date: Tue, 04 Aug 2020 10:33 AM (IST)

वेस्टइंडीज को धूल चटाने के बाद इंग्लिश क्रिकेट टीम का सामना पाकिस्तान से होगा। पाक क्रिकेट टीम अंग्रेजों के खिलाफ उनके घर पर तीन मैचों की टेस्ट सीरीज खेलेगी। इस सीरीज को लेकर पूर्व पाक क्रिकेटर शाहिद अफरीदी का कहना है कि सीरीज ड्रा हो जाए हमारे लिए वही सबसे बड़ी जीत होगी।

कराची (पीटीआई)। पाकिस्तान अपने टेस्ट अभियान की शुरुआत बुधवार को इंग्लैंड के खिलाफ साउथेम्प्टन के एजेस बाउल में करेगा। मेहमानों के लिए ये सीरीज आसान नहीं रहने वाली। यही वजह है कि पूर्व पाक क्रिकेटर शाहिद अफरीदी चाहते हैं कि उनकी टीम सीरीज ड्रा करा ले, यही बड़ी बात होगी। अफरीदी ने क्रिकेट पाकिस्तान डॉट कॉम को बताया, "जब टेस्ट मैचों की बात आती है तो इंग्लिश की स्थिति मुश्किल होती है। मुझे अपनी टीम से बहुत उम्मीदें हैं और मुझे लगता है कि अगर वे सीरीज ड्रा कर पाते हैं तो भी यह जीत के बराबर होगा।" उन्होंने कहा कि मुख्य कोच और मुख्य चयनकर्ता, मिस्बाह-उल-हक, बल्लेबाजी कोच, यूनिस खान, गेंदबाजी कोच, वकार यूनिस और स्पिन कोच, मुश्ताक अहमद के पास इंग्लैंड में खेलने का अनुभव है।

बाबर आजम से हैं काफी उम्मीदें
अफरीदी ने कहा, "मुझे लगता है कि इस प्रबंधन की उपस्थिति हमारी टीम के लिए एक बड़ा प्लस है और मुझे विश्वास है कि ये पूर्व खिलाड़ी टेस्ट में सत्र के लिए खिलाड़ियों को अच्छी तरह से मार्गदर्शन कर पाएंगे।" अफरीदी ने यह भी कहा कि वह श्रृंखला में बाबर आजम के कुछ शीर्ष प्रदर्शनों का इंतजार कर रहे। उन्होंने कहा, 'वह एक अद्भुत प्रतिभा है और मुझे नहीं लगता कि उसने कप्तान बनाए जाने का दबाव लिया है। उसके खेल में सुधार हुआ है और वह चुनौतियों से प्यार करता है। अफरीदी ने कहा, 'बाबर पाकिस्तान की बल्लेबाजी की रीढ़ बन गए हैं और वह बहुत ही फुर्तीले खिलाड़ी हैं। आने वाले दिनों में उन्हें पाकिस्तान के लिए अकेले ही मैच जीतने चाहिए।"

गेंदबाजों को करना होगा अव्वल दर्जे का प्रदर्शन
अफरीदी ने पाकिस्तान क्रिकेट में उपलब्ध तेज गेंदबाजी संसाधनों पर संतोष व्यक्त किया और कहा कि देश ने हमेशा कुछ शीर्ष श्रेणी के तेज गेंदबाजों का उत्पादन किया है। उन्होंने कहा, "मुझे नसीम शाह, शाहीन शाह अफरीदी से आगे का महान भविष्य दिख रहा है और हमारे पास वहाब रियाज, मुहम्मद अब्बास, मुहम्मद आमिर और सोहेल खान की अनुभवी तिकड़ी भी है, जो इन युवाओं को इंग्लैंड में बहुत कुछ सिखा सकते हैं।उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि एक बार जब कोई खिलाड़ी राष्ट्रीय टीम में आता है तो यह उसके लिए सीखने और सुधार करने का स्थान नहीं होता है। अफरीदी कहते हैं, “एक बार जब आप पाकिस्तान के रंग के लिए चुने जाते हैं, तो आप इस स्तर पर प्रदर्शन करने और नहीं सीखने वाले होते हैं। मैं इस अवधारणा से सहमत नहीं हूं। यदि आप टेस्ट मैचों के लिए किसी खिलाड़ी को चुनते हैं तो वह प्रदर्शन करने में सक्षम होना चाहिए।'

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.