शिवसेना को महाराष्ट्र में जल्द मिल सकता है उप मुख्यमंत्री का पद

2019-05-22T15:14:06Z

एक बार फिर महाराष्ट्र सरकार के मंत्रिमंडल में फेरबदल की खबरें तेज हो गई है। कुछ शिवसेना नेताओं में सरकार में बड़े पद आसीन होने की उम्मीदें भी जग गई हैं। खबरों की मानें तो लोकसभा चुनाव के परिणाम के बाद शिवसेना को महाराष्ट्र में उप मुख्यमंत्री का पद जल्द मिल सकता है।

कानपुर। लोकसभा चुनाव के परिणामों के बाद महाराष्ट्र सरकार के मंत्रिमंडल में फेरबदल होने की उम्मीद है। ऐसा इसलिए माना जा रहा है कि क्योंकि इस बार लोकसभा चुनाव में महाराष्ट्र में बीजेपी और शिवसेना ने गठबंधन कर चुनावी कमान संभाली है। मिड डे में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक महाराष्ट्र में विधानसभा चुनावों के बाद के जो हालात बने थे वह भी इस ओर इशारा कर रहे हैं।
उद्धव ठाकरे ने पार्टी के लिए मुख्यमंत्री पद मांगा था

विधानसभा चुनाव के बाद यहां शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने पार्टी के लिए मुख्यमंत्री पद मांगा था। शिवसेना की यह ऐसी मांग थी जिस पर भाजपा अभी तक राजी नहीं हुई है। सूत्रों का कहना है कि इन दिनों शिवसेना और भाजपा के संबंधों को देखकर लगता है कि जल्द ही भाजपा की ओर से शिवसेना को उपमुख्यमंत्री पद की पेशकश करने की संभावना है। इसकी अभी न तो भाजपा की ओर से और न शिवसेना की ओर से अाधिकारिक पुष्टि की गई है।
जिन नेताओं को पद नहीं मिलेगा वो नाराज होंगे
वहीं इन खबरों के बाद से शिवसेना के खेमे एक बार फिर से उम्मीद जग गई है। इस संबंध में शिवसेना के एक वरिष्ठ नेता का कहना है कि चुनाव के नतीजों के बाद सरकार के मंत्रिमंडल में फेरबदल की अफवाहों ने कुछ शिवसेना नेताओं की पदोन्नति की उम्मीदें जगा दी हैं। उन्होंने कहा कि अगर प्रस्ताव को स्वीकार या अस्वीकार कर दिया जाता है तो कुछ चीजें सेना के भीतर मुश्किलें खड़ी कर सकती हैं। जिन लोगों को पद नहीं मिलेगा वो नाराज होंगे।
लोकसभा चुनाव 2019 : शिवसेना यूपी में अपने दम पर लड़ेगी चुनाव, 25 सीटों पर ठोकेगी ताल

अमित शाह की डिनर मीटिंग में पहुंचे थे ये लोग

वहीं मंत्रालय के गलियारों से मिल रही जानकारी की मानें तो भाजपा सरकार किसानों को पूर्ण रूप से माफी देने की भी तैयारी कर रही है। बता दें कि मंगलवार शाम को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह द्वारा एनडीए भागीदारों के लिए डिनर मीटिंग थी। इसमें शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे उनके बेटे आदित्य, उद्योग मंत्री सुभाष देसाई और पार्टी सचिव मिलिंद नार्वेकर जैसे चेहरे शामिल होने के लिए दिल्ली पहुंचे थे।



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.