दैनिक जागरण आईनेक्स्ट ने इन्हें दिया एसएमई अवार्ड किया जज्बे को सलाम

2019-04-07T11:20:36Z

धारा के विपरीत बहकर जो काम करते हैं वही समाज में एक अलग मुकाम बनाते हैं इसीलिए कहा गया है कि अपना जमाना आप बनाते हैं दैनिक जागरण आईनेक्स्ट एसएमई अवार्ड ऐसे ही लोगों के जज्बे को सलाम करता है

- दैनिक जागरण आईनेक्स्ट ने एसएमई अवार्ड देकर किया जज्बे को सलाम

- एसएमई को बताया देश के विकास के लिए जरूरी

lucknow@inext.co.in
LUCKNOW: धारा के विपरीत बहकर जो काम करते हैं, वही समाज में एक अलग मुकाम बनाते हैं. इसीलिए कहा गया है कि अपना जमाना आप बनाते हैं, अहल-ए-दिल, हम वह नहीं कि जिनको जमाना बना गया. दैनिक जागरण आईनेक्स्ट एसएमई अवार्ड ऐसे ही लोगों के जज्बे को सलाम करता है, जिन्होंने एंटरप्रेन्योर, सोशल वर्क, हॉस्पिटैलिटी सहित अन्य क्षेत्रों में अपनी लगन और मजबूत इरादों से एक नया मुकाम हासिल किया है. लखनऊ के रमाडा प्लाजा में अवार्ड सेरेमनी के दौरान पद्मश्री मालिनी अवस्थी बतौर मुख्य अतिथि और समाजसेवी अपर्णा यादव, मास्टर शेफ पंकज भदौरिया स्पेशल गेस्ट के रूप में मौजूद थीं.

दीप प्रज्ज्वलन से शुरुआत
प्रोग्राम का शुभारंभ दीप प्र”वलन के साथ हुआ. इसके बाद दैनिक जागरण के संस्थापक स्व. पूर्णचंद गुप्त और पूर्व प्रधान संपादक स्व. नरेंद्र मोहन गुप्त के चित्रों पर माल्यार्पण कर कार्यक्रम को आगे बढ़ाया गया. इसदौरान वाइस प्रेसिडेंट, कॉरपोरेट एंड प्रिंटिंग सेंटर्स दैनिक जागरण आईनेक्स्ट अनिर्बान बागची, डिप्टी एडिटर शर्मिष्ठा शर्मा, रीजनल हेड न्यूज 18 नेटवर्क रंजन त्रिपाठी मौजूद रहे.

हमें महिला होने पर गर्व है
पद्मश्री मालिनी अवस्थी ने बताया कि उस दौर में लोग क्या सोचते-समझते और करते थे उसी को फोक के माध्यम से प्रस्तुत करते हैं. जैसे पुतवा को देबो मैं देसवा की सेउवा.सोहर से कहना चाहते हैं कि उस दौर में भी मां कि सोच यही थी कि अपने बेटों को देश की सेवा के लिए भेज सकें. इसलिए आज हम क्यों खुद को प्रूफ करने में लगे रहते हैं. हमें तो खुश होना चाहिए कि हमारा जन्म नारी के रूप में हुआ है. हमें नारी ही बने रहना चाहिए क्योंकि आदमी भी हम लोगों से सलाह लेते रहते हैं.

करें हर तरह से मदद

समाजसेवी अपर्णा यादव ने कहा कि स्किल डेवलपमेंट के कई प्रोग्राम चल रहे हैं, लेकिन मैंने यह कभी नहीं देखा कि दिव्यांग महिलाओं की कैसे मदद होती है. जबकि इसके लिए आपको और हमें भी आगे आकर मदद करनी चाहिए. मेरी यहां बैठे पुरुष समाज से अपील है कि वह भी आगे आकर मदद करें क्योंकि जब आप मदद का हाथ आगे करते हैं तो ईश्वर भी किसी न किसी रूप में आकर मदद करता है.

देश के विकास के लिए जरूरी
दैनिक जागरण आईनेक्स्ट के वाइस प्रेसिडेंट, कॉरपोरेट एंड प्रिंटिंग सेंटर अनिर्बान बागची ने समारोह में मौजूद लोगों का धन्यवाद करते हुए कहा कि यह प्रोग्राम एसएमई क्षेत्र के उन लोगों का सम्मान करने के लिए है जिन्होंने बेहतरीन काम किया है. एसएमई एक ऐसी फोर्स है जो देश के विकास में बड़ी सहायक के तौर पर काम कर रही है. मैं यहां आए सभी मेहमानों का शुक्रिया अदा करता हूं. इसे पहले दैनिक जागरण आई नेक्स्ट की डिप्टी एडिटर शर्मिष्ठा शर्मा ने सभी गेस्ट का वेलकम किया.

लगन और जज्बे को सलाम
एसएमई अवार्ड समाज में अपना एक अलग मुकाम हासिल करने वाले उन लोगों को सलाम करता है जिन्होंने विपरीत परिस्थितियों में काम करके अपनी खास पहचान बनाई है. ये अपनी सक्सेस स्टोरी से लोगों को प्रेरित कर देश के विकास में योगदान दे रहे हैं. ये दूसरों को प्रेरणा दे रहे हैं कि मन में लगन और विश्वास हो तो कोई भी मंजिल मुश्किल नहीं होती.

इन्हें मिला एसएमई अवार्ड

प्लेटिनम कैटेगरी

1. मनोज प्रसाद शाही, सीएमडी, महाबीर बजरंग एग्रो केमिकल प्राइवेट लिमिटेड, वैशाली बिहार

2. हरेंद्र चौहान, डायरेक्टर, UK07 होटल, देहरादून, मसूरी

3. रविंद्र गुज्जर, चेयरमैन, जगदंबा ट्रॉमा सेंटर, मेरठ

डायमंड कैटेगरी

4. रजनीश तिवारी, डायरेक्टर, बिमको इंडिया प्राइवेट लिमिटेड

5. नवीन प्रकाश, डायरेक्टर, न्यूजेन सॉल्यूशन, झारखंड

6. पार्वती सिंह वाधवानी, प्रोपराइटर, वाधवानी एंड एसोसिएट्स, रांची

गोल्ड कैटेगरी

7. अमित गोयल, मैनेजिंग डायरेक्टर, पंछी पेठा स्टोर, आगरा

8. मुकुंद तिवारी, प्रोपराइटर, केयर इनवैलिड्स

9. कपिल पलवार, डायरेक्टर, डीएसएम सोल प्राइवेट लिमिटेड, आगरा


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.