Snowfall at Mata Vaishno Devi प्रसिद्ध वैष्णो देवी मंदिर जो की त्रिकुटा पहाड़ियों के बीच स्थित है में मौसम की पहली बर्फबारी हुई है। मध्यम से भारी बर्फबारी के चलते मां का भवन सफेद बर्फ की चादर से ढका प्रतीत हो रहा है। शुक्रवार को लगातार दूसरे दिन जम्मू और कश्मीर और लद्दाख के कुछ हिस्सों में बर्फबारी व बारिश हुई जिससे कि जनजीवन प्रभावित हुआ है।


जम्मू/श्रीनगर (पीटीआई)। बर्फबारी के चलते कई जगहों पर पांच इंच से लेकर तीन फीट तक बर्फ जमा हो गई है। जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग के दूसरे दिन बंद होने के बाद और सातवें दिन श्रीनगर हवाई अड्डे के लिए सभी उड़ानों के रद्द होने से कश्मीर का संपर्क देश के बाकी हिस्सों से कट गया हे। शनिवार से सुधरेगा मौसम 'जैसा कि जम्मू कश्मीर और लद्दाख के अधिकांश हिस्सों में व्यापक मध्यम से भारी बर्फबारी की उम्मीद थी, और अभी भी जारी है। वर्तमान स्थिति अगले 12 से 24 घंटों के लिए बनी रहने की संभावना है। निदेशक, मौसम विभाग, सोनम लोटस ने कहा कि कश्‍मीर में मौसम व दृश्‍यता में शनिवार से महत्वपूर्ण सुधार होने की उम्‍मीद है। हालांकि 20-21 दिसंबर को फिर से मौसम बिगड़ सकता है। मौसम की पहली बर्फबारी
अधिकारियों ने कहा कि जम्मू क्षेत्र के रियासी जिले में जहां वैष्णो देवी मंदिर स्थित है, मौसम की पहली बर्फबारी देखी गई जिसके चलते हेलीकॉप्टर सेवा को निलंबित करना पड़ा। हालांकि, तीर्थयात्रियों ने माता के भवन तक पैदल यात्रा जारी रखी। भवन के अलावा, बहिरोन घाटी, सांझीछत और हिमकोटि और नागपुरी मार्ग समेत इस क्षेत्र में आज दोपहर तक लगभग एक फीट बर्फ जमी रही। जम्‍मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग बंद &


गुरुवार को भारी बारिश के बाद, श्रीनगर के निवासियों की नींद चारों ओर बिखरी बर्फ की चादर तले खुली, शुक्रवार दोपहर तक करीब पांच इंच बर्फ गिरी। बर्फबारी ने 270 किलोमीटर लंबे जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग को बंद करने के लिए लगातार दूसरे दिन शुक्रवार को भी मजबूर कर दिया। चारों ओर से भारी बर्फबारी के बाद गुरुवार शाम राजमार्ग को यातायात के लिए बंद कर दिया गया था, अधिकारियों ने कहा कि जवाहर सुरंग, कश्मीर घाटी का प्रवेश द्वार है कश्मीर की ओर सुरंग में जमीन पर तीन फीट बर्फ जमा हो गई थी शुक्रवार दोपहर तक बर्फबारी हो रही थी। उन्होंने कहा कि यातायात के लिए राजमार्ग को साफ करने के प्रयास जारी हैं, लेकिन लगातार भारी बर्फबारी से बाधा आ रही है।पहाड़ी रिजॉर्ट पटनीटॉप में बर्फबारी &

घाटी में हवाई यातायात लगातार सातवें दिन निलंबित रहा भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण के अधिकारी ने कहा कि भारी बर्फबारी के कारण दृश्यता खराब होने के चलते पिछले छह दिनों से परिचालन रद्द करना पड़ा।& जम्मू के ऊंचाई वाले क्षेत्रों से भारी बर्फबारी की खबरें भी मिलीं रामबन, उधमपुर, भद्रवाह, डोडा, किश्तवाड़, पुंछ, राजौरी सहित क्षेत्र रियासी और कठुआ जिले। प्रसिद्ध पहाड़ी रिसॉर्ट पटनीटॉप में भी ढाई इंच बर्फ दर्ज की गई, जो कि सर्दियों के दौरान जम्मू आने वाले पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र है।लद्दाख में पारा शून्‍य से नीचे &लद्दाख में लेह न्यूनतम तापमान शून्य से 10.4 डिग्री सेल्सियस कम के साथ सबसे ठंडा स्थान रहा, इसके बाद कारगिल जिले में द्रास शून्य से 6.6 डिग्री सेल्सियस नीचे है। 434 किलोमीटर श्रीनगर-लेह के साथ ज़ोजिला सहित कारगिल के ऊंचाई वाले क्षेत्र में भारी बर्फबारी दर्ज की गई।

Posted By: Satyendra Kumar Singh