कैंट में 167 करोड़ से बनेगा एसटीपी

2019-11-14T05:45:08Z

कैंट बोर्ड की बैठक में आबूलेन को फ्री होल्ड करने का प्रस्ताव

दिसंबर तक गेल गैस को मिल सकती है हरी झंडी

औघड़नाथ मंदिर मार्ग पर कैंट विधायक ने जताई असहमति

Meerut। कैंट बोर्ड में लंबे समय से चली आ रही सीवरेज और मोबाइल टॉवर की समस्या अब धीरे-धीरे खत्म होती नजर आ रही है। पिछली बोर्ड बैठक में मोबाइल टॉवर लगाने का रास्ता साफ हो गया था, जिसमें से कुछ मोबाइल टॉवर को गलत जगह लगाने पर बोर्ड सदस्यों ने आपत्ति जताई थी। इस बैठक में इस आपत्ति के निस्तारण के साथ साथ दूसरी सबसे बड़ी समस्या सीवरेज के लिए भी 167 करोड़ की योजना को हरी झंडी मिल गई।

मुद्दों पर चर्चा

बुधवार को आयोजित मासिक बोर्ड बैठक में कई प्रमुख मुद्दों समेत स्वच्छता सर्वेक्षण, वाहन प्रवेश शुल्क, फ्री होल्ड प्रस्ताव, जर्जर भवनों की रिपेयरिंग, कैंट बोर्ड की आय बढाने आदि विषय पर चर्चा की गई। बैठक की शुरुआत बोर्ड में जुडे नए सदस्यों ने शपथ ग्रहण की, जिसमें ब्रिगेडियर जीएस नेगी, एडीएम एके तिवारी, एडम कमांडेंट कर्नल संदीप को बोर्ड अध्यक्ष ने शपथ दिलवाई।

नहीं होगा जलभराव

बोर्ड बैठक में कैंट क्षेत्र को जलभराव की समस्या से निजात दिलाने के लिए सबसे प्रमुख योजना सीवरेज के दूसरे चरण के लिए 167 करोड़ रुपये का प्रस्ताव पास करके मध्य कमान को प्रेषित करने पर सहमति बनी। इस योजना के तहत पहले चरण का काम कैंट के कुछ क्षेत्रों में शुरु हो चुका है, जो लगभग 42 प्रतिशत कार्य भी किया जा चुका है। अगले चरण के लिए शहर के चार प्रमुख बाजारों में एसटीपी प्लांट बनाया जाएगा। इसमें आरए बाजार, तोपखाना, डीआई बाजार, लालकुर्ती, डीसी बाजार, रजबन और सदर बाजार में जगह निर्धारित की गई है।

बदली जाएगी जगह

पिछली बोर्ड बैठक में मोबाइल टॉवर को बिना अनुबंध सैन्य क्षेत्र में लगाने पर आपत्ति जताई गई थी। इस पर बोर्ड सदस्यों की मांग पर कैंट बोर्ड और मोबाइल टॉवर लगाने वाले कंपनी के बीच एग्रीमेंट की प्रक्रिया को जल्द पूरा करने का आदेश दिया गया। साथ ही साथ मोबाइल टॉवर के लिए बनाई गई कमेटी के अध्यक्ष अनिल जैन ने कमेटी की रिपोर्ट बोर्ड को सौंप दी। जिसमे गलत जगह लगे टॉवर को दोबारा सही जगह लगाने और इन टॉवरों के कारण खराब हुई सैन्य भूमि की जगह को व्यवस्थित करने के लिए डैमेज चार्ज वसूल करने के लिए इंजीनियरिंग सेक्शन को जिम्मेदारी दी गई।

आबूलेन होगा फ्री होल्ड

बोर्ड बैठक में सदस्यों द्वारा सदर बाजार और आबूलेन को फ्री होल्ड करने के मुददे पर चर्चा की गई। बैठक में सदस्य मंजू गोयल ने सदर बाजार और पूर्व उपाध्यक्ष बीना वाधवा द्वारा आबूलेन जैसे व्यवसायिक क्षेत्रों से आए फ्री होल्ड के प्रस्तावों को स्वीकार करने की मांग की गई। सदस्यों ने कहा कि इस बाजारों को फ्री होल्ड करने पर कैंट बोर्ड की आय में वृद्धि होगी।

विधायक की असहमति

बोर्ड बैठक में शामिल हुए कैंट विधायक सत्य प्रकाश अग्रवाल ने हनुमान चौक से भूसा मंडी वाली रोड ओर हनुमान चौक से सेना अस्पताल वाली रोड के लैंड क्लास को बदलने के प्रस्ताव पर असहमति जता दी। उन्होंन कहा कि इस कारण औघड़नाथ मंदिर की सड़क सेना कभी भी बंद कर सकती है जिससे जनता को मंदिर आने-जाने में परेशानी होगी। बोर्ड बैठक में अध्यक्ष ब्रिगेडियर अनमोल सूद, उपाध्यक्ष विपिन सोढ़ी, सीईओ प्रसाद चव्हाण, ब्रिगेडियर जी एस नेगी, एडम कमांडेंट संदीप, जीई साऊथ एन ए मैतेई समेत बोर्ड सदस्य मौजूद रहे।

Posted By: Inextlive

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.