इनकी हड़ताल पब्लिक हुई बेहाल

2019-02-07T06:02:03Z

-पुरानी पेंशन बहाली को लेकर शिक्षकों व कर्मचारियों ने भरी हुंकार

-स्ट्राइक से कई दफ्तरों में कुछ देर कामकाज न होने से लोग हुए परेशान

VARANASI

पुरानी पेंशन बहाली को लेकर बुधवार को पहले दिन की हड़ताल का बहुत खास असर नहीं दिखा। हालांकि हड़ताल के चलते कई दफ्तरों में कुछ देर के लिए काम प्रभावित हुआ जिससे पब्लिक को परेशानी हुई। प्रदेश के नेतृत्व के आह्वान पर बड़ी संख्या में कर्मचारी, शिक्षक, अधिकारियों ने पीडल्ब्यूडी दफ्तर पर धरना दिया। उन्होंने एलान किया कि पुरानी पेंशन बहाली के लिए वह आखरी सांस तक लड़ेंगे।

कर्मचारी-शिक्षक-अधिकारी पुरानी पेंशन बहाली मंच उत्तर प्रदेश के आह्वान पर हजारों की संख्या में राज्य कर्मचारी, अध्यापक, अधिकारी नदेसर स्थित लोक निर्माण विभाग पर आयोजित सभा में शामिल हुए। वक्ताओं ने केंद्र व राज्य सरकार को चेताया कि यदि पुरानी पेंशन व्यवस्था जल्द बहाल नहीं की गई तो भयावह परिणाम होंगे। अंतिम सांस तक इसकी लड़ाई लड़ी जाएगी। वक्ताओं ने कहा कि नई पेंशन योजना कर्मचारी-शिक्षकों के लिए हितकर नहीं है। उन्होंने बताया कि हड़ताल के दूसरे दिन चेतगंज स्थित व्यापार कर विभाग में दोपहर 12 बजे सभा होगी, जिसमें कर्मचारी, शिक्षक, अधिकारी शामिल होंगे। अध्यक्षता संतोष कुमार सिंह और संचालन जिला संयोजक शशिकांत श्रीवास्तव ने किया। धरने में शशांक शेखर पांडेय, श्याम राज यादव, चन्द्रजीत यादव, महिमा द्विवेदी, दिवाकर द्विवेदी, दीपेंद्र श्रीवास्तव, बीएन चौबे, परशुराम यादव, संजीव राय, आरसी श्रीवास्तव, मनोज यादव, प्रणव राय, राजीव पांडेय, सुबोध श्रीवास्तव, सुभाष सिंह, कैलाशनाथ यादव आदि मौजूद थे।

इनमें कामकाज हुआ प्रभावित

हड़ताल में प्राथमिक शिक्षक, माध्यमिक शिक्षक, उच्च शिक्षा शिक्षक, जूनियर हाई स्कूल शिक्षक, सिंचाई, कोषागार, शिक्षा, श्रम, चकबंदी, राजस्व, संभागीय परिवहन, राजस्व, जलकल, आबकारी, सेवायोजन, पशुधन प्रसार अधिकारी, बाट-माप, लोक निर्माण, सूचना, व्यापार कर के कर्मचारियों की उपस्थिति रही। इसके चलते इन दफ्तरों में थोड़ी देर के लिए कामकाज प्रभावित हुआ और आमजन को दिक्कतें हुई।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.