गुरदासपुर आतंकी हमला आतंकियों में हो सकती है एक महिला अब तक नौ लोगों की मौत एक आतंकी ढेर

2015-07-27T12:32:18Z

आतंकी पंजाब के गुरदासपुर में जम्मू जा रही यात्री बस पर हमला बोलने के बाद अब दीनानगर पुलिस थाने में घुस चुके हैं। सूत्रों से मिली जानकारी पर गौर करें तो हमलवारों ने थाने में मौजूद सभी पुलिसवालों समेत दो कैदियों को मौत के घाट उतार दिया है। वहीं अब तक मरने वालों की संख्‍या नौ हो चुकी है। थाने में मौजूद इन आतंकियों की संख्या करीब 15 बताई जा रही है। इनमें से एक महिला आतंकी के होने का भी शक है। कमांडो के साथ मुठभेड़ में एक आतंकी को ढेर कर दिया गया है। अभी भी मुठभेड़ फ‍िलहाल जारी है। उधर पीएम नरेंद्र मोदी ने संसद में रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर अरुण जेटली और वैंकेया नायडु के साथ हाई लेवल मीटिंग की है।

गोलीबारी जारी
बड़ी बात ये है कि ये सभी आतंकी सेना की वर्दी में हैं। मौका-ए-वारदात पर गोलीबारी अभी जारी है। सेना ने मौके पर पहुंचकर मोर्चा संभाल लिया है। बताया जा रहा है कि आतंकियों ने एक पुलिसवाले के परिवार को भी बंधक बना लिया है। अभी फिलहाल गोलीबारी जारी है। गृह मंत्रालय की ओर से आतंकी हमले की पुष्टि कर दी गई है।
NSG और SWAT भी पहुंचे
इस पूरे हमले में अब तक छह अन्य लोगों की भी मौत हो चुकी है। हमले के मद्देनजर गृह मंत्रालय ने देशभर में हाईअलर्ट जारी कर दिया है। पंजाब NSG और SWAT की टीम को भी हमला स्थल के लिए रवाना कर दिया गया है। अभी भी दीनापुर पुलिस थाने में हमलावरों और सेना-पुलिस के बीच फायरिंग लगातर जारी है।  
हथियार वाले कमरे में घुसे आतंकी
घटना को लेकर ऐसा माना जा रहा है कि थाने के अंदर 30 से 40 पुलिसकर्मी मौजूद थे। थाने में आतंकी इस समय उस कमरे में घुस गए हैं, जिसमें पुलिस के हथियारों को रखा गया था। ये आतंकी उन्हीं हथियारों का इस्तेमाल कर रहे हैं। आतंकियों ने घटना में जिस मारूति का इस्तेमाल किया। उसको बरामद कर लिया गया है। इस कार को आतंकियों ने कुछ लोगों से छीन लिया था। सीमा पर भी सेना को घुसपैठ के मद्देनजर अलर्ट कर दिया गया है।
मिले संदिग्ध बम भी
इसके साथ ही तीसरी वारदात में अमृतसर-पठानकोट रेलवे लाइन पर चार संदिग्ध बमों के मिलने की भी पुष्टि हुई है। इन बमों के मिलने से इस बात की आशंका जताई जा रही है कि आतंकी एक साथ कई वारदातों को अंजाम देते हुए बम धमाकों से भी देश को हिलाना चाहते थे। उनके मंसूबे ऐसी कई बड़ी घटनाओं को अंजाम देने के थे।

Hindi News from India News Desk

 


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.