जमशेदपुर स्वाइन फ्लू के अटैक को लेकर जिले में अलर्ट

2019-02-10T11:34:59Z

JAMSHEDPUR: जिले में स्वाइन फ्लू (एच1एन1) के अटैक को लेकर पूर्वी सिंहभूम जिले में अलर्ट जारी किया गया है। जिला सर्विलांस विभाग ने महात्मा गांधी मेमोरियल (एमजीएम) मेडिकल कॉलेज अस्पताल, टाटा मोटर्स अस्पताल, टाटा मुख्य अस्पताल, टिनप्लेट अस्पताल, रेलवे अस्पताल, मर्सी, ब्रह्मानंद, मेडिका सहित सभी निजी व सरकारी अस्पतालों को पत्र लिखकर विशेष दिशा-निर्देश जारी किया गया है। विभाग ने कारण ने बताया कि गुजरात, राजस्थान, हरियाणा, पंजाब, दिल्ली व जम्मू कश्मीर में अब तक स्वाइन फ्लू के 4571 के मामले सामने आए है। जिनमें से 169 मरीजों की मौत इस वायरस की वजह से हो चुकी है। जिसको देखते हुए स्वास्थ्य निदेशालय से पूरे प्रदेश में अलर्ट जारी किया गया है।

तुरंत दें सूचना
विभागीय अधिकारियों ने बताया कि वायरस से बचने के लिए जिले के सभी चिकित्सा पदाधिकारी व स्वास्थ्य कर्मचारियों को अलर्ट रहना होगा। उन्होंने कहा कि वायरस से पीडि़त मरीज की सूचना तुरंत जिला सर्विलांस विभाग को दी जाए जिससे मरीज को समय से इलाज मुहैया कराया जा सके। विभाग ने आदेश दिया है कि डॉक्टर व स्वास्थ्य कर्मचारी मास्क लगाकर काम करेंगे। जिन राज्यों में स्वाइन फ्लू फैला हुआ है उन सारे प्रदेशों से रोजाना जमशेदपुर लोग आते-जाते रहते है ऐसे में यह वायरस शहर में भी फैल सकता है। यह वायरस सांस के रास्ते शहर में प्रवेश कर जाता है।

तो हो जाएं सावधान
स्वाइन फ्लू का एच1एन1 वायरस पहले नाक, गले व फेफड़े को प्रभावित करता है। जुकाम, खांसी नाक से पानी आना व बार-बार छींक आने की समस्या होती है। बुखार, गले में दर्द, सिर में दर्द, पेट में दर्द तथा उल्टी व थकान महसूस होती है।

तुरंत इलाज जरूरी
स्वाइन फ्लू के एच1एन1 वायरस से संक्रमित होने के बाद दो से चार दिन में बीमारी के लक्षण दिखने लगते हैं। इसलिए तुरंत इलाज कराना चाहिए। स्वाइन फ्लू से पीडि़त मरीज के छींकने व खांसी के चलते वायरस हवा में फैलता है। एक पीडि़त व्यक्ति 20 लोगों को संक्रमित करता है। इसलिए नाक व मुंह पर मास्क या कपड़ा बांध कर रखें।

हो सकता है जानलेवा
मधुमेह, कैंसर, हृदय व लीवर की बीमारियों से पीडि़त लोगों के लिए स्वाइन फ्लू जानलेवा हो सकता है। इसलिए इन बीमारियों से पीडि़त लोगों को सावधान रहना चाहिए।

वैसे तो स्वाइन फ्लू की चपेट में कोई भी व्यक्ति आ सकता है। लेकिन बुजुर्गो व गर्भवती महिलाओं को विशेष सजग रहना चाहिए। इसके अलावा छोटे बच्चों का विशेष ध्यान रखा जाना चाहिए। जिले के सभी लोगों को अलर्ट रहने की जरूरत है। जिससे शहर को कोई भी नागरिक इसकी चपेट में न आए। लोगों से भी अपील है कि कृपया मास्क का प्रयोग करें।

- डॉ। साहिर पॉल, जिला सर्विलांस पदाधिकारी


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.