तमिलनाडु में 30 जून तक बढ़ा लाॅकडाउन, राज्य में कोरोना मरीजों की संख्या हुई 21184

जहां केंद्र सरकार एक ओर पांचवें चरण के लाॅकडाउन में धीरे- धीरे चीजें खोलने की सोच रही है। वहीं तमिलनाडु में राज्य सरकार ने 30 जून तक लाॅकडाउन बढ़ा दिया।

Updated Date: Sun, 31 May 2020 10:16 PM (IST)

चेन्नई (पीटीआई)। तमिलनाडु सरकार ने रविवार को लाॅकडाउन बढ़ाने की घोषणा की है। तमिलनाडु सरकार ने रविवार को 30 जून तक लाॅकडाउन रहेगा। इसमें और अधिक ढील दी गई है जिसमें सार्वजनिक परिवहन को आंशिक रूप से खोलना और वर्क प्लेस पर अधिक कर्मचारियों को शामिल करने की बात है। मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने कहा कि धार्मिक स्थलों, एक राज्य से दूसरे राज्य के लिए बस परिवहन और मेट्रो व उपनगरीय रेल पर अंकुश जारी रहेगा।

तमिलनाडु में 30 जून तक बढ़ा लाॅकडाउन

1 जून से कम सेवाओं के साथ सार्वजनिक परिवहन फिर से शुरू होगा लेकिन राज्य में कोरोना वायरस के मामलों में सबसे अधिक कोरोना मरीजों वाले चेन्नई, कांचीपुरम, तिरुवल्लूर और चेंगलपेट जिलों में बसों का संचालन नहीं किया जाएगा। पलानीस्वामी ने कहा कि निजी मार्गों को अधिकृत मार्गों में संचालित करने की अनुमति होगी। उन्होंने एक बयान में कहा, 'कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए राज्य आपदा प्रबंधन अधिनियम और केंद्रीय गृह मंत्रालय की अधिसूचना के तहत कर्फ्यू को 30 जून तक बढ़ाया जा रहा है।'

माॅल बंद रहेंगे पर कुछ चीजें खोली जाएंगी

तमिलनाडु कोरोनो वायरस महामारी से बुरी तरह प्रभावित राज्यों में से है। शनिवार को यहां 938 नए कोरोना वायरस मामले सामने आए हैं। इस वजह से संक्रमितों की गिनती 21184 तक पहुंच गई। केंद्र ने शनिवार को अनलॉक 1 की घोषणा की थी जिसमें धार्मिक पूजा और रेस्तरां के स्थानों को फिर से खोलने की अनुमति दी गई थी। राज्य सरकार ने रविवार को कई अन्य राहतों की भी घोषणा की है जिसमें कंट्रीब्यूशन जोन को शामिल किया गया है और इनमें कार्यस्थल पर अधिक कर्मचारियों को अनुमति देना और शोरूम व ज्वैलरी की दुकानों को फिर से खोलने की अनुमति देना शामिल है।मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में माॅल बंद रहेंगे।

Posted By: Vandana Sharma
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.